लालू बोले- वह मुझको मुर्दा समझ रहा है, उसे कहो मैं मरा नहीं हूं

by

Ranchi: चारा घोटाले में सजायाफ्ता आरजेडी प्रमुख Lalu Prasad Yadav के एक ट्वीट ने राजनीति में हलचल बढ़ा दी है. इस ट्वीट में लालू ने किसी का नाम नहीं लिया है, लेकिन इसे राजनीतिक प्रतिवार के तौर पर देखा जा रहा है.

लालू ने यह ट्वीट शायरना अंदाज में लिखा है, ‘अभी गनीमत है सब्र मेरा, अभी लबालब भरा नहीं हूं, वह मुझको मुर्दा  समझ रहा है, उसे कहो मैं मरा नहीं हूं.’

गौरतलब है कि लालू ट्वीट के जरिए विरोधियों पर पहले भी निशाना साधते रहे हैं, लेकिन ताजा ट्वीट के मायने निकाले जा रहे हैं.

इससे पहले साल 2017 के दिसंबर महीने में लालू को जब सजा सुनाई गई थी, तो उन्होंने बिहार के लोगों के नाम एक खत लिखा था. वह खत बेहद सुर्खियों में रहा और राजद के समर्थकों के बीच जमकर उसे बांटा भी गया.

चारा घोटाले मे सजा काट रहे लालू प्रसाद अभी झारखंडी की राजधानी रांची स्थित राजेंद्र आर्युविज्ञान संस्थान में भर्ती हैं. दरअसल वे कई बीमारियों की चपेट में हैं. और जेल जाने के बाद से ही उनका इलाज जारी है.

पिछले दस जनवरी को झारखंड हाइकोर्ट ने लालू की जमानत याचिका खारिज कर दी थी.

इस बीच लोकसभा चुनाव को लेकर लालू विपक्षी दलों के बीच धुरी बनकर उभरने लगे हैं. पिछले कुछ दिनों में विपक्षी दलों के अलग- अलग नेताओं के अलावा आरजेडी तथा महागठबंधन में शामिल नेताओं का उनसे मिलने का सिलसिला जारी है.

हाल ही में माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी, भाकपा के सांसद डी राजा, बीजेपी से बगावत कर रहे सांसद शत्रुघ्न सिन्हा, महागठबंधन में शामिल हुए आरएलएसपी प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा, कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ शकील अहमद, सुबोधकांत सहाय, जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के अलावा लालू प्रसाद के पुत्र और आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव लालू से अस्पताल में मिल चुके हैं.

बिहार में महागठबंधन का क्या स्वरूप होगा और किसके हिस्से कौन सी सीटें जाएंगी, इस पेच को सुलझाने में भी लालू की भूमिका महत्वपूर्ण हो गई है. इनके अलावा राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में भी बीजेपी के खिलाफ विपक्षी दलों के समीकरणों पर लालू की नजर लगी है.

इधर झारखंड और बिहार में आरजेडी के नेता,कार्यकर्ता चुनाव से पहले लालू संदेश यात्रा निकालने की तैयारी में जुटे हैं. एक फरवरी से यह यात्रा झारखंड में गढ़वा से शुरू होगी.

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.