Kisan Credit Card का लोन 31 अगस्‍त तक नहीं चुकाया तो देना होगा ज्‍यादा ब्‍याज

Kisan Credit Card के जरिए लोन लेने वाले करोड़ों किसानों को यदि 3 प्रतिशत ब्याज की छूट का लाभ उठाना हो तो उन्हें लोन की रकम 31 अगस्त के पहले लौटानी होगी. आमतौर पर Kisan Credit Card (KCC) पर लिए गए लोन को 31 मार्च तक लौटाना होता है लेकिन इस बार लॉकडाउन की वजह से सरकार ने इस डेडलाइन को बढ़ाकर 31 मई कर दिया था. सरकार ने इसके बाद लोन चुकाने की डेडलाइन को दूसरी बार बढ़ाकर 31 अगस्त किया है.

जिन भी किसानों ने KCC के जरिए लोन लिया हुआ है यदि वे उस रकम को 31 अगस्त तक लौटा देंगे तो उन्हें मात्र 4 प्रतिशत ब्याज ही लगेगा. इस तारीख के बाद लोन चुकाने वाले किसानों को 7 प्रतिशत ब्याज चुकाना होगा. मोदी सरकार ने कोरोना लॉकडाउन की वजह से किसानों को राहत देने का फैसला कैबिनेट की बैठक में लिया था.

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा था कि कोरोना लॉकडाउन के मद्देनजर किसानों की परेशानियों को देखते हुए सरकार ने यह फैसला किया. पहले ऐसा लगा था कि 31 मई के बाद स्थितियां सामान्य हो जाएंगी लेकिन इसके बाद भी हो रही परेशानी को देखते हुए डेडलाइन को 31 अगस्त किया गया.

Kisan Credit Card पर इस वजह से कम ब्याज दर

किसानों को कृषि कार्य के लिए 9 प्रतिशत ब्याज पर रकम मिलती है, लेकिन सरकार तीन लाख रुपए तक के अल्पावधि लोन के लिए 2 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान करती है. इस वजह से किसानों को यह लोन 7 प्रतिशत ब्याज दर पर मिलता है. इसमें भी किसानों को फायदा यह है कि यदि उन्होंने समय पर लोन चुकाया तो उन्हें 3 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट प्रदान की जाती है. इस तरह समय पर लोन चुकाने वाले किसानों को मात्र 4 प्रतिशत ब्याज दर लगती है. सामान्य परिस्थितियों में यह रकम चुकाने की डेडलाइन 31 मार्च होती है. इसके बाद लोन चुकाने पर 7 प्रतिशत ब्याज देना होता है.

इस स्कीम का लाभ उठाने के लिए अधिकांश किसान 31 मार्च तक पैसा वापस करते हैं. इस तरह उन्हें 3 प्रतिशत ब्याज दर का अतिरिक्त फायदा होता है और वे इसके कुछ दिनों बाद वापस लोन ले लेते है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.