खतियानी झारखंडी पार्टी: कांग्रेस-जेएमएम छोड़ने के बाद पूर्व विधायक गीताश्री उरांव और अमित महतो ने बनाई नई पार्टी

by

Ranchi: बीते कुछ महीनों से भाषा और 1932 खतियान का आंदोलन चरम पर रहा. अब इस नाम से नई पॉलिटिकल पार्टी तैयार किया गया है, जिसका नाम है- खतियानी झारखंडी पार्टी. जेएमएम के पूर्व विधायक अमित महतो और कांग्रेस की पूर्व विधायक गीताश्री उरांव ने मिलकर खतियानी झारखंडी पार्टी का गठन किया है. झारखंड में एक नई पार्टी का गठन हुआ. पूर्व विधायक अमित महतो और पूर्व विधायक गीताश्री उरांव ने खतियानी झारखंडी पार्टी का गठन किया है.

ख‍तियानी झारखंडी पार्टी का उद्देश्‍य

पूर्व विधायक अमित महतो ने कहा कि झारखंड के जल, जंगल और जमीन को बचाने के लिए इस पार्टी का गठन किया गया है. उन्‍होंने कहा कि झारखंड खतियान पार्टी बनाने का मुख्य उद्देश्य जल, जंगल और जमीन को बचाना है. हमारे अधिकार तभी बचेंगे जब जल, जंगल और जमीन बचेगा. खतियान आधारित स्थानीय नीति के तहत यहां के युवाओं को रोजगार मिलेगा.

अमित महतो ने कहा कि 1932 के खतियान के आधार पर स्थानीय नीति झारखंड में 22 साल तक सिर्फ चुनावी मुद्दा बनी रही है. पार्टियां और जनप्रतिनिधि इसे मुद्दा बनाकर सत्ता में आते जरूर हैं, लेकिन फिर झारखंडियों-मूलवासियों से किए वादे भूल जाते हैं. वहीं सत्ता से बेदखल होते ही फिर 1932 के खतियान पर स्थानीय नीति बनाने की वकालत शुरू कर देते हैं. शुद्ध रूप से इसे राजनीतिक दलों का दोहरापन ही कहा जा सकता है.

पूर्व विधायक अमित महतो ने कहा कि 21 वर्ष बाद भी यहां के लोगों को पहचान नहीं मिली है. यह पहले ही मिल जानी चाहिए थी. राज्य में जल्द से जल्द खतियानी आधार पर स्थानीय नीति बने और यहां के लोगों को उनका हक और अधिकार मिल सके. झारखंडियों के हक-अधिकार के लिए नीति बनाने की जरूरत है. इसलिए झारखंडी सड़क पर उतर कर आंदोलन कर रहे हैं.

पूर्व विधायक गीताश्री उरांव ने कहा कि खतियान ही झारखंडियों की पहचान है. खतियान के आधार पर स्थानीय नीति बननी चाहिए. खतियानी आधार पर नीति नहीं बनने से यहां के लोगों को हक नहीं मिल रहा है. इसलिए झारखंडी सड़क पर उतर कर अपना हक मांगने में लगे हुए हैं. JMM के कुछ नेता पार्टी के ढुलमुल रवैये पर नाराजगी जाहिर करते हुए अलग राह पकड़ चुके. विधायक लोबिन हेंब्रम घोषणा कर चुके हैं कि वह 5 अप्रैल से सत्तू-चना लेकर घर से निकल जाएंगे और तभी लौटेंगे जब 1932 के खतियान के अनुसार स्थानीय नीति लागू हो जाएगी.

खतियानी झारखंडी पार्टी का स्‍वरूप

पूर्व विधायक गीताश्री उरांव और अमित महतो ने खतियानी झारखंडी पार्टी का गठन किया है. लेकिन अभी तक यह तय नहीं हुआ है कि संगठन को लीड कौन करेगा. गीताश्री उरांव ने कहा कि पार्टी से कई सूर्य सिंह बेसरा जैसे कई पुराने दिग्‍गज नेता जुड़ेंगे. लेकिन उन्‍होंने यह नहीं बतया कि 1932 खतियान आंदोलन को एक बार फिर जिन्‍दा करने वाले तीर्थनाथ आकाश, विकास महतो, जयराम महतो जैसे नए नेताओं को क्‍यों नहीं पूछा गया है. इसका स्‍पष्‍ट जवाब उन्‍होंने नहीं दिया है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.