JPSC Mains Exam का सोशल मीडिया पर बहिष्‍कार, स्‍टूडेंट्स बोले- भरोसा नहीं भ्रष्‍ट ‘जेपीएससी’ पर 

by

Ranchi: फेसबुक पर कई JPSC Students ने सार्वजनिक तौर से अपने रौल नंबर के साथ 6th JPSC civil Exams का बहिष्‍कार करना शुरू कर दिया है. अशोक भगत नाम के एक स्‍टूडेंट ने अपने फेसबुक पोस्‍ट पर लिखा है कि मैंने परीक्षा का बहिष्‍कार करने का फैसला लिया है. उन्‍होंने अपना रौल नंबर 68053376 बताया है.

अशोक भगत आईआईटी रुड़की से इंजीनियरिंग की है और 5 बार यूपीएससी की परीक्षा पास कर इंटरव्‍यू भी दिया है. अशोक ने जेपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा मे 252 नंबर लाये हैं, इनका चयन आयोग द्वारा जारी पहली ही लिस्ट मे किया गया है. पहले परिणाम का कट ऑफ 206 गया था. उन्‍होंने फेसबुक पोस्‍ट पर मुंझे बिल्‍कूल भरोसा नहीं है कि जेपीएससी चयन प्रक्रिया इमानदारी से कर रहा है.

आशोक के इस पोस्‍ट पर कई लोगों ने कमेंट किया है और समर्थन किया है और जेपीएससी परीक्षा का बहिष्‍कार करने की बात लिखी है. वहीं कुछ लोगों ने जेपीएससी परीक्षा केंद्र जाकर विरोध प्रदर्शन करने की भी बात कर रहे हैं.

facebook.jpeg

छात्रों के डर की वजह पारदर्शिता का अभाव

बड़ा सवाल यह है कि स्‍कूडेंट्स को जेपीएससी परीक्षा का बहिष्‍कार करने की नौबत क्‍यों आयी. इन छात्रों के डर की वजह परीक्षा देने वाले स्‍टूडेंट्स की संख्या ज्‍यादा होना हरगिज नहीं है. बल्कि, झारखंड लोक सेवा आयोग की लचर व्यवस्था और पारदर्शिता का अभाव है.

स्‍टूडेंट्स का कहना है कि कोई भी स्‍टूडेंट साल भर किसी एक स्टेट की परीक्षा में नहीं लगा रहता है. वह दूसरी परीक्षा की भी तैयारी में जुटा रहता है. छात्र कहते हैं कि परीक्षा की तैयारी महज 3 महीने पहले ही की जाती है. वहीं झारखंड लोक सेवा आयोग द्वारा सिर्फ 10 दिन पहले परीक्षा की तिथि की अधिसूचना निकाली जाती है. इस अधिसूचना से पहले आयोग ने संभावित तिथि की घोषणा की थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.