JPSC Cut-Off Marks: जेपीएससी ने जारी किया पीटी का कट ऑफ मार्क

by

Ranchi: झारखंड लोक सेवा आयोग (Jharkhand Public Service Commission) ने सातवीं सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा(Civil Services Preliminary Exam) का कट ऑफ मार्क्‍स जारी कर दिया गया है. जेपीएससी पीटी परीक्षा  पर उठ रहे सवाल का जवाब देते हुए गुरुवार को इसका कट आफ मार्क्स(Cut Off Marks) जारी किया गया है. जेपीएससी की ओर से असफल अभ्यर्थियों द्वारा लगाए गए आरोपों को निराधार बताया है.

जेपीएससी ने माना कि कि लोहरदगा और साहिबगंज के एक-एक केंद्रों पर लगातार क्रमांक से अभ्यर्थी पास हुए हैं. लेकिन लातेहार में ऐसी कोई बात नहीं हुई है.

अभ्यर्थियों को उत्तरदायी नहीं ठहराया जा सकता: आयोग

परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी पर लगाए गए आरोप पर जवाब देते हुए आयोग के सचिव ने कहा है कि दो परीक्षा केंद्रों के संबंध में लगातार क्रंमांक से अभ्यर्थियों के प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने की अपरिहार्य स्थिति उत्पन्न हुई है, जिसके लिए अभ्यर्थियों को उत्तरदायी नहीं ठहराया जा सकता. यह भी कहा है कि यह अपरिहार्य परिस्थितियां किसी कदाचार से संबंधित नहीं है.

आयोग ने कहा- जांच के बाद की जाएगी आवश्यक कार्रवाई

आयोग के अनुसार, ऐसे अभ्यर्थियों के हितों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया गया कि उन्हें औपबंधिक रूप से सफल घोषित किया जाए. साथ ही जांच की कार्रवाई जारी रहेगी.

आयोग के अनुसार, ऐसा निर्णय इसलिए आवश्यक था क्योंकि एक छोटी संख्या के मामले को लेकर पूरे परीक्षा परिणाम को रोक कर नहीं रखा जाए. इस संबंध में आयोग द्वारा जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

यह भी कहा गया है कि जेपीएससी संघ लोक सेवा आयोग की प्रक्रिया को अपनाने की मंशा रखता है, जिसके द्वारा कट आफ मार्क्स अंतिम परिणाम जारी किए जाने के समय जारी किया जाता है. फिर भी अभ्यर्थियों को दिग्भ्रमित किए जाने के प्रयासों के कारण आयोग ने पहले ही कट आफ मार्क्स जारी करने का निर्णय लिया है.

मार्क्स शीट(Marksheet) जारी करने से इन्कार

जेपीएससी ने प्रारंभिक परीक्षा में अभ्यर्थियों के मार्क्स शीट जारी करने को अनावश्यक बताते हुए इससे इंकार कर दिया है. आयोग के अनुसार, परीक्षा के समय प्रत्येक अभ्यर्थी को ओएमआर उत्तर पुस्तिका की कार्बन कापी दी जा चुकी है. सभी सफल एवं असफल अभ्यर्थियों के मार्क्स शीट जारी करने का अनुरोध परीक्षा प्रक्रिया की जानकारी के अभाव को दर्शाता है.

सभी श्रेणी में रिक्ति के विरुद्ध 15 गुना अभ्यर्थी हुए हैं पास

आयोग ने कोटिवार परिणाम जारी नहीं करने के अभ्यर्थियों के दावे पर कहा कि यह किसी निहित उद्देश्य से प्रेरित तथा अभ्यर्थियों को दिग्भ्रमित करनेवाला है. आयोग के अनुसार, प्रत्येक श्रेणी में रिक्ति के विरुद्ध 15 गुना अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं. हालांकि, आयोग इस संख्या को जारी करने के लिए बाध्य नहीं है. फिर भी अपवाद के रूप में दिव्यांग श्रेणी की संख्या जारी की जा रही है. इस श्रेणी में कुल सात रिक्तियों के विरुद्ध 107 अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा में सफल हुए हैं, जो 15 गुना से अधिक है.

जारी कट आफ मार्क्स, श्रेणी कट आफ मार्क्स

जेपीएससी ने पीटी का कट आफ मार्क्स जारी किया, जिसमें श्रेणी कट आफ मार्क्स की बात करें तो अनारक्षित-260, एसटी-230, एससी-238, अत्यंत पिछड़ा वर्ग -252, पिछड़ा वर्ग- 252, आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी- 238, आदिम जनजाति 220 रहा हैं.

-खिलाड़ियों का कट आफ मार्क्स

वहीं जब खिलाड़ियों के कट आफ करें तो अनारक्षित -212, एसटी -210, एससी -230, अत्यंत पिछड़ा वर्ग -218, पिछड़ा वर्ग 214 और आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी -210 रह.

-दिव्यांगों का कट आफ मार्क्स

इसे क्रम में देखें:

वदिव्यांग्यता – रिक्तियां – सफल अभ्यर्थी – कट आफ मार्क्स

आटिज्म तथा बहु दिव्यांग्यता 01 16 180

नेत्रहीन 02 30 220

मूक बधिर 02 30 212

शारीरिक दिव्यांग 02 31 246

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.