रांची मेयर का पलटवार- अल्पसंख्यक समुदाय को भाजपा के खिलाफ भड़का रही है जेएमएम

by

Ranchi: मेयर आशा लकड़ा ने जेएमएम द्वारा लगाए गए सारे आरोप बेबुनियाद बताया है. उन्‍होंने प्रेस नोट जारी कर कहा कि सबना खान वार्ड 17 में 1 दिसंबर को लगभग एक करोड़ की योजना का शिलान्यास किया गया और 02 दिसंबर को वार्ड-10 में 14वें वित्त आयोग से आवंटित राशि से लगभग तीन करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास किया गया. साथ ही  वार्ड संख्या 45 में नसीम गद्दी 4 दिसंबर को करोड़ों की योजना का शिलान्यास किया जाना है. यह फंड भारतीय जनता पार्टी के सरकार में आवंटित किया गया था.

रांची की मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी व उनके जनप्रतिनिधि किसी भी जाति, धर्म का पक्षपात नहीं करते हैं. हिंदपीढ़ी क्षेत्र के वार्ड स्थिति पूर्व के वर्षों की तुलना में आज बेहतर है.

उन्‍होंने कहा कि सबसे अधिक अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को ही केंद्र एवं राज्य सरकार का लाभ मिलता रहा है. चाहे वह प्रधानमंत्री आवास योजना हो या रोड, नाली. यदि अन्य जरूरत की चीजें को कोई चैलेंज करता है तो इसका रिकॉर्ड भी निकाल कर दिखाया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें: रांची में कोविड-19 वैक्सीनेशन की तैयारी शुरू, सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों को प्रशासन ने दिए जरूरी निर्देश

नाकामी छिपाने के लिए पार्षदों को भड़का रही है जेएमएम

मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि जेएमएम सोची समझी साजिश के तहत अल्पसंख्यकों को भाजपा विरोधी साबित करना चाहती है. जेएमएम अपनी नाकामी को छिपाने के लिए वार्ड पार्षदों को गुमराह कर प्रेस कॉन्फ्रेंस में सम्मिलित कर रहा है. नगर निगम के सभी वार्ड पार्षद एक परिवार की तरह हैं. जब-जब उन्हें कोई समस्या हुई, उनके साथ मेयर होने के नाते मैं हमेशा उनके साथ रही हूं.

मेयर ने कहा कि वर्तमान सरकार ने 25 करोड़ का फंड आवंटित किया था, जिसमे हाई कोर्ट के निर्देशानुसार लगभग 15 करोड़ की लागत से कार्य किया जाना है. जहां अति आवश्यक है, वैसे स्थानों को चिन्हित कर वहां आवश्यक्तानुसार निर्माण कार्यों में लगाया जा रहा है, न कि किसी के साथ भेदभाव किया जा रहा है.

उन्‍होंने कहा कि जेएमएम ने प्रेस वार्ता में वार्ड 35 का भी जिक्र किया गया है. मैं बताना चाहूंगी कि वार्ड 35 में 15 वे वित्त से प्राप्त 25 करोड़ की राशि से 75,00,000 रुपये की योजना स्वीकृत की गई है. इससे स्पष्ट है कि जेएमएम अल्पसंख्यक समुदाय को भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ खड़ा करना चाहती है. अल्पसंख्यक समुदाय के पार्षदों को भड़काना चाहती है. इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि रही बात जांच की, तो राज्य में जेएमएम-कांग्रेस की सरकार है. राज्य के मुखिया स्वयं नगर विकास विभाग के मंत्री है. वे स्वयं इसका प्रमाण दे सकते हैं.

1 thought on “रांची मेयर का पलटवार- अल्पसंख्यक समुदाय को भाजपा के खिलाफ भड़का रही है जेएमएम”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.