Jharkhand Vidhan Sabha Chunav 2019: भाजपा-आजसू गठबंधन की बढ़ी उलझन, क्‍या है सीट शेयरिंग में पेंच

Ranchi: झारखंड में बीजेपी-आजसू का गठबंधन पुराना है. कुछ महीने पहले लोकसभा चुनाव साथ लड़ा था. चुनाव नतीजे भी बेहतर हुए थे. लेकिन झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 को लेकर बीजेपी-आजसू उलझन में हैं.

इस बीच हरियाणा और महाराष्‍ट्र के विधानसभा चुनाव के नतीजों ने इस गठबंधन को हिला कर रख दिया है. महाराष्‍ट्र में चुनाव पूर्व हुए भाजपा-शिवसेना गठबंधन को सीटों का नुकसान हुआ. वहीं हरियाणा में सरकार बनाने के लिए भाजपा को बाद में जेजेपी के साथ समझौता करना पड़ा.

इधर बीजेपी भले ही झारखंड विधानसभा चुनाव में 65 पार का नारा दे चुकी है. हरियाणा में भी बीजेपी ने 75 पार का नारा दिया था. लेकिन जो नतीजे आए वह सबके सामने है. झारखंड के नजीजे भी कहीं हरियाणा के चुनाव परिणाम जैसे ही न हो जाये, यह यह घबराहट बीजेपी खेमे में है.

Read Also  रांची में डांडिया नाइट की धूम, बाजार में बढ़ी लहंगा की डिमांड 

एनडीए के लिए आजसू बीजेपी का पुराना सहयोगी है. आजसू ने बीजेपी से 26 सीटों की मांग की है. इसकी लिस्‍ट बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्‍व को सौंप दी गई है.

आजसू के हसन अंसारी ने कहा कि गठबंधन हमारी मबजूरी नहीं है. हम पूरी तरह से चुनाव में उतरने के लिए तैयार हैं. जिन सीटों पर हम मजबूत स्थिति में हैं उस पर हमने केंद्रीय नेतृत्व से बात किया है.

उन्‍होंने कहा कि हमने जिन क्षेत्रों में सघन तैयारी कर रखी है. उससे हमने बीजेपी नेतृत्‍व को अवगत कर दिया है.

इधर झारखंड बीजेपी के उपाध्‍यक्ष और सांसद समीर उरांव एनडीए गठबंधन में तमाम परेशानियों का हल बातचीत से निकालने की बात कह रहे हैं.

Read Also  रांची में डांडिया नाइट की धूम, बाजार में बढ़ी लहंगा की डिमांड 

समीर उरांव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि आजसू भी हमारा घटक दल है. उन्‍होंने कहा कि हम कौन पार्टी कहां से चुनाव जीत सकता है, उसके हिसाब से ही सीट बंटवारे की योजना तय करते हुए आगे बढ़ रहे हैं.

समीर उरांव ने कहा कि अगर आजसू हमारा घटक दल है. वह सोचता है कि हमें इतना सीट मिलना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि कौन सा दल का कौन नेता चुनाव जीतेगा, इसी आधार पर हम आगे बढ़ेंगे.

सीटों को लेकर आजसू और बीजेपी के बीच पेंच फंसा हुआ है. एनडीए में अब तक सीट शेयरिंग को लेकर तस्‍वीर साफ नहीं हो सकी है.

लोहरदगा में सुखदेव भगत के शामिल होने से सहयोगी दल आजसू के तेवर तल्ख देखे जा रहे हैं। हालांकि अभी तक यह तय नहीं है कि यह सीट भाजपा के पास रहेगी या आजसू के पास।

Read Also  रांची में डांडिया नाइट की धूम, बाजार में बढ़ी लहंगा की डिमांड 

आजसू की दावेदारी है़: सिल्ली, रामगढ़, जुगसलाई, टुंडी, तमाड़, चंदनकियारी, बड़कागांव, लोहरदगा, मांडू, गोमिया, पाकुड़, पांकी, डुमरी, चक्रधरपुर, सिमरिया, सरायकेला, जरमुंडी, सिंदरी सीटों में चुनाव लड़ने की बात कही गई है.

इसके अलावा कांके, खिजरी, हटिया और ईचागढ़ सीट से भी चुनाव लड़ने का दावा किया गया है.

इन सीटों पर भाजपा के साथ मामला अटका: चंदनकियारी, लोहरदगा, हटिया, मांडू, तमाड़, गोमिया, डुमरी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.