झारखंड में राजद टूटा, गौतम सागर राणा ने बनाई नई पार्टी

by

Ranchi: राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गौतम सागर राणा ने नई पार्टी का गठन किया है. इसका नाम राष्ट्रीय जनता दल (लोकतांत्रिक) रखा गया है. इस पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष गौतम सागर राणा होंगे.

इसके साथ ही गौतम सागर राणा ने दावा किया है कि झारखंड में यही असली पार्टी है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद की अब लोकतांत्रिक व्यवस्था में भरोसा नहीं रह गया है. पुराने लालू और अब के लालू में बहुत अंतर है.

रविवार को राणा के समर्थक झारखंड विधानसभा के सभागार में जुटे थे. यहां सभा कर तीन प्रस्ताव पारित किया गया. इससे पहले सभी नेताओं ने पार्टी से त्याग पत्र दे दिया. इसके बाद नई पार्टी के तौर पर राजद लोकतांत्रिक गठन की घोषणा की गई.

Read Also  झारखंड में अब अपराध से जुड़े सुराग और सबूतों की ऑन द स्‍पॉट होगी जांच

गौतम सागर राणा

बैठक में कैलाश यादव, डॉ मनोज कुमार, रामकुमार यादव, शमीम भारती, आबिद अली, अरविंद यादव, शारदा देवी, कमला देवी समेत कई लोग मौजूद थे.

झारखंड में राजद के टूट का कारण

गौरतलब है कि मार्च महीने में अन्नपूर्णा देवी के शामिल होने के बाद गौतम सागर राणा को प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गी थी. राणा बखूबी इस जिम्मेदारी को संभाल रहे थे. चुनाव में उन्होंने राजद की जीत के लिए पलामू और चतरा में जोर भी लगाया. लेकिन दोनों सीटों पर राजद उम्मीदवारों की करारी हार हुई.

इस बीच युवा राजद के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह और उनके समर्थकों का गौतम सागर राणा से खटपट होने लगा. अभय सिंह ने पार्टी कार्यालय से राणा का बैनर भी हटवा दिया. दोनों गुटों के बीच तकरार की खबर शीर्ष नेतृत्व तक पहुंची.

Read Also  मिसाइल से भी ज्‍यादा खतरनाक इन गांवों के नाम

इधर हाल ही में पार्टी ने अभय कुमार सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बना दिया. इसके बाद राणा ने इस मसले को सुलझाने के लिए 21 जून तक का नेतृत्व को वक्त दिया था. लेकिन नेतृत्व ने इसकी परवाह नहीं की. उसी की प्रतिक्रिया में राणा ने आज राजद में ही नई पार्टी के गठन के तौर पर पलटवार किया.

गौतम सागर राणा ने क्‍या कहा

गौतम सागर राणा ने प्रेस कांफ्रेस करके कहा, ”हमारी पार्टी ही असली है, पर वे लालटेन छाप पर दावा नहीं करेंगे. उनका उनका चुनाव चिह्न अलग होगा. वे इस बारे में जल्द ही चुनाव आयोग को सूचित करेंगे. राजद के अधिकतर पुराने नेता और कार्यकर्ता उनके साथ हैं. हमारी पार्टी नई है, पर सभी नेता पुराने हैं. जुलाई के पहले सप्ताह में कार्यसमिति की बैठक होगी”.

Read Also  झारखंड में अब अपराध से जुड़े सुराग और सबूतों की ऑन द स्‍पॉट होगी जांच

इधर राजद के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने नई पार्टी के गठन पर कहा है कि जिस पार्टी के प्रमुख लालू जी हों, वहां ये नाटक नहीं चलता. राणा के साथ राजद का कोई नेता, कार्यकर्ता नहीं जाने वाले. वे जेबी संगठन चलाते रहें, कोई फर्क नहीं पड़ने वाला.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.