Take a fresh look at your lifestyle.

झारखंड: 63 हजार पारा शिक्षकों की नियुक्ति और योग्‍यता की होगी जांच

0 19

Ranchi: झारखंड के 63000 से शिक्षकों की नियुक्ति और योग्यता की जांच होगी. वेरिफिकेशन में गड़बड़ी के लिए बीईओ और डीएसई जिम्मेवार होंगे. प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों को 10 अक्टूबर तक संबंधित आंकड़े जांचने होंगे. 25 दिसंबर तक इसे पूरा कर स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को भेजने को कहा गया है.

माना जा रहा है कि जिन पारा शिक्षकों की शैक्षणिक योग्यता या चयन की प्रक्रिया सही नहीं होगी उन्हें हटाया जा सकता है. झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद के राज्य परियोजना निदेशक उमाशंकर सिंह ने सभी डीएसई और प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारियों को पत्र भेजा है.

उन्होंने पारा शिक्षकों के चयन, उनकी व्यक्तिगत विवरण, शैक्षणिक योग्यता को जांच कर भेजने का निर्देश दिया है. सिंह ने कहा कि पारा शिक्षकों के चयन प्रक्रिया और उनकी व्यक्तिगत जानकारी को अपडेट करने की जिम्मेवारी प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी की होती है.

कई मामलों में जब संबंधित पारा शिक्षकों की फाइल मांगी जाती है, तो प्रखंड संसाधन केंद्र न तो फाइल देता है और ना ही जानकारी.

वेतनमान देने के लिए सरकार कर रही कवायद

राज्य सरकार ने पारा शिक्षकों को वेतनमान देने का तय किया है. इसलिए विभाग आश्वस्त हो जाना चाहता है कि सभी पारा शिक्षक वेतनमान देने योग्य हैं.

झारखंड शिक्षा परियोजना ने तय किया टाइमलाइन

परियोजना कार्यालय ने इसके लिए टाइमलाइन तय किया है. प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारियों को पारा शिक्षकों के चयन की कैटेगरी, ग्राम शिक्षा समिति द्वारा चयन की तारीख, प्रखंड कमेटी द्वारा इसे अप्रूव करने की तारीख, समेत प्रशिक्षण की जानकारी 10 अक्टूबर तक वेब पोर्टल पर अपलोड करने को कहा गया है.

इस जानकारी के आधार पर पारा शिक्षक 31 अक्टूबर तक अपने सभी शैक्षणिक प्रमाणपत्रों को बीईईओ को देंगे. पारा शिक्षकों से प्राप्त प्रमाणपत्रों को सभी बीईईओ डीएसई को भेजेंगे. इसके बाद की जांच प्रक्रिया शुरू होगी. 25 दिसंबर तक पूरा कर लेने का निर्देश दिया गया है

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.