कोरोना वायरस से निपटने के लिए झारखंड तैयार, कमर कसी हेमंत सरकार

by

Ranchi: जिस तरह कोरोना वायरस देश के विभिन्न राज्यों में फैल रहा है, उसको देखते हुए झारखंड की हेमंत सरकार सरकार पूरी तरह से सतर्क है. हालांकि वायरस से संक्रमित व्यक्ति की पहचान अब तक झारखंड में नहीं हुई है. बावजूद इसके हमने वायरस से लड़ने की तैयारी कर रखी है.

  • खास बातें:
  • राज्य के सभी स्कूल, कॉलेज और शिक्षण संस्थान 14 अप्रैल तक बंद रहेंगे
  • 300 चिकित्सकों की प्रशिक्षित टीम है तैयार
  • सरकार ने कोरोना से लड़ने के लिए 200 करोड़ की राशि का उपबंध किया
  • झारखण्ड सुरक्षित है सुरक्षित रहेगा

झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि मेरा मानना है कोरोना वायरस से बचाव के लिए एहतियात बरतना जरूरी है. राज्य के सभी लोग सरकार के इस अभियान में अपनी सहभागिता निभाएं. कोरोना वायरस को देखते हुए राज्य सरकार ने पूर्व में ही सरकार आपके द्वार कार्यक्रम को स्थगित किया है.

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि अब सरकार राज्य के सभी स्कूल, कॉलेज और शिक्षण संस्थानों को 14 अप्रैल तक बंद करने का आदेश जारी कर रही है. निजी संस्थानों को भी बंद करने का आदेश सरकार जल्द देगी. इस क्रम में यह भी आदेश निर्गत किया जाएगा कि उन संस्थानों में कार्यरत लोगों के वेतन में प्रबंधन कटौती न करे.

उन्‍होंने कहा कि सार्वजनिक स्थल जैसे जिम, स्विमिंग पुल, पार्क, जू आदि भी 14 अप्रैल तक बंद रहेंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में पूर्व निर्धारित परीक्षाएं एवं परीक्षा के मूल्यांकन कार्य यथावत जारी रहेंगे. इस क्रम में साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था शिक्षण संस्थानों द्वारा की जाए.

कोरोना वायरस से निपटने के लिए 200 करोड़

मुख्यमंत्री ने बताया कि अगर कोरोना वायरस से कोई संक्रमित होता है, तो पैसे के आभाव में उसका इलाज प्रभावित न हो. इस निमित 200 करोड़ की राशि का उपबंध सरकार ने किया है. संक्रमण से लड़ने के लिए जरूरी संसाधन जुटाया जा रहा है.

मुख्‍यमंत्री हेमंत सारेन ने कहा कि कोरोना वायरस के महामारी के ईलाज के लिए जमशेदपुर में लैब की स्थापना हो चुकी है. जल्द रांची समेत पांचों प्रमंडल में लैब की स्थापना होगी. 300 चिकित्सकों और पारा मेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षण दिया गया है. 20 मार्च तक जिला स्तर के अस्पताल में भी संसाधन उपलब्ध करा दिया जाएगा.

जरूरत पड़ी तो झारखंड विधानसभा की कार्यवाही भी स्थगित होगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा में सदन का कार्य पूर्व की तरह होगा. विधानसभा आनेवाले आगंतुकों को फिलहाल विधानसभा आने पर रोक लगाई गई है. सदन के अंदर सुरक्षात्मक उपाय किये जायेंगे. जरूरत पड़ी तो विधानसभा की कार्यवाही स्थगित भी की जा सकती है.

सभी धर्म के लोग सहयोग करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह संक्रमण एक दूसरे के संपर्क में आने से अधिक फैलता है. कुछ ही दिनों बाद सरहुल, रामनवमी जैसे पर्व आने वाले हैं. ऐसे में विभिन्न धर्म के ट्रस्ट स्वविवेक से निर्णय लेते हुए किसी भी तरह का आयोजन करें. आप सभी का सहयोग हमें कोरोना से लड़ने में सहायता प्रदान करेगा.

सभी जिलों में आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है

मुख्य सचिव डॉ डीके तिवारी ने बताया कि कोरोना के संक्रमण से निपटने के लिए सभी जिलों में आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है. अलग से ओपीडी की व्यवस्था की गई है. राज्य के चिकित्सकों को यह अधिकार दिया गया है कि वे वायरस के संक्रमण के संदेह पर उस व्यक्ति की जांच जबरन कर सकें.

मुख्‍य सचिव ने कहा कि इस कार्य में सहयोग नहीं करने की स्थिति में संबंधित व्यक्ति पर प्राथमिकी भी दर्ज की जा सकती है. जहां तक मास्क समेत अन्य वस्तुओं की कालाबाजारी की बात है तो मामलों के संज्ञान में आने पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्रवाई सुनिश्चित होगी. भारत सरकार से प्राप्त आकंड़ों के अनुसार 488 लोग विभिन्न देशों से झारखण्ड आएं हैं, सभी की जांच सुनिश्चित की जा रही है. जांच में अबतक संक्रमण नहीं पाया गया है। झारखण्ड सुरक्षित है सुरक्षित रहेगा.

उपस्थिति

संवाददाता सम्मेलन में प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग डॉ नितिन मदन कुलकर्णी, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपालजी तिवारी समेत अन्य उपस्थित थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.