Jharkhand के राजनीतिक दलों ने Election Commission को दिये आवश्‍यक सुझाव

by

Ranchi: Election Commission की टीम Jharkhand दौरे पर है. Election Commission के अधिकारियों ने राज्य में लोकसभा के साथ विधानसभा के चुनाव कराए जाने की संभावना से इनकार किया है.

बुधवार को चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा की अगुवाई में आयोग की टीम ने Jharkhand में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की. इससे पहले आयोग के अधिकारियों ने राज्य के सीनियर ऑफिसर्स के साथ बैठक की. टीम ने Lok Sabha Election की तैयारियों के बारे में जानकारी ली.

सिर्फ Lok Sabha Election की तैयारी

राजधानी Ranchi स्थित होटल रेडिसन ब्लू में बैठक हुई. Election Commission के साथ हो रही बैठक के दौरान एक राजनीतिक दल के प्रतिनिधि ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा से लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ कराये जाने संबंध में पूछा, तो उन्होंने साफ किया कि आयोग की ऐसी कोई तैयारी नहीं है. Election Commission सिर्फ Lok Sabha Election की तैयारी कर रहा है.

राजनीतिक दलों ने दिये सुझाव

बैठक में अधिकतर दलों ने Jharkhand में दो या तीन चरणों में मतदान कराने का सुझाव दिया. हालांकि राष्ट्रीय जनता दल ने एक ही चरण में राज्य की सभी 14 लोकसभा सीटों पर चुनाव कराने की मांग रखी. जबकि कांग्रेस पार्टी ने तान साल से ज्यादा समय से एक ही जगह पर पदस्थापित सरकारी अधिकारियों के तबादले की मांग रखी.

कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, विधायक सुखदेव भगत के साथ कांग्रेस के कई प्रतिनिधियों ने Election Commission के अधिकारियों से मुलाकात कर पार्टी की मांग से उन्हें अवगत कराया.

भाजपा के मुख्य सचेतक राधा कृष्ण किशोर ने आयोग को सुझाव दिया कि पुराने मतदान केंद्रों को नहीं बदला जाये. अचानक बूथ बदल दिये जाने से मतदाताओं को परेशानियों का सामना करना पड़ता है. कई बार मतदाता वोट देने से भी वंचित रह जाता है.

माकपा के प्रकाश विप्लव ने भी पार्टी की ओर से Election Commission को सुरक्षा और वोटरों की परेशानी से अवगत कराया. उन्होंने कहा कि मतदाता सूची दुरूस्त करने के लिए ठोस कदम उठाए जाने चाहिए.

गौरतलब है कि 29 जनवरी की शाम मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा की अगुवाई में Election Commission की एक टीम Lok Sabha Election की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए Jharkhand के दौरे पर आयी है.

इस दौरान आयोग ने वरीय सरकारी पदाधिकारियों के अलावा राजनीतिक दलों से भी बातचीत की. शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव कराये जाने के बारे में अधिकारियों और राजनीतिक दलों के नेताओं की राय ली. उनके सुझावों और शिकायतों को भी दर्ज किया.

राजनीतिक दलों के साथ बैठक करने के बाद अब अधिकारियों के साथ Election Commission की बैठक चल रही है. इसमें जिलों के उपायुक्त तथा पुलिस अधीक्षक भाग ले रहे हैं.

इस बैठक में Election Commission ने मतदान केंद्रों के साथ सुरक्षा को लेकर राज्य सरकार की तैयारियों की जानकारी ली. राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल ख्यांगते ने जिलों से बेजी गई रिपोर्ट से Election Commission को अवगत कराया है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.