झारखण्ड मिल्क फेडरेशन ने मनाया डॉ वर्गीज  कुरियन जन्म शताब्दी समारोह

by

Ranchi: झारखण्ड राज्य सहकारी दुग्धउत्पादक महासंघ एवं इंडियन डेयरी एसोशिएशन ईस्ट जोन झारखंड चैप्टर के संयुक्त तत्वाधान में श्वेत क्रांति के जनक डॉ वर्गीज कुरियन का 100वां जन्मदिवस मेधा डेयरी के होटवार स्थित प्लांट परिसर में मनाया गया. इस आयोजन में मुख्य अतिथि के रूप में कृषिपशुपालन एवं सहकारिता विभाग के मंत्री बादल पत्रलेख उस्थित रहे. इस कार्यक्रम में डॉ वर्गिज कुरियन की मूर्ति का अनावरण किया गया. मौके पर मंत्री ने डॉ कुरियन के जन्म शताब्दी पर उनके योगदान की चर्चा की. उन्‍होंने बताया कि किस तरह उनके द्वारा श्वेत क्रांति प्रारम्भ किया गया, जिससे दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा मिला और हमारे सीमांत दुग्ध उत्पादक किसानों को स्वाबलमबी एवं आत्मनिर्भर बनने मे मदद मिली. आज डॉ कुरियन के सोच एवं प्रयासों का ही नतीजा है कि आज ग्रामीण क्षेत्रों  मे दुग्ध उत्पादन सबसे बड़ा व्यवसाय एवं रोजगार बन कर उभरा है और ग्रामीण क्षेत्र के एक तिहाई आय का श्रोत बना है.

समारोह  में दुग्ध उत्पादकों को संबोधित करते हुए मंत्री बादल ने राज्य के सभी दुग्ध उत्पादकों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि झारखण्ड में दुग्ध व्यवसाय के लिए उज्ज्वल भविष्य है और यह हमारे दुग्ध उत्पादकों के लिए एक सुनहरा अवसर है. इससे राज्य के लोगों को अपने ही राज्य में आय का श्रोत उपलब्ध होगा. साथ ही बादल ने दुग्ध महासंघ के कार्य प्रणाली एवं प्रगति को सराहा तथा राज्य सरकार से महासंघ को यथा संभव सभी सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया.

Read Also  तिरंगा झंडा लगाते हाईवोल्टेज तार की चपेट में आने से 3 की मौत

डॉ वर्गिज कुरियन के जन्म शताब्दी पर किसानों के बीच करीब 86 लाख  बोनस का वितरण कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग सचिव अबुबक्कर सिद्दीख ने किया. साथ ही 9 दुग्ध सहकारिता समितियों को निबंधन पत्र सौंपा. इस अवसर पर पिछले सितंबर माह में  झारखंड दुग्ध महासंघ ने रक्तदान शिविर का आयोजन किया था. जिसमें यहां के 33 कर्मचारियों नें रक्तदान किया था. उन सारे कर्मचारियों को इस महादान के लिए उनकी प्रशंसा की गई एवं उन्हे प्रशस्ति पत्र दिया गया.

नया प्रॉडक्‍ट मेधा स्‍पेशल लॉन्‍च

कार्यक्रम को और भी खास बनाते हुए झारखंड राज्य महासंघ अपने मेधा ब्रांड के अंतर्गत  मिठाई की श्रेणी में अपना नया प्रॉडक्ट मेधा स्पेशल को लॉंच किया. मेधा के निरंतर बढ़ते उपभोगताओं  को हमेशा इंतज़ार रहता है कि अब मेधा अपने ग्राहकों के लिए कौन सा नया प्रॉडक्ट लाने वाला है. मेधा स्पेशल की खास बात है. काफी किफ़ायती दर पर उच्च कोटी कि मिठाई जो कि हर उम्र के लोग इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके स्वाद में एक नयापन है जो ग्राहकों को काफी पसंद आएगा. यह 80 ग्राम के कप में मेधा से सम्बद्ध सारे रीटेल आउटलेट्स पर उपलब्ध होगा. मेधा स्पेशल प्रति कप मात्र 20रूपये के अधिकतम खुदरा मूल्य पर  बाज़ार में उपलब्ध होगा.

Read Also  तिरंगा झंडा लगाते हाईवोल्टेज तार की चपेट में आने से 3 की मौत

इसके पूर्व  झारखण्ड राज्य दुग्ध महासंघ के प्रबंध निदेशक सुधीर कुमार सिंह ने मंत्री बादल का पुष्प गुच्छ एवं शॉल प्रदान कर स्वागत किया एवं अपने स्वागत भाषण में मंत्री का झारखंड दुग्ध महासंघ की ओर से आभार प्रकट किया और बताया की किस तरह उन्हे अपने शुरु के प्रॉफेश्नल दिनों में श्रद्धेय डॉ वर्गिज कुरियन के मार्गदर्शन में कार्य करने का मौका मिला और किस तरह वो आज तक उनके बताए गए सिद्धांतों का अनुसरण कर रहे हैं.

झारखंड में मेधा डेयरी

झारखंड राज्य दुग्ध महासंघ जो मेधा ब्रांड के नाम से जाना जाता है. पिछले छः वर्षों से राष्ट्रिय डेयरी विकास बोर्ड के कुशल प्रबंधन में लगातार प्रगति के पथ पर अग्रसर है. वर्तमान में मिल्क फ़ैडरेशन से राज्य के 18 जिलों से करीब  40 हज़ार दुग्ध उत्पादक परिवार जुड़े हुए हैं, जो प्रतिदिन लगभग 1.30 लाख लिटर दूध की  आपूर्ति कर रहे हैं. अभी मिल्क फ़ैडरेशन के अधीन पाँच डेयरी प्लांट होटवार, कोडरमा, लातेहार, देवघर एवं सारठ  में 1.90 लाख लिटर प्रोसेसिंग क्षमता के साथ चल रहे हैं. जबकि अतिरिक्त दो नए प्लांट यथा साहिबगंज एवं पलामू का निर्माण अंतिम चरण में है. जिसमे साहिबगंज डेयरी का  उद्घाटन आगामी दिसम्बर महीने मे होने की संभावना है. इसके अतिरिक्त दुग्ध उत्पादकों के उत्पादन लागत को कम करने तथा दूध की गुणवत्ता को बढ़ाने के उद्देश्य से महासंघ द्वारा कैटल फीड प्लांट, मिनरल मिक्सचर प्लांट, बाइपास फीड एवं शीतवर्धक प्लांट भी होटवार स्थित मेधा डेयरी प्रांगण में स्थापित कर संचालित किया जा रहा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.