झारखंड में भाजपा और आजसू में बढ़ रही है दूरी

#RANCHI: झारखंड के सिल्ली और गोमिया विधानसभा उपचुनाव में हुई हार के बाद भाजपा और आजसू (ऑल झारखण्ड स्टूडेंट्स यूनियन) में दूरी बढ़ती जा रही है. उपचुनाव के बाद भाजपा और आजसू एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं. इससे भाजपा और आजसू में दूरी और बढ़ रही है.

इधर, आजसू सुप्रीमो सुदेश कुमार महतो ने भी राज्य के विभिन्न मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री रघुवर दास को पत्र लिखकर सरकार पर दबाव बनाया है. ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि एनडीए में शामिल आजसू कभी भी सरकार का साथ छोड़ सकती है, क्योंकि उपचुनाव में आए नतीजों के बाद सुदेश महतो ने अपने आवास में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर स्पष्ट कहा था कि गठबंधन पर आजसू विचार करेगी. आजसू नेताओं द्वारा लगातार सरकार पर बयानबाजी को लेकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि आजसू अब कभी भी गठबंधन से बाहर हो सकती है.

Read Also  विजयादशमी 2022: रांची के मोरहाबादी में 70 फीट का रावण जलेगा, मुस्लिम कारीगर बना रहे पुतले

हालांकि इस संबंध में आजसू नेताओं का कहना है कि जो भी निर्णय होगा, आजसू सुप्रीमो सुदेश कुमार महतो ही लेंगे. इतना ही नहीं गत दिनों आजसू विधायक विकास मुंडा और रामचंद्र सहिस ने भी भाजपा नेताओं के बयान पर पलटवार किया है. बताते चलें कि सिल्ली विधानसभा उपचुनाव में आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो के पक्ष में भाजपा नेताओं द्वारा प्रचार-प्रसार नहीं किया गया.

जिस कारण ऐसा माना जा रहा है कि कहीं न कहीं चूक हुई है, जबकि भाजपा नेताओं का कहना है कि आजसू ने प्रचार-प्रसार के लिए उन्हें बुलाया ही नहीं, जिस कारण कोई भी भाजपा नेता प्रचार-प्रसार में शामिल नहीं हुआ. हालांकि भाजपा कार्यकर्ता सिल्ली में लगातार जमे रहे. मालूम हो कि सिल्ली विधानसभा उपचुनाव में सुदेश महतो झामुमो की सीमा महतो से चुनाव हार गए, जबकि गोमिया में झामुमो की बबीता महतो से आजसू प्रत्याशी लंबोदर महतो भी हार गए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top
OTT पर खूंखार हो चली ये Hot Actress प्‍यार वाला राशिफल: 5 अक्‍टूबर 2022 Adipurush में प्रभास बने श्रीराम, टीजर का मजाक उड़ा प्‍यार वाला राशिफल: 4 अक्‍टूबर 2022 रांची के TOP Selfie Pandal