कोरोना वायरस को लेकर सतर्क है झारखंडः मुख्य सचिव

by

Ranchi: मुख्य सचिव डॉ डीके तिवारी ने कहा कि नोवेल कोरोना वायरस को लेकर राज्य सतर्क है तथा कई एहतियाती महत्वपूर्ण कदम भी उठाए गए हैं. उन्होंने कहा है कि राज्य में कोरोना वायरस से पीड़ित अभी तक कोई भी व्यक्ति नहीं पाया गया है.

स्वास्थ्य विभाग के एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम तथा जिला सर्विलेंस इकाई के द्वारा चीन से आए छह यात्रियों (रांची के तीन तथा जमशेदपुर के तीन) की प्रतिदिन सतत निगरानी की जा रही है. लैब में जांच के बाद किसी में भी कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं हुई है.

मुख्य सचिव केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गौबा को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए झारखंड में कोरोना वायरस को लेकर उठाए गए एहतियाती कदम से अवगत करा रहे थे. केंद्रीय कैबिनेट सचिव देश के सभी मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना वायरस को लेकर राज्यों की तैयारी का जायजा ले रहे थे. उन्होंने कतिपय एहतियाती कदम उठाने के भी निर्देश दिए. उसके आलोक में झारखंड के सभी उपायुक्तों को एडवाइजरी जारी कर दी गई है.

कोरोना को लेकर 24 घंटे सातों दिन सक्रिय है कंट्रोल रूम

झारखंड में कोरोना वायरस को लेकर एहतियाती कदम उठाते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत एकीकृत निगरानी कार्यक्रम के राज्य सर्विलेंस इकाई को 24 घंटे सातों दिन सक्रिय कंट्रोल रूम बनाया गया है. उसका संपर्क नंबर 9955837428 रखा गया है. उसके साथ कोरोना को लेकर रिम्स के आइसोलेशन कंट्रोल रूम का भी टेलीफोन नंबर 0651-2542700 सक्रिय किया गया है.

वहीं भारत सरकार से प्राप्त एडवाइजरी के आलोक में कोरोना वायरस से बचाव और प्रसार के लिए उद्योग विभाग, कला-संस्कृति विभाग के सचिव, सभी उपायुक्तों, निदेशक एयरपोर्ट रांची समेत राज्य के सभी सिविल सर्जनों को दिशा-निर्देश भेजे जा चुके हैं. वहीं छह मार्च को झारखंड से कुछ लोगों को कोरोना वायरस से बचाव और एहतियाती उपायों से संबंधित प्रशिक्षण के लिए दिल्ली भेजा जा रहा है. वहां से प्रशिक्षण लेने के बाद ये लोग झारखंड आकर अन्य लोगों को प्रशिक्षित करेंगे.

कोरोना वायरस को लेकर एहतियाती कदम उठाते हुए रिम्स के सभी चिकित्सकों को कार्यशाला कर जागरूक किया जा चुका है. वहीं सर्विलांस इकाई द्वारा भी कार्यशाला कर तमाम दूसरे चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों को जागरूक करने की प्रक्रिया जारी है. सभी जिलों के जिला जनसंपर्क कार्यालय द्वारा भी आम लोगों को जागरूक किया जा रहा है.

अभी तक राज्य के अस्पतालों में कुल 102 आइसोलेशन बेड का चिह्नित किया जा चुका है. कोरोना वायरस से बचाव और एहतियाती कदम को लेकर आम जनों में जागरूकता को व्यवहार में लाने की अपील खुद मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन भी कर चुके हैं

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.