दारोगा बहाली मामले में झारखंड हाईकोर्ट का फैसला- अयोग्‍य ठहराए गए सभी 42 दारोगा होंगे बहाल

by

Ranchi: झारखंड में दारोगा बहाली मामले में हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है. अयोग्‍य ठहराये गये सभी 42 दारोगा को बहाल करने का आदेश देते हुए हाईकोर्ट ने झारखंड सरकार की याचिका को खारिज कर दी.

इन 42 दारोगा के भविष्‍य का फैसला करते हुए कोर्ट ने सिंगल बेंच के फैसले को सही ठहराया है. 42 दारोग की नियुक्ति माले में सिंगल बेंच के फैसले को बरकरार रखते हुए डबल बेंच ने भी उन्‍हें नौकरी में बहाल करने का आदेश दिया है. साथ ही हाईकोर्ट के डबल बेंच में दायर सरकारी की अपील याचिका खारिज कर दी गई.

एकलपीठ ने डेढ़ साल नौकरी करने के बाद निकाले गए 42 दारोगा को नौकरी पर बहाल करने का निर्देश दिया था. डेढ़ साल तक नौकरी करने के बाद सरकार ने इन्‍हें आयोग्‍य ठहराते हुए हटा दिया था. तब एकलपीठ अदालत ने भविष्‍य की नौकरियों में इन्‍हें रखने का आदेश दिया था. इस फैसले के खिलाफ सरकार एलपीए दाखिल कर डबल बेंच में गई थी.

Read Also  झारखंड में अब अपराध से जुड़े सुराग और सबूतों की ऑन द स्‍पॉट होगी जांच

हाईकोर्ट में जस्टिस एचसी मिश्रा और जस्टिस दीपक रौशन की खंडपीठ इस मामले में अपना फैसला सुनाया. हटाए गये अभ्‍यर्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिस पर सुनवाई के बाद एकलपीठ ने सरकार को निर्देश दिया था कि भविष्‍य में होने वाली नियुक्ति में सभी को प्राथमिकता के आधार पर समायोजित किया जाए. जिसके बाद सरकार ने एलपीएम दाखिल कर खंडपीठ में चुनौती थी.

दरअसल सरकार ने 42 कंपनी कमांडर, सार्जेंट मेजर और एसआई को नियुक्ति के डेढ़ साल बाद यह कहते हुए नौकरी से निकाल दिया था कि उनकी नियुक्ति में गड़बड़ी हुई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.