Take a fresh look at your lifestyle.

Jharkhand Election: सरयू राय का अंतिम फैसला, रघुवर दास के खिलाफ ठोकेंगे ताल

0

Ranchi: झारखंड के मुख्‍यमंत्री रघुवर दास (Jharkhand CM Raghubar Das) की कैबिनेट में खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय (Saryu Roy) आर-पार के मूड में हैं. बगावती की राह पकड़ते हुए रविवार को उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata party) से इस्तीफा दे दिया. साथ ही उन्‍होंने जमशेदपुर पूर्वी (Jamshedpur East) से मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान कर दिया.

सरयू राय जमशेदपुर पश्चिमी से भी चुनाव लड़ेंगे. सरयू राय ने कहा, कार्यकर्ताओं और समर्थकों की रायशुमारी के बाद इस नतीजे पर पहुंचा हूं. मैं पूर्वी में अधिक समय दूंगा, लेकिन पश्चिम में कार्यकर्ता और समर्थक चुनाव लड़ेंगे.

कार्यकर्ताओं ने कहा है कि उन्हें जमशेदपुर पश्चिम में झांकने की भी जरूरत नहीं है. साथ ही क्षेत्र की जनता ने आश्वस्त किया है कि चुनाव में वोट भी देंगे और नोट भी.

उल्लेखनीय है कि सरयू राय पश्चिम जमशेदपुर से विधायक हैं. वे दो बार उस सीट से चुनाव जीते हैं. भाजपe के दिग्गज सरयू राय का टिकट होल्ड पर चल रहा था.

भाजपा की चौथी सूची में भी उनका नाम नहीं आने के बाद एक दिन पहले 16 नवंबर को सरयू राय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि मुझे भाजपा का टिकट नहीं चाहिए. पार्टी नेतृत्व अब मेरे नाम पर विचार न करें. पार्टी नेतृत्व मुझे लेकर असमंजस की स्थिति में था. इसलिए मैंने उन्हें चिंतामुक्त कर दिया है. मैंने पार्टी नेतृत्व को आदरपूर्वक टिकट देने से मना कर दिया.

सरयू ने कहा था कि भाजपा ने मुझे बहुत कुछ दिया. एमएलसी बनाया, दो बार एमएलए बनाया, मंत्री भी बनाया. इसके लिए मैं पार्टी नेतृत्व का शुक्रगुजार हूं. मैं अभी तक भाजपा में हूं. भाजपा द्वारा इस बार 10 विधायकों के टिकट काटे जाने की वजह पूछने पर सरयू ने कहा कि बॉस इज ऑलवेज राइट, बॉस कोई भी कार्रवाई का कारण नहीं बताता हैबॉस से कोई कारण पूछ भी नहीं सकता और न ही वह बताने के लिए बाध्य है.

अर्जुन, सुदेश और हेमंत के हाथ में झारखंड का भविष्य सुरक्षित

निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद सरयू राय ने कहा कि अर्जुन मुंडा, सुदेश महतो और हेमंत सोरेन झारखंड के ये तीन नेता युवा हैं और इनके हाथों में झारखंड का भविष्य सुरक्षित है. उन्होंने कहा कि पार्टी के फैसले से न दुखी और न खुश होना है. अब बड़ी लकीर खींचनी है.

भाजपा भय, भूख और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने की मिली सजा

सरयू राय ने कहा कि भाजपा भय, भूख और भ्रष्टाचार के लिए लड़ती रही है और मैं भी इसके लिए लड़ता रहा हूं, लेकिन मुझे इसकी सजा मिली है. प्रदेश में भय और आतंक का माहौल बना दिया गया हैण् इस माहौल को बदलने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि दो दिनों से जिस प्रकार का समर्थन मिल रहा है, उससे अभिभूत हूं.

जमशेदपुर की 86 बस्ती के लोगों को मालिकाना हक दिलाने के लिए खुलकर लड़ेंगे

सरयू राय ने कहा कि वह जमशेदपुर की 86 बस्ती के लोगों को मालिकाना हक दिलाने के लिए अब खुलकर लड़ाई लड़ेंगे. टेल्को में बार-बार होने वाली हड़ताल के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करेंगे. उन्होंने कहा कि देश के अन्य राज्यों में भी टेल्को की इकाइयां हैं, लेकिन सिर्फ जमशेदपुर में ही बार-बार ब्लॉक क्लोजर होता है. महीने में करीब 20-25 दिन यहां प्लांट बंद रहता है.

कांग्रेस ने प्रवक्ता गौरव वल्लभ को उतारा, झाविमो के अभय भी मैदान में

शनिवार की रात कांग्रेस ने अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रो. गौरव वल्लभ को जमशेदपुर पूर्वी से उम्मीदवार बनाया है. भाजपा से रघुवर दास उम्मीदवार हैं. रघुवर दास इस सीट से पांच बार चुनाव जीते हैं. झारखंड में कांग्रेस, झामुमो और राजद के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रही है. कांग्रेस के हिस्से में पूर्वी सिंहभूम की सीट भी आई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More