Take a fresh look at your lifestyle.

सोनिया गांधी और राहुल गांधी से दिल्‍ली में मिले झारखंड कांग्रेस विधायक

0 66

New Delhi: झारखंड कांग्रेस के सभी 16 विधायक और दो सांसद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाक़ात की. झारखंड विधानसभा चुनाव में जीत के बाद पहली बार सभी विधायक एक साथ सोनिया गांधी से मिले. यहां इनकी आधे घंटे तक मुलाकात हुई. मौके पर सोनिया गांधी ने विधायकों को जीत की शुभकामाएं दी और झारखंड सरकार के लिए काम करने को कहा. सोनिया गांधी से मुलाकात से पहले सभी विधायक झारखंड कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह से मिल चुके हैं.

सभी नव निर्वाचित विधायकों के साथ ही सांसद गीता कोड़ा और धीरज साहू ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई.

झारखंड में मंत्रिमेंडल विस्‍तार के लिए सोनिया गांधी से विधायकों की यह मुलाकात महत्‍वपूर्ण मानी जा रही है. इस दौरान कई विधायकों ने सोनिया गांधी के सामने मंत्रि बनने का दावा पेश किया. मुलाकात के दौरान विधायक इरफान अंसारी ने भी मंत्री बनने का दावा किया. हालांकि कांग्रेस के झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह ने मंत्रिमंडल विस्‍तार पर कुछ भी खुलासा करने से इनकार किया और कहा कि सभी बातें सही समय पर सामने आ जाएंगी.

मंत्रिमंडल विस्‍तार पर भी चर्चा

जानकारी के मुताबिक प्रभारी आरपीएन सिंह, झारखंड कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष रामेश्‍वर उरांव और आलमगीर आलम की सोनिया और राहुल से अलग से मुलाकात की है. इस मुलाकात में झारखंड में मंत्रिमंडल विस्‍तार पर चर्चा भी हुई है. इसमें कांग्रेस कोटे से कौन-कौन विधायक मंत्री होंगे और कांग्रेस कोटे के मंत्रियों के लिए कौन से विभाग मिलेंगे इस पर भी चर्चा हुई है.

झारखंड में मंत्रियों के विभागों को लेकर भी पेंच फंसा हुआ है. कांग्रेस की ओर से मलाईदार विभाग की डिमांड की जा रही है. कांग्रेस की ओर से वित्‍त मंत्रालय, कृषि मंत्रालय, खनन मंत्रालय, उद्योग मंत्रालय, उर्जा मंत्रालय की मांग की जा रही है. कांग्रेस चाहती है कि डिप्‍टी सीएम की पोस्‍ट न लेकर अपने कोटे में बेहतर मंत्रालय और विभाग लिये जाएं. दिल्‍ली में कांग्रेस और जेएमएम शीर्ष नेतृत्‍व के बीच कई दौर के बैठकों के बावजूद इस पर अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका है.

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार में मंत्रीपद पाने के लिए कांग्रेस के विधायकों की दिल्ली दौड़ तेज हो गई है. अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस के विधायक पार्टी के आला नेताओं से मिलकर मंत्री बनने के लिए लॉबिंग कर रहे हैं.

29 दिसंबर को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ कांग्रेस कोटे से दो विधायक, आलमगीर आलम और रामेश्वर उरांव मंत्रीपद की शपथ ले चुके हैं. कांग्रेस हेमंत सोरेन सरकार में अपने लिए पांच मंत्रीपद चाहती है. जबकि विधायकों की संख्या के आधार पर जेएमएम कांग्रेस को चार मंत्रीपद देना चाहती है. इस मसले पर सीएम हेमंत सोरेन की कांग्रेस के आला नेताओं के साथ बातचीत जारी है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.