28 फरवरी से झारखंड का बजट सत्र, नेता प्रतिपक्ष की सीट रहेगी खाली

Ranchi: झारखंड का बजट सत्र (Jharkhand budget session) 28 फरवरी से शुरू हो रहा है. इस दौरान नेता प्रतिपक्ष की सीट खाली रहेगी. यह झारखंड के संसदीय इतिहास में यह पहला मौका है.

प्रमुख विपक्षी दल भाजपा द्वारा बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi) को विधायक दल का नेता घोषित किया गया है. लेकिन अब बाबूलाल विपक्ष की विधिवत अगुवाई नहीं कर पाएंगे. भाजपा द्वारा उन्हें विधायक दल का नेता चुने जाने की जानकारी दिए जाने के बावजूद विधानसभा सचिवालय ने इसपर अभी कोई निर्णय नहीं किया है.

बाबूलाल के नेता प्रतिपक्ष को लेकर कानूनी पेंच

दरअसल, कानूनी पेंच इसमें आड़े आ रहा है. बाबूलाल मरांडी झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) के सिंबल पर विधानसभा का चुनाव जीते हैं. झाविमो के दो विधायकों प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने कांग्रेस में शामिल होने की घोषणा की है, वहीं बाबूलाल मरांडी ने भाजपा का दामन थामा है. इस परिस्थिति में फैसला विधानसभा अध्यक्ष को लेना है. गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने स्पष्ट कहा कि यह तकनीकी मामला है और सभी कानूनी पहलुओं का अध्ययन कर वे फैसला लेंगे.

Read Also  रांची में हनुमान मंदिर घुसकर मूर्ति तोड़ी, पुलिस ने बिना जांचे आरोपी रमीज को बताया विक्षिप्‍त

इसमें किसी प्रकार की जल्दबाजी नहीं होगी. उन्होंने गुरुवार को सभी दलों की बैठक के मद्देनजर कहा कि जब इस संबंध में चिट्ठी जारी की गई थी, तो बाबूलाल मरांडी नेता नहीं चुने गए थे. वरिष्ठता के लिहाज से सीपी सिंह को आमंत्रित किया गया था. फिलहाल सदन के भीतर बैठने की पुरानी व्यवस्था कायम रहेगी. यह पूछे जाने पर कि बाबूलाल मरांडी को नेता चयनित किए जाने का पत्र भाजपा ने दिया है, स्पीकर ने कहा कि आसन सिर्फ पत्र पर फैसला नहीं ले सकता. इसके अध्ययन के बाद ही कोई निर्णय होगा.

हेमंत बोले- भाजपा खुद को विपक्ष नहीं मान रही

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने नेता प्रतिपक्ष की मान्यता को लेकर उठ रहे सवाल के बीच भाजपा पर तंज कसा है. गुरुवार को विधानसभा परिसर में बैठक में भाग लेने के बाद उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि भाजपा खुद को विपक्ष में मान कहां रही है. सत्ता चली गई है, लेकिन इनका भ्रम नहीं टूटा है. उन्होंने कहा कि सरकार बेहतर माहौल में विधानसभा के बजट सत्र का संचालन करना चाहती है. सभी दलों से आग्रह होगा कि स्वस्थ परंपरा बनाए रखें.

Read Also  36th national games 2022 उद्घाटन समारोह में पीएम के सामने बिना ब्‍लेजर मार्च पास्‍ट करेगी झारखंड टीम

स्पीकर की बैठक का भाजपा ने किया बहिष्कार

गुरुवार को बजट सत्र की व्यवस्था को लेकर स्पीकर द्वारा बुलाई गई तमाम दलों के नेताओं की बैठक से भाजपा नदारद रही. इस बैठक में भाजपा के प्रतिनिधि के तौर पर वरिष्ठ विधायक सीपी सिंह को आमंत्रित किया गया था. उन्होंने पूर्व में ही कह दिया था कि वे बैठक में शामिल नहीं होंगे. स्पीकर ने कहा कि सदन के पूर्व बैठक की परिपाटी रही है.

इसमें सदन की कार्यवाही सुचारू तरीके से संचालित करने पर चर्चा हुई. बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, आजसू विधायक दल के नेता सुदेश महतो, सरयू राय, विनोद कुमार सिंह और प्रदीप यादव शामिल हुए. विधानसभा अध्यक्ष ने प्रेस सलाहकार समिति समेत राज्य सरकार के वरीय अधिकारियों संग सत्र के दौरान व्यवस्था बहाल रखने को बैठक की और आवश्यक निर्देश दिए.

Read Also  रांची में हनुमान मंदिर घुसकर मूर्ति तोड़ी, पुलिस ने बिना जांचे आरोपी रमीज को बताया विक्षिप्‍त

सवालों से पीछा छुड़ाते रहे प्रदीप यादव

गुरुवार को स्पीकर द्वारा बुलाई गई बैठक में विधायक प्रदीप यादव बतौर झाविमो विधायक दल के नेता शामिल हुए. उन्होंने विलय को लेकर पैदा हुई तकनीकी अड़चन पर कुछ भी बोलने से परहेज किया. मीडिया के सवालों से भी वे बचते नजर आए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.