बाबा बैद्यनाथ धाम में शिवभक्तों का उमड़ा सैलाब

by
Advertisements

Deoghar: सावन मास (Sawan) के दूसरे सोमवार पर खास संयोग बनने के कारण सुबह से ही सभी शिवालयों में भक्तों का तांता लगा है. पूरा माहौल ‘हर-हर महादेव’ (Har-har Mahadev) और ‘बोल बम’ (Bol Bam) की गूंज से भक्तिमय हो गया है. इस बीच, झारखंड के देवघर (Deoghar) स्थित बाबा बैद्यनाथ धाम (Baba baidyanath dham) में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा. बाबा बैद्यनाथ धाम में अब तक एक अनुमान के मुताबिक 60 हजार ज्यादा श्रद्घालु ज्योतिर्लिंग पर जलाभिषेक कर चुके हैं.

बिहार के सुल्तानगंज (Sultanganj) से उत्तरवाहिनी गंगा का पवित्र जल लेकर 105 किलोमीटर लंबी पैदल यात्रा कर कांवड़िए बैद्यनाथ धाम पहुंचकर कामना लिंग पर जलाभिषेक कर रहे हैं. सोमवार तड़के तीन बजे कांचा जल पूजा और विशेष पूजा के बाद चार बजे से भक्तों ने जलाभिषेक शुरू कर दिया.

देवघर के जिलाधिकारी राहुल कुमार सिन्हा ने  बताया कि सुबह 10 बजे तक एक अनुमान के मुताबिक 60-65 हजार ज्यादा कांवड़िये कामना लिंग पर जलाभिषेक कर चुके हैं. कांवड़ियों के आने का सिलसिला अभी भी बदस्तूर जारी है. उन्होंने बताया कि रात 10 बजे तक आने वाले श्रद्घालु जलाभिषेक कर सकेंगे.

इधर, मेला क्षेत्र में सुरक्षा की कमान संभाल रहे देवघर के पुलिस अधीक्षक एन.के. सिंह ने सोमवार को बताया कि कांवड़ियों की लंबी कतार अभी तक लगी हुई है और उनका आना जारी है.

उन्होंने बताया कि सावन के पहले सोमवार को करीब 1.75 लाख से ज्यादा भक्तों ने यहां जलाभिषेक किया था और दूसरे सोमवार को यह संख्या ढाई से तीन लाख तक पहुंचने की उम्मीद है. लोग रविवार देर रात से ही पंक्तिबद्घ हो गए. फिलहाल यह पंक्ति करीब 14 किलोमीटर लंबी है और लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं.

वरिष्ठ तीर्थ पुरोहित पंडित दुर्लभ मिश्र ने आईएएनएस को बताया, “इस बार सावन की इस सोमवारी और प्रदोष व्रत एक साथ होने से दुर्लभ संयोग बन रहा है. सावन, शिव, सोमवार और प्रदोष का दुर्लभ योग बन रहा है. इस कारण इस सोमवारी को व्रत, भगवान शिव की पूजा, जलाभिषेक और रूद्राभिषेक अधिक फलदायी हैं.”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.