Jaswant Singh Death: पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन

by

Jaswant Singh Death: पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन (Jaswant Singh Death) हो गया है. जसवंत सिंह ने 82 साल की उम्र में अंतिम सांस ली. वो लंबे समय से बीमार चल रहे थे. वो पिछले छह साल से कोमा में थे. जसवंत सिंह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं. जसवंत सिंह विदेश मंत्री, रक्षामंत्री और वित्त मंत्री रह चुके थे. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्‍व वाली सरकार में उन्‍होंने 1996 से 2004 के बीच रक्षा, विदेश और वित्‍त जैसे मंत्रालयों का जिम्‍मा संभाला.

Jaswant Singh Death पर पीएम मोदी का शोक संदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार सुबह करीब साढ़े 8 बजे ट्वीट कर सिंह को श्रद्धांजलि दी. उन्‍होंने लिखा कि सिंह को राजनीति और समाज पर उनके अनोखे नजरिए के लिए याद किया जाएगा. प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया है कि जसवंत सिंह जी ने देश की पूरी लगन से सेवा की. पहले सैनिक के रूप में, फिर राजनीति में आकर. अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के वक्त उन्हें अहम जिम्मेदारियां दी गईं. उन्होंने वित्त, रक्षा और विदेश मंत्री के तौर पर काफी सराहनीय काम किया था.’

जसवंत सिंह निधन पर क्‍या बोले रक्षा मंत्री

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है. राजनाथ दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया और उसमें लिखा, ‘श्री जसवंत सिंह जी को राष्ट्र के लिए उनके द्वारा किए गए काम को लेकर याद किया जाएगा. राजस्थान में बीजेपी की स्ट्रेंथ को बढ़ाने में उनका अहम योगदान रहा. उनके परिवार को मेरी ओर से संवेदनाएं. ओम शांति.’

आपको बता दें कि 2014 में बीजेपी ने सिंह को बाड़मेर से लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया था. नाराज जसवंत ने पार्टी छोड़कर निर्दलीय चुनाव लड़ा मगर हार गए थे. उसी साल उन्‍हें सिर में गंभीर चोटें आई, तब से वह कोमा में थे.

जसवंत सिंह पिछले 6 सालों से कोमा में थे. 8 अगस्त 2014 को घर में गिर गए थे. इसके बाद वह कोमा में चले गए थे. तब से लेकर अबतक उनकी स्थिति में कोई बदलाव नहीं था. जसवंत सिंह के बेटे मानवेन्द्र सिंह ने यह बताया था कि उनके पिता कभी-कभी आंख जरूर खोलते थे लेकिन कुछ बोल नहीं पाते थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.