जामिया हिंसा : अलीगढ़ सहित उप्र के छह जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद

by

मुख्यमंत्री ने हिंसक आंदोलन को लेकर डीजीपी को किया तलब

Lucknow: योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश सरकार हर नागरिक को सुरक्षा प्रदान करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है. इसके लिए यह आवश्यक है कि सभी नागरिकों द्वारा कानून का पालन किया जाए. राज्य में कायम अमन-चैन के माहौल को प्रभावित करने की किसी को अनुमति नहीं है.

हिंसक विरोध के कारण उत्तर प्रदेश के छह जिलों में मेरठ, बुलंदशहर, कासगंज, बागपत, सहारनपुर और बरेली में धारा 144 लगा दी गई है, जबकि अलीगढ़ और सहारनपुर में प्रशासन ने इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं. फिलहाल, अलीगढ़, वाराणसी और लखनऊ में भी छात्रों ने प्रदर्शन किया है.

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय में प्रदर्शन के दौरान छात्र की मौत की अफवाह पर रविवार रात नौ बजे नदवा कॉलेज के छात्र भी सड़क पर उतर गए. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में भी नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में रविवार शाम को प्रदर्शन के दौरान पुलिस पर पथराव किया गया. पथराव फायरिंग के वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होता देख जिला प्रशासन ने 15 दिसंबर की रात साढ़े दस बजे से 16 दिसंबर की रात दस बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं. इस दौरान लीज लाइन और लूप लाइन की इंटरनेट की सेवाएं भी नहीं चलेंगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.