Take a fresh look at your lifestyle.

जय प्रकाश भाई पटेल ने कहा- मुझे नरेंद्र मोदी पसंद है, क्‍या जेएमएम के और भी विधायक करेंगे बगावत

0

Hazaribagh: झारखंड मुक्ति मोर्चा (Jharkhand Mukti Morcha) के एक विधायक के बगावती तेवर से यूपीए का मोदी विरोधी अभियान को झटका लगा है. जय प्रकाश भाई पटेल (Jai Prakash Bhai Patel) जो जेएमएम के मांडू विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं उन्‍होंने बगावत कर दिया है.

शुक्रवार को जेपी पटेल ने हजीराबाग में कहा कि झारखंड में विपक्षी दलों का गठबंधन स्वार्थ में बना है. इसलिए अब घूम-घूम कर एनडीए उम्मीदवारों के समर्थन में प्रचार करेंगे.

मीडिया से बातचीत में जयप्रकाश भाई पटेल ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी के विचारों और नीति-सिद्धांत से वे प्रभावित होकर यह फैसला लिया है. उन्होंने यह भी कहा कि सच कहना अगर बगावत है, तो हम भी बागी हैं.

सूत्रों के हवाले से जानकारी मिल रही है कि जेपी पटेल से जेएम के और छह विधायक  भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं के संपर्क में हैं. जेएमएम के ये विधायक भी जय प्रकाश भाई पटेल की तरह एक साथ पार्टी से बगावत कर सकते हैं.

जेएमएम विधायक का वीडियो वायरल

इस बीच जेएमएम विधायक का यह वीडियो देखते ही देखते फेसबुक, व्‍हाट्सएप, ट्विटर जैसे सोशल साइट पर वायरल हो गया है.

पार्टी के अंदर आखिर क्या बाते हुई, जिससे उन्होंने विरोध का मोर्चा खोला है, इस सवाल पर जयप्रकाश भाई पटेल ने कहा, मेरे जैसे लोगों की झामुमो में जरूरत नहीं रह गयी है. नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) मुझे पसंद हैं और उनके नेतृत्व में ही देश और राज्य के लोगों का भला हो सकता है.

महागठबंधन का बहिष्कार करते हुए उन्‍होंने कहा कि झारखंड की सभी 14 लोकसभा सीटों पर भाजपा के पक्ष में चुनाव प्रचार करेंगे. मेरे पिता टेकलाल महतो के जहां भी कार्यकर्ता, समर्थक हैं उनसे भी महागठबंधन के विरोध में काम करने को कहेंगे’.

जेपी भाई पटेल ने यह भी कहा कि वे बैग एंड बैगेज के साथ निकल गये हैं. हजारीबाग से यह काम शुरू हो चुका है. जेएमएम से बगावत के बाद किसी दल में शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद आगामी रणनीति का खुलासा करेंगे.

गिरिडीह से जेएमएम का टिकट चाहते थे

मांडू से जेएमएम के विधायक जेपी भाई पटेल जेएमएम के दिवंगत नेता टेकलाल महतो के बेटे हैं. टेकलाल महतो मांडू से पांच बार विधायक हुए हैं. 2004 में वह गिरिडीह से संसदीय चुनाव भी जीते थे. इस बार जेपी भाई पटेल गिरिडीह से टिकट चाहते थे. उन्होंने दावेदारी कर रखी थी. लेकिन जेएमएम ने डुमरी के विधायक जगरनाथ महतो को गिरिडीह से उम्मीदवार बनाया है.

वैसे जगरनाथ महतो और जेपी पटेल में चुनाव से पहले तक अच्‍छी बनती थी. लेकिन टिकट की दावेदारी को लेकर दोनों के बीच दूरियां भी बढ़ती गयी. जेएमएम के अंदरखाने इसकी चर्चा है कि इस दौरान एनडीए के कुछ नेता जेपी पटेल को हवा देते रहे. खबरों के मुतबिक पटेल पिछले कुछ दिनों से एनडीए के नेताओं के संपर्क में थे.

जेपी पटेल को जेएमएम का नोटिस

इस बीच जेएमएम के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने विधायक को कारण बताओ नोटिस भेजा है. साथ ही सात दिनों में जवाब मांगा है. जवाब नहीं मिलने या असंतोष जनक होने पर पार्टी विधायक के खिलाफ कार्रवाई करेगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More