JAC Board Exam 2021 के लिए मैट्रिक और इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा पैटर्न बदला, पढ़ें पूरी जानकारी

by

JAC Board Exam: 2021 की मैट्रिक और इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा का पैटर्न को अगले एक साल के लिए बदल दिया गया है. स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग के सचिव राहुल शर्मा ने स्पष्ट कहा कि कोविड-19 की वजह से स्कूलों में क्लास नहीं चल रहे हैं. इससे क्लास में छात्रों की उपस्थिति नहीं है. ऐसे में स्कूलों को मैट्रिक की परीक्षा में इंटरनल एसेसमेंट में उपस्थिति के आधार पर अंक देने में कठिनाई होगी. इसलिए 2021 की मैट्रिक की परीक्षा में विज्ञान को छोड़कर अन्य विषयों में 10 अंक का ही इंटरनल एसेसमेंट होगा.

अब मैट्रिक में 90 अंक की लिखित परीक्षा और 10 अंक का इंटरनल एसेसमेंट (आंतरिक मूल्यांकन) होगा. इसके पहले हर साल 20 अंक का इंटरनल एसेसमेंट हो रहा था.

Read Also  माही केयर फाउंडेशन ने मनाई तीसरी वर्षगांठ

स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने इसके साथ ही मैट्रीक और इंटरमीडिएट परीक्षा का वेटेज ऑफ मार्क्स तय कर लिया है. मैट्रिक में जहां विज्ञान छोड़ हर विषय में 30 प्रतिशत ऑब्जेक्टिव प्रश्न रहेंगे,  वहीं इंटरमीडिएट में इस तरह के 40 प्रश्न रहेंगे. मैट्रिक में सिर्फ साइंस में 20 प्रतिशत सवाल ऑब्जेक्टिव रहेंगे और 10 प्रतिशत का प्रैक्टिकल होगा. शिक्षा विभाग ने पहली बार वेटेज ऑफ मार्क्स तय कर झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) को भेज दिया है. जैक अगले एक-दो दिनों में इसे जारी करेगा.

राज्य सरकार ने कोरोना महामारी की वजह से स्कूल नहीं खुलने और पढ़ाई बाधित होने के बाद 40 फ़ीसदी सिलेबस में कटौती की थी. इसी आधार पर मैट्रिक और इंटरमीडिएट की 2021 की परीक्षा पैटर्न में बदलाव करने का निर्णय लिया था.

Read Also  एसोटेक हिल्स 30 माह में पूरी नहीं कर पाई पीएम आवास योजना के तहत पहला हाउसिंग प्रोजेक्ट, अब लॉकडाउन का कर रही है बहाना

सीबीएसई, राजस्थान और ओडिशा के मॉडल का अध्ययन के बाद वेटेज ऑफ मार्क्स तय किया गया है. जैक इसी आधार पर मॉडल प्रश्न पत्र तैयार करेगा और परीक्षार्थियों के लिए उसे जारी किया जाएगा.

ऑब्जेक्टिव में 20 फीसदी तक बढ़ोतरी

मैट्रिक की परीक्षा में हर साल 10 से 20 फ़ीसदी ऑब्जेक्टिव या वेरी शॉर्ट आंसर के प्रश्न आते थे. इसमें एक शब्द या एक वाक्य में उत्तर देना होता है. वहीं इंटरमीडिएट में 25 फ़ीसदी तक ऐसे प्रश्न पूछे जाते थे. इस आधार पर 2021 की मैट्रिक और इंटरमीडिएट में ऑब्जेक्टिव प्रश्न में 10 से 20 फ़ीसदी की बढ़ोत्तरी की गई है.

मैट्रिक: वेटेज ऑफ मार्क्स

विषय: हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू, गणित, सामाजिक विज्ञान, बिजनेस स्टडीज और अकाउंटेंसी

Read Also  पड़ोसी देशों का सहारा बना भारत, आज से बांग्लादेश, नेपाल सहित 6 देशों को मिलेगा कोरोना टीका

– ऑब्जेक्टिव या वेरी शॉर्ट आंसर: 30 प्रतिशत
– वेरी शॉर्ट टाइप प्रश्न: 20 प्रतिशत
– शॉर्ट आंसर: 20 प्रतिशत
– लॉन्ग आंसर: 20 प्रतिशत
– इंटरनल असेसमेंट: 10 प्रतिशत

इंटरमीडिएट: वेटेज ऑफ मार्क्स

विषय: हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, गणित, भौतिकी, रसायन शास्त्र, जीव विज्ञान, इतिहास, भूगोल, अर्थशास्त्र, बिजनेस स्टडीज, अकाउंटेंसी, अंतरप्राइनियोरशिप और बिजनेस मैथमेटिक्स
– ऑब्जेक्टिव या वेरी शॉर्ट आंसर: 40 प्रतिशत
– वेरी शॉर्ट टाइप प्रश्न: 20 प्रतिशत
– शॉर्ट आंसर: 20 प्रतिशत
– लॉन्ग आंसर: 20 प्रतिशत

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.