IPL 2020: खाली स्‍टेडियम में बिना दर्शकों के हो सकता है मैच

by

Mumbai: आज महाराष्‍ट्र सरकार आईपीएल 2020 को लेकर बड़ा फैसला लेगी. कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या 10 हो गई है. ऐसे में आईपीएल मैच कराना मुमकिन नहीं दिख रहा है. आईपीएल 2020 आयोजन को लेकर महाराष्‍ट्र सरकार के पास दो विकल्‍प हैं. पहला यह कि मैच के आयोजन को अगली तारीख के लिए टाल दे या फिर बिना दर्शकों के तय समय पर मैच कराये. आईपीएल 29 मार्च से शुरू होगा.

इधर महाराष्‍ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या 10 हो गई है. इनमें आठ मरीज पुणे के और दो मरीज मुंबई के हैं. बुधवार को पांच मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई. पुणे के मरीजों का इलाज नायडू अस्पताल में और दो मरीजों को उपचार मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में चल रहा है.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विधान भवन में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि सभी मरीजों की स्थिति गंभीर नहीं है, लिहाजा घबराने की जरूरत नहीं है केवल सावधानी बरतने की जरूरत है. कोरोना का मुकाबला करने के लिए सरकारी मशीनरी पूरी तरह से अलर्ट पक है. मुख्यमंत्री के मुताबिक बजट सत्र का कामकाज नियमों के अधीन रहते हुए शनिवार या रविवार को पूरा कर लिया जाएगा. बिना दर्शक आईपीएल मैच शुरू रखने के प्रस्ताव पर विचार करके निर्णय लिया जाएगा.

इसके पहले महाराष्ट्र स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि कैबिनेट बैठक में सभी मंत्री आज कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए IPL 2020 स्थगित करने की आम सहमति पर पहुंचे हैं. बुधवार को अंतिम निर्णय लिया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने बताया कि दुबई से वापस आए सभी चालीस लोगों का पता लगा लिया गया है. इनमें से तीन व्यक्ति कर्नाटक के हैं. सभी को जांच के दायरे में रखा गया है. सभी कोरोना संक्रमित मरीज दुबई दौरे से वापस आए 40 लोगों के दल में शामिल थे.

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने बताया कि सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों, सम्मेलनों, परिषदों और सभाओं को रद्द करने के निर्देश संबंधितों को दिए गए हैं. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि प्रत्येक जिला अस्पताल में एक अलग इन्सुलेटेड कक्ष बनाए गए हैं.

मेडिकल कॉलेज और मनपा अस्पतालों में भी इन्सुलेटेड कक्ष की व्यस्था की गई है. बेड की संख्या भी बढ़ाई गई है. इस तरह 650 से 700 अतिरिक्त बेड उपलब्ध होंगे. केंद्र सरकार ने डॉक्टरों को प्रशिक्षित किया है. प्रशिक्षित डॉक्टर राज्य में सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों को प्रशिक्षित करेंगे. अस्पतालों में कर्मचारियों के लिए व्यक्तिगत सुरक्षा किट उपलब्ध है. पर्याप्त वेंटिलेटर और दवाएं उपलब्ध हैं. पुणे में 18 और मुंबई में 15 संदिग्ध मरीज भर्ती हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.