बाइक एंबुलेंस की शुरूआत, मरीजों को मिलेगी आपात चिकित्‍सा सहायता

by

Deoghar: स्वास्थ्य व्यवस्था के साथ स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से देवघर में बाइक एंबुलेंस का शुभारंभ किया गया. देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री और पुलिस अधीक्षक अश्विनी कुमार ने हरी झंडी दिखाकर बाइक एम्बुलेंस की शुरुआत की.

बाइक एंबुलेंस शुभारंभ के मौके पर उपायुक्त मंजुनाथ ने बताया कि शहरी क्षेत्र के अलावा आसपास के क्षेत्रों में मुक्कमल स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से बाईक एम्बूलेंस की व्यवस्था की गयी है. वर्तमान में कई बार ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जा रही है, जब लोगों को ले जाने के लिए एंबुलेंस उपलब्ध नहीं हो पा रही है. ऐसी परिस्थितियों में अब लोगों की सुविधा के लिए बाइक एम्बुलेंस की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है.

Read Also  झारखंड में ब्लैक फंगस महामारी घोषित, कैबिनेट की मुहर

उपायुक्‍त ने कहा कि समय पर त्वरित गति से स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य से 5 बाईक एम्बूलेंस चलायी जायेगी. इसकी सहायता से तत्काल प्राथमिक उपचार लोगों को दी जा सकेंगी. साथ ही बाइक एम्बुलेंस से शहरी व आसपास के क्षेत्रों में भी स्वास्थ्य सुविधा लोगो को बड़ी आसानी से उपलब्ध कराई जा सकेगी.  इसके अलावे सकरी गली व छोटे जगहों पर जहां बड़े एम्बुलेंस नहीं पहुंच सकते वहां तुरंत बाईक एम्बुलेंस पहुंच सकेगी, ताकि लोगों को ससमय स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराई जा सके.

आगे उपायुक्त ने कहा कि जिला में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए जिला प्रशासन प्रयासरत है तथा उपलब्ध चिकित्सीय संसाधनों की नियमित समीक्षा कर बढ़ोत्तरी का लगातार प्रयास किया जा रहा है. साथ ही एम्बुलेंस चालकों की स्वास्थ्य सुविधा को देखते हुए उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी को आवश्यक व्यवस्था के अलावा मास्क, सेनेटाइजर, ग्लव्स,पीपी किट की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए.

Read Also  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की मानहानि मामले में ट्विटर फेसबुक को नोटिस

पुलिस अधीक्षक अश्विनी कुमार सिन्हा ने मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत के क्रम में जानकारी दी कि वर्तमान में एंबुलेंस के कमी को पूरा करने के उद्देश्य से हेल्पलाइन नंम्बर को डायल कर सहायता के लिए सूचित किया जा सकता है, ताकि बाइक एंबुलेंस का उपयोग कर लोगों को सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी. आगे उन्होंने बताया कि बाइक एम्बुलेंस का उपयोग जिला प्रशासन के साथ-साथ पुलिस से सहायता मांगने वाले मरीजों के लिए भी किया जाएगा.

इस दौरान उपरोक्त के अलावे सिविल सर्जन डॉ युगल किशोर चौधरी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी रवि कुमार, नजारत उप समाहर्ता परमेश्वर मुंडा, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मंगल सिंह जामुदा, साइबर डीएसपी श्रीमती नेहा बाला एवं संबंधित अधिकारी आदि उपस्थित थे.

Read Also  झारखंड में ब्लैक फंगस महामारी घोषित, कैबिनेट की मुहर

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.