पड़ोसी देशों का सहारा बना भारत, आज से बांग्लादेश, नेपाल सहित 6 देशों को मिलेगा कोरोना टीका

by

New Delhi: भारत सरकार ने भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार और सेशेल्स को अनुदान सहायता के तहत आज यानी 20 जनवरी से कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति शुरू कर दी है. कोविशील्ड वैक्सीन की 1.5 लाख डोड वाली पहली खेप भारत ने भूटना को रवाना कर दी है.

आज महाराष्ट्र के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट से भूटान की राजधानी थिम्पू के लिए वैक्सीन की पहली खेप रवाना कर दी गई. इसी तरह आज अलग-अलग समय पर भारत सरकार इन पड़ोसी देशों को वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी.

विदेश मंत्रालय ने बताया कि भारत सरकार को पड़ोसी और प्रमुख भागीदार देशों से भारत निर्मित टीकों की आपूर्ति के लिए कई अनुरोध प्राप्त हुए हैं. इन अनुरोधों के जवाब में आपूर्ति सुनिश्चित करने का फैसला किया गया है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि श्रीलंका, अफगानिस्तान और मॉरीशस के संबंध में आवश्यक नियामक मंजूरी की प्रतीक्षा है.

Read Also  बजट सत्र का दूसरा चरण आज से, पेट्रोल-डीजल पर चर्चा के लिए कांग्रेस ला सकती है स्थगन प्रस्ताव

मंत्रालय ने कहा कि स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं, अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों और अन्य को कवर करने के लिए चरणबद्ध तरीके से भारत में टीकाकरण कार्यक्रम लागू किया जा रहा है, चरणबद्ध रोलआउट की घरेलू आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए भारत आने वाले हफ्तों और महीनों में चरणबद्ध तरीके से कोविड टीकों की आपूर्ति जारी रखेगा. यह सुनिश्चित किया जाएगा कि घरेलू निर्माताओं के पास विदेश में आपूर्ति करते समय घरेलू आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए  पर्याप्त स्टॉक होगा.

टीकों की डिलीवरी से पहले एक प्रशिक्षण कार्यक्रम राष्ट्रीय और प्रांतीय, दोनों स्तरों पर आयोजित किया गया है. इसमें प्रशासनिक और परिचालन पहलुओं को कवर करते हुए 19-20 जनवरी 2021 को टीकाकरण प्रबंधकों, कोल्ड चेन अधिकारियों, संचार अधिकारियों और प्राप्तकर्ता देशों के डेटा प्रबंधकों को शामिल किया गया है.

भारत पहले भी कर चुका है मदद

मंत्रालय ने कहा भारत ने पहले महामारी के दौरान बड़ी संख्या में देशों को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, रेमडेसिविर और पेरासिटामोल गोलियों के साथ-साथ डायग्नोस्टिक किट, वेंटिलेटर, मास्क, दस्ताने और अन्य चिकित्सा आपूर्ति की थी. अलग-अलग भारतीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग कार्यक्रम के तहत सहयोगी देशों के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और प्रशासकों के लिए कई प्रशिक्षण पाठ्यक्रम आयोजित किए गए हैं, जो महामारी से निपटने में हमारे अनुभव को साझा करते हैं.

Read Also  Bihar के खगड़िया में स्कूल की दीवार गिरने से 6 मजदूरों की मौत

मंत्रालय ने कहा कि सतत प्रयास के तहत भारत दुनियाभर के देशों को टीकों की आपूर्ति जारी रखेगा. जिसमें विकासशील देशों के लिए गावी के तहत कोवाक्स सुविधा शामिल है.

भारत बांग्लादेश को 20 लाख टीके का तोहफा देगा

भारत अपने पड़ोसी देश बांग्लादेश को तोहफे के रूप में कोरोना रोधी कोविशील्ड टीके की 20 लाख खुराकें देगा. बांग्लादेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को लिखे गए भारतीय उच्चायोग के पत्र का हवाला देते हुए मीडिया में कहा गया कि एक विशेष विमान से ये टीके शाहजलाल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 20 जनवरी को आएंगे.

स्वास्थ्य मंत्री जाहिद मालेक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) द्वारा कोरोना टीकों के लिए अतिरिक्त भंडारण प्रदान किया जाएगा. गौरतलब है कि 8 जनवरी को बांग्लादेश ने भारत से कोविशील्ड टीके की 30 मिलियन खुराक की खरीद को मंजूरी दी थी.

Read Also  बंगाल चुनाव में भाजपा ने आजसू के लिए छोड़ी बाघमुंडी सीट, 57 उम्‍मीदवारों की सूची जारी

कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन ने कोरोना रोधी टीका उपलब्ध कराने में भारत सरकार से मदद मांगी है. उन्होंने अनुरोध किया कि कंबोडियाई लोगों को संक्रमण से बचाने में मदद करने के लिए भारत कोरोना टीकों का दान करे. कंबोडिया में भारतीय राजदूत देवयानी उत्तमखोबरागड़े के साथ अपनी बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने यह अनुरोध किया. हुन सेन ने भारत को कोरोना टीकों के सफल उत्पादन के लिए बधाई दी. हाल ही में चीन द्वारा दान किए गए टीकों के बावजूद कंबोडिया को अभी लाखों टीकों की जरूरत होगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.