पंचायत के सामने दो लाख में हुआ था नाबालिग की इज्जत का सौदा

by

#Ranchi: डरा धमका कर कागजात पर हस्ताक्षर कराया: मिली  जानकारी के मुताबिक बच्चे को जन्म देनेवाली युवती की इज्जत का सौदा पंचायत में दो लाख रुपये में तय किया गया था. इसके साथ ही स्टांप पेपर में  गुलरेज अंसारी को आरोप मुक्त करार देते हुए घटना को सरासर गलत व बेबुनियाद बताया  गया है.

लेकिन, चूंकि पीड़िता का परिवार गरीब है, इसलिए शादी में मदद के नाम  पर दो लाख रुपये देने की बात कही गयी है. इसके साथ ही एकरारनामा के  दिन यानी 27 जुलाई को 80 हजार रुपये नकद पीड़िता के पिता नसीम अंसारी को  दिये जाने तथा बाकी बचे 1.20 लाख रुपये 20 अगस्त को देने का भी जिक्र है.

इस समझौता पत्र पर पीड़िता के माता पिता व गुलरेज अंसारी के पिता जहांगीर  अंसारी सहित 3 गवाहों का हस्ताक्षर है. इस संबंध में नसीम अंसारी ने बताया कि  उन्हें डरा धमका कर कागजात पर हस्ताक्षर कराया गया है. साथ ही जोर जबरदस्ती करते हुए 80  हजार रुपये देकर भेज दिया गया. इसके अलावा तसलीम खान नामक व्यक्ति ने मेरे  साथ थाने में जाकर एक आवेदन दिलाया है कि मैं  रातू थाने में प्राथमिकी  दर्ज कराने के लिए दिये गये आवेदन को वापस लेता हूं.

Read Also  Father's Day 2021: एक पिता का संघर्ष जिन्होंने दिव्यांग बेटे के लिए आविष्कार तक कर दिया

पीड़ित परिवार को रातू छोड़ने की धमकी

नसीम  ने बताया कि पिर्रा गांव सहित फुटकल टोली के दबंगों द्वारा लगातार मुझे और  मेरे परिवार को धमकी दी जा रही है कि रातू छोड़कर चले जाओ वरना अंजाम बुरा  होगा. इस घटना के बाद पूरा परिवार दहशत में है, क्योंकि परिजनों के साथ  मारपीट भी की गयी है.

समझौता होने का सवाल ही नहीं उठता है

आरती कुजूर ने बताया कि दोनों बहनों के मामले में समझौता होने का सवाल ही नहीं उठता है. इसलिए समझौता करानेवाले रातू थानेदार, फुटकल टोली अंजुमन के सदर, आरोपी के परिजन सहित समझौते में शामिल सभी लोग दोषी हैं.

यह भी कहा कि मामला सीडब्ल्यूसी की जानकारी में था. इसके बावजूद इतने दिनों तक मामला कैसे दबा रहा, इसकी भी जांच की जायगी. केस रातू थाना में रजिस्टर्ड हो चुका है.

Read Also  सुदेश महतो का जन्मदिन आजसू ने सेवा दिवस के रूप में मनाया

दुष्कर्म के आरोपी रातू निवासी गुलरेज अंसारी पिता जहांगीर अंसारी को पुलिस ने जेल भेज दिया है. साथ ही उसकी छोटी बहन के साथ फुटकल टोली रातू के दबंग जमीन कारोबारी व बिल्डर मोजिम अंसारी ने दुष्कर्म किया था. उसे भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है़  इस पीड़िता का भी प्रसव कुछ दिन में हो जायेगा.

फिलहाल टीम ने दोनों युवतियों व इनके परिजनों की सुरक्षा का इंतजाम करने, मामला दबाने वालों पर कार्रवाई करने, कानूनी सलाह देने, मेडिकल और काउंसलिंग में मदद करने का निर्देश डीएसपी और डीसीपीओ को दिया है. वहीं तन्नुश्री सरकार ने बताया कि पैसों का लालच देकर पूरे मामले को दबाया गया था. मीडिया मेें खबर आने के बाद मामला संज्ञान में आया है. हमलोग कार्रवाई करेंगे.

Read Also  फीस नहीं जमा करने से रांची के कारण निजी स्कूल स्टूडेंट को ऑनलाइन क्लास से कर रहे हैं रिमूव

रविवार को रातू की नाबालिग अविवाहित युवती को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कांके से छुट्टी दे दी गयी. इसके बाद नारी निकेतन की केयर टेकर भांति कच्छप बच्चे और मां को लेकर पुन: नारी निकेतन पहुंची. वहीं रातू थाना में मामला दर्ज कर आरोपी गुलरेज अंसारी को जेल भेज दिया गया है.

इधर, फुटकलटोली निवासी  55 वर्षीय मोजिम अंसारी को भी रातू पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया.  उसने लड़की को घर में अकेला देख अक्तूबर में दुष्कर्म किया था तथा किसी को  बताने पर जान से मारने की धमकी दी थी. इस बात की सूचना युवती ने मां को दी  तो उन्होंने अंजुमन के सदर से न्याय की गुहार लगायी, लेकिन एक नहीं  सुनी गयी. इसके बाद इस साल मई में जब युवती सदर अस्पताल गयी ,तो पता चला कि वह  गर्भवती  है. उसके बाद डेढ़ माह तक निर्मल हृदय में रहने के बाद वहां से नामकुम होते  नारी निकेतन आ गयी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.