फेथाई का असर: ओडिशा, आंध्र प्रदेश समेत तीन राज्यों में हाईअलर्ट

by

झारखंड और बिहार समेत कई राज्‍यों में पिछले कुछ घंटों से हल्‍की बारिश शुरू हो गयी है. रविवार देर रात से इन इलाकों में हल्‍की बारिश भी शुरू हो गयी है. आसमान में बादल और कोहरा छाया हुआ है. तापमान नीचे चला गया है. मौसम का यह बदलाव चक्रवात ‘फेथाई’ का प्रभाव झारखंड के साथ दक्षिण बंगाल, ओड़िशा और दक्षिणी बिहार में भी है. ‘फेथाई’ आंध्र प्रदेश के तटों से टकराया है. इसके चलते सोमवार को झारखंड समेत कई राज्यों में बारिश शुरू हो गयी है.  रविवार को  झारखंड के कई इलाके में बादल छाये रहे. रांची सहित कई स्थानों पर रविवार की रात हल्की बूंदाबांदी भी हुई.

मौसम विभाग ने कहा है कि सोमवार दोपहर के बाद आंध्रप्रदेश में इस चक्रवात के पहुंचने के बाद यह उत्तर-पूर्व की तरफ मुड़ेगा. हावड़ा, पूर्वी और पश्चिम मिदनापुर, पुरूलिया, बांकुरा, पश्चिम बर्दवान, झाड़ग्राम और हुगली जिले के एक-दो स्थानों पर सोमवार को भारी बारिश हो सकती है. 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में चल सकती हैं. रांची और कोलकाता में भी सोमवार को हल्की से मध्यम बारिश हो रही है. तूफान के कारण आंध्र प्रदेश में हाइ अलर्ट जारी किया गया है. वहां इसका असर ज्यादा होगा.

पहाड़ों पर बर्फबारी से मैदानी इलाकों में बढ़ी ठंड

जम्मू-कश्मीर व हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी के साथ हल्की-फुल्की बारिश होने की वजह से ठंड ने पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है. श्रीनगर में शनिवार की रात इस मौसम की सबसे सर्द रात रही, जबकि कश्मीर घाटी और लद्दाख क्षेत्र में पारे में गिरावट जारी है. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में शनिवार रात को पारा शून्य से 5.6

डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि शुक्रवार रात यह शून्य से 4.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था.

50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवा

चक्रवाती तूफान ‘फेथाई’ के कारण रविवार को आंध्र प्रदेश, उत्तरी तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटीय इलाकों में 45 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं. सोमवार को चक्रवाती तूफान के और गंभीर होने की संभावना है. इन तटीय इलाकों में तेज हवा के साथ भारी बारिश की आशंका है. यह चक्रवात सोमवार को ओंगोल और काकीनाडा के बीच होकर गुजरेगा.

आंध्र प्रदेश में तैयारी

02 टीमें एसडीआरएफ की तैनात

50 राहत शिविर खोले गये हैं

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.