भाजपा शासित राज्यों में टीकाकरण उत्साहजनक, गैरभाजपा शासित राज्य में टीकाकरण धीमा

by

Ranchi: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने हेमन्त सरकार पर कोरोना सुरक्षा के प्रति लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए कहा कि हेमन्त सरकार की विफलता है कि देश में टीकाकरण सबसे निचले स्तर पर झारखंड में है. उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रोन को विश्व के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया है, यह पूरे दुनिया में तेजी से फैल सकता है. बावजूद हेमन्त सरकार कोरोना जांच व वैक्सिनेसन अभियान सुस्तचाल में चल रही है.

Read Also  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को कोर्ट में लगानी होगी हाजिरी

कोविड जांच मशीन की खरीद नहीं होने पर उठाया सवाल

उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रान के बाद से केंद्र सरकार अलर्ट पर और सतर्क है. लेकिन, झारखंड सरकार कितनी लापरवाह है , इसकी बानगी देखिए. कोरोना के वैरिएंट का पता करने के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग मशीन आवश्यक है. मशीन खरीदने से संबंधित फाइल 6 माह से रिम्स में अटकी हुई है. इस कारण वायरस के नए वैरिएंट का पता करने के लिए पुणे पर निर्भर रहना पड़ेगा. जब तक वहां से कोरोना मरीज के वैरिएंट का पता चलेगा, तब तक नया वैरिएंट झारखंड को अपनी चपेट में ले सकता है. झारखंड सरकार और रिम्स प्रबंधन को कुंभकर्णी नींद से जाग जानी चाहिए.

Read Also  ओड़िशा दौरे पर युवा राजद प्रदेश प्रभारी:विशु विशाल यादव

झारखंड में टीकाकरण सबसे निचले स्तर पर, अभियान तेज करने की मांग

उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव में वैक्सीन ही सर्वोत्तम उपाय है. इसे देखते हुए भाजपा और इसके गठबंधन प्रदेशों में 60 से 90 फीसदी तक डबल डोज व सिंगल डोज 80 से 100 फीसदी वैक्सीन हो चुका है. जबकि झारखंड डबल डोज के मामले में सबसे निचले स्तर पर है. झारखंड में अब तक मात्र 30 फीसदी डबल व 66 फीसदी सिंगल डोज दिया जा पाया है. उन्होंने कहा कि इसी प्रकार कांग्रेस और इसके गठबंधन प्रदेशों की स्थिति बद से बदतर है. पंजाब, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल की स्थिति निचले स्तर पर है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.