Hyundai की नई क्रेटा ‘टर्बो’ मॉडल लग्जरी कार को देगा टक्कर, जानें कैसे

ऑटो सेक्शन के लिए साल 2020 एक यादगार साल कहा जाए ऐसा मुनासिब नहीं नजर आ रहा है. मगर इसी साल हुंडई की तरफ से नई एसयूवी क्रेटा के नए मॉडल को लॉन्च किया गया है. एक तरफ जहां ऑटो इंडस्ट्री में मंदी के बाद लोगों को फिर से यह उम्मीद थी कि कार सेक्शन में बाहर देखने को मिलेगी मगर लॉकडाउन के दौरान अभी ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है. मगर दिग्गज कार कंपनी हुंडई अपनी नई डीसीटी टर्बो पेट्रोल को लेकर आश्वस्त नजर आ रही है. आइए जानते हैं इस खास मॉडल के खूबियों और फीचर्स के बारे में.

एक्सटीरियर

पुरानी क्रेटा मॉडल को ग्राहकों की तरफ से खासतौर पर पसंद किया गया था.

नए टर्बो मॉडल के बारे में बात करें तो इसमें खासतौर पर केबीन स्पेस ज्यादा दिया गया है. हालांकि यह सेग्मेंट ग्राहकों के मूड के ऊपर डिपेंड करता है. अपनी पुरानी मॉडल की तरह दिखने वाली क्रेटा आपको अपने नए लुक में कुछ आकर्षक जरूर लग सकती. कार की फ्रंट की बात करें तो खासतौर पर तीन हेड लैंप और एक बड़ी ग्रिल स्ट्रक्चर दिया गया है जिसमें काफी स्पेस नजर आता है. इसके अलावा गाड़ी के फ्रंट में कुछ विजिबल चेंज किए गए हैं खासतौर पर एलईडी लैंप के अंदर. ग्रिल की बात करें तो उसे कोड वेरिएंट की तरह लगाया गया है और क्रोम का इस्तेमाल किया गया है. सेंट्रग ग्रिल के साथ साथ स्किट प्लेट को ऑल ब्लैक रखा गया है.

इसके अलावा साइड फ्रंट के ऊपर डीसीटी की बैजिंग दी गई है. पहले वेरिएंट्स की तुलना में एलॉय व्हील के रंग में भी बदलाव किया गया है और थोड़ा ग्रे रंग देने की कोशिश की गई है. डोर हैंडल्स की बात करें तो टर्बो मॉडल में यह बॉडी कलर में उपलब्ध होंगे. रूफ रेल और रियर बंपर की बात करें तो इसका रंग भी ब्लैक ही रखा गया है. साथ ही बूट लोवर के ऊपर टर्बो की बैजिंग भी मिलती है.

खास तौर पर सिर्फ टर्बो मॉडल के अंदर डूअल एग्झॉस्ट स्टिक मिलने वाली है, जो इसे एक स्पोर्टी लुक देती है. बूट डोर के ऊपर क्रेटा और हूंडई का एंब्लेम भी देखने को मिलता है. स्पॉइलर के ऊपर भी ब्लैक कलर का इस्तेमाल किया गया है. टेल लैंप्स की बात करें तो खास तौर भारत में बेचे जानी वाली गाड़िंयों थोड़ा अलग नजर आता है. हालांकि, यह डिजाइन ग्राहकों की पसंद पर निर्भर करता है.

इंटीरियर

डैशबोर्ड और स्पीडो कंसोल की बात करें तो टर्बो में डिजिटल स्पीडो कंसोल दिया गया है. हालांकि, ये फुल डिजिटल कंसोल में नहीं आते क्योंकि चंद ऐसे भी बार्स हैं जो एनालॉग में नजर आते हैं. डैशबोर्ड के इंफोटेन्मेंट की बात करें तो 10.25 इंच की इसकी स्क्रीन दी गई है. एंटीरियर को पूरी तरह से ब्लैक कलर में ही रखा गया है और डैशबोर्ड के अलग-अलग सेग्मेंट में लाइटिंग और रेड इंसर्ट्स का भी इस्तेमाल किया गया है, जो इसे एक स्पोर्टी लुक भीतर से मुहैया कराती है.

सीट की बात करें तो टर्बो वेरिएंट में लेदर की वेंटिलेटिंग सीट दी गई हैं, जिसका कंट्रोल सेंट्रल कंसोल में दिया गया है. सेंट्रल कंसोल के अंदर इलेक्ट्रिक पार्किंग ब्रेक्स और ड्राइवर रियर व्यू मॉनीटर भी इस वेरिएंट के अंदर मिलता है. वहीं रूफ टॉप की बात करें तो टर्बो में फुल पैनारोमिक व्यू मिलने वाली है. कार के बूट स्पेस की बात करें तो एक अच्छा बूट स्पेस टर्बो मॉडल में दिया गया है.

फीचर्स

अन्य फीचर्स के लिहाज से यह कार अपने फीचर्स से लग्जरी कार को भी टक्कर देने का हुनर जानती है. एक नई हुंडई टर्बो में जो खास चीज है वह है पावर्ड ड्राइवर सीट, वायरलेस चार्जिंग, ऑटो क्लाइमेट कंट्रोल, रियर एकवंट्स, पुश बटन स्टार्ट आदि सभी कुछ हैं, लेकिन मैं उन चीज़ों का ज़िक्र करना जरूरी है, जो इसे दूसरों से अलग करती हैं और इसमें एक बड़े पैमाने पर शामिल है. पैनारोमिक सनरूफ, वेंटीलेटेड फ्रंट सीट्स, इलेक्ट्रॉनिक पार्किंग ब्रेक, ब्लू लिंक कनेक्टिविटी फीचर्स और बोस ऑडियो सिस्टम.

इसके एंफोटेन्मेंट के लिए टचस्क्रीन का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जा सकता है. फिजिकल टच फीचर्स दिए गए हैं लेकिन आप हेल्लो ब्लू लिंक के जरिए अपने कार से बात भी कर सकते हैं. इस फीचर की मदद से आप सनरूफ को ओपन कर सकते हैं और सीट की वेंटीलेशन का ऑन कर सकते हैं. इस सुविधा के जरिए आप अपनी आवाज को इस का रिमोट कंट्रोल बना सकते हैं.

ड्राइविंग

दो पेट्रोल और एक डीजल सहित तीन इंजन विकल्पों में से, हमारे पास 140 बीएचपी और 242Nm के साथ रेंज टॉपिंग 1.4 टर्बो पेट्रोल है. कोई मैनुअल नहीं है, लेकिन 7-स्पीड डीसीटी आपको निराश नहीं करता है। फर्स्ट इंप्रेशन बताते हैं कि यह इंजन रिफाइंड होने के साथ आपके जेब पर बिल्कुल फिट है क्योंकि कार की कीमत के हिसाब से लो-स्पीड प्रगति से निपटने में गियरबॉक्स काफी प्रीमियम नजर आता है. स्टीयरिंग भी हल्का है और अपने आकार में पर्याप्त है, क्रेटा पहिया के पीछे की तरफ से ‘वेन्यू’ की तरह महसूस होता है. पिछले क्रेटा की तरह ड्राइविंग पोजिशन भी दी गई है लेकिन स्टेरिंग को हाथों में थामना एक सुखद अनुभव काराता है.

ड्राइविंग को लेकर कई तरह के मोड दिए गए हैं. जिनमें स्पोर्ट मोड भी लेकिन मेरे मुताबिक कंफर्ट सबसे बेहतर है. यह काफी रिस्पॉन्सिव के साथ साथ उनकी एनर्जी जेनरेट करता जितनी जरूतर है. नॉर्मल सिटी ड्राइल के दौरान हमारे मुताबिक यह कार 8-9 कीलोमीटर प्रतिलीटर का एवरेज देती है, मगर इको मोड में कार 11-12 किलोमीटर प्रति लीटर का एवरेज देती है. अन्य कई मोड भी इस काम में दिए गए हैं जैसे मड और सैंड मोड लेकिन ईमानदारी से क्रेटा केवल ऑन रोड के लिए है ऑफ रोड के लिए नहीं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.