शिक्षा मंत्री के बीमार रहने का असर Jharkhand Education पर, कोरोना काल में CM Hemant Soren संज्ञान लें: Sudesh Mahto

by

Ranchi: आजसू प्रमुख सुदेश महतो ने कहा है कि कोरोना महामारी का असर सिर्फ स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था पर ही नहीं पड़ा है, बल्कि इसका प्रभाव जीवन के सभी क्षेत्रों पर है. कोरोना महामारी का शिक्षा के क्षेत्र में बहुत ज्यादा ही असर पड़ा है. खासकर स्कूली छात्र-छात्राएं इससे व्यापक रूप से प्रभावित हो रहे हैं.

आजसू प्रमुख ने प्रेस बयान जारी कर कहा है कि पिछले कुछ महीनों से हमारे शिक्षा मंत्री गंभीर रूप से अस्वस्थ होने के कारण हमारे शिक्षाव्यवस्था में ठोस निर्णय क्षमता का अभाव दिख रहा है. हमारे मुख्यमंत्री जी को इस विषय पर गंभीर समीक्षा करने की जरूरत है.

सुदेश महतो ने कहा है कि फिलहाल स्कूल बंद होने की वजह से छात्रों को किताबें वगैरह उपलब्ध नहीं हो रहे हैं, घर पर कंप्यूटर, इंटरनेट या पर्याप्त संख्या में मोबाइल ना होने के कारण जहां ऑनलाइन पढ़ाई में छात्रों को परेशानियां हो रही हैं, वहीं लड़कों को लड़कियों पर प्राथमिकता दी जा रही है.

Read Also  सोनिया-राहुल संग बैठक में भाग लिये झारखंड कांग्रेस के बड़े नेता, 1 नवंबर से व्‍यापक सदस्‍यता अभियान चलाएंगे

कोरोना के कारण हुए आर्थिक तंगी के कारण लड़कियों की पढ़ाई छूटने का भी डर शामिल हो गया है.

उन्होंने कहा है कि आर्थिक तौर पर कमजोर परिवारों का कोरोना लॉकडाउन के बाद उनके घर में आर्थिक तंगी हो गई है और उनके पास खाने को भी पर्याप्त नहीं बचा है. ऐसे हालात में बच्चों खासकर लड़कियों की पढ़ाई की जिम्मेदारी उठाने की स्थिति में ये परिवार नहीं हैं.

दसवीं तथा बारहवीं कक्षा के छात्रों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इन कक्षाओं की पढ़ाई, उनकी भविष्य की नीव डालती है. सिर्फ पास करवा देने पर उनकी आगे की प्रतियोगिता परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने की क्षमता को कमजोर कर सकती है. इनके लिए विशेष कोचिंग की व्यवस्था करनी होगी.

Read Also  सोनिया-राहुल संग बैठक में भाग लिये झारखंड कांग्रेस के बड़े नेता, 1 नवंबर से व्‍यापक सदस्‍यता अभियान चलाएंगे

मुख्यमंत्री जी से यह अपील है कि वे खुद इस विषय को गंभीरता से लेते हुए, झारखंड के छात्रों का शिक्षा व उनके भविष्य के करियर को सुनिश्चित करें.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.