Take a fresh look at your lifestyle.

वेबसाइट बनाने का तरीका | How To Start Your Own Website In Hindi

0

How To Start Your Own Website In Hindi : आजकल हर एक बिजनेस या ब्लॉग लिखने के लिए वेबसाइट की जरुरत होती है. ब्लॉग लिखना आजकल के समय में बहुत फेमस है. कई लोग इसे शौक के तौर पर तो कई इसे एक बिजनेस के रूप में शुरू करते है. ब्लॉग राइटिंग कई लोगों का सपना होता है, लेकिन सही जानकारी न मिलने की वजह से वे इसकी शुरुवात नहीं कर पाते है. बिजनेस के लिए भी वेबसाइट का होना बहुत जरूरी होता है. आज के मेरे इस आर्टिकल में आपको वेबसाइट बनाने की शुरुवात से अंत तक की जानकारी मिलेगी. अब वेबसाइट बनाने के लिए बहुत अधिक टेक्निकल ज्ञान की जरूरत नहीं है, आप अगर कंप्यूटर चलाना जानते है, इन्टरनेट आता है तो आप बहुत अच्छी वेबसाइट बना सकते है. हम आपको सभी जानकारी देने की कोशिश करेंगे.

वेबसाइट की शुरुवात कैसे करें (How to create a website in Hindi)

एक वेबसाइट अच्छे से कार्य करे उसके लिए 3 चीजों की आवश्कता होती है –

  • डोमेन का चुनाव, और अपने वेबसाइट के लिए उसे रजिस्टर करें
  • वेब होस्ट बनायें, जिससे इन्टरनेट पर वेबसाइट काम कर सके
  • वेबसाइट की थीम को इनस्टॉल करें

ये अभी आपको नहीं समझ आ रहा होगा, मैं आपको ये स्टेप विस्तार से आगे समझाती हूँ.

स्टेप 1 : डोमेन का चुनाव (Select your Domain) –

इन्टरनेट पर हर वेबसाइट को एक डोमेन नाम की जरूरत होती है. यह एक एड्रेस की तरह होता है, जिससे लोग आपके डोमेन नाम को टाइप कर आपके ब्लॉग तक पहुँच सकते है. किस तरह का ब्लॉग आप लिखना चाहते है, उसी तरह का नाम चुने. आप चाहें तो अपने नाम का भी डोमेन नाम चुन सकते है. आप .com या .in या .net का भी चुनाव कर सकते है. डोमेन नाम मौजूद है कि नहीं ये भी देखना जरुरी होता है. आजकल फ्री डोमेन उपलब्ध रहते है.

if-your-domain-name-stolen..jpg

  • ऐसा डोमेन नाम चुने जो याद रखने में आसान हो, और बहुत आकर्षित हों.
  • ऐसा नाम चुने जो आपके वेबसाइट को अच्छे से दर्शाए औरआकर्षित, विस्तृत और रचनात्मक होना चाहिए.

अगर आपने डोमेन नाम का चुनाव कर लिया हो तो उसको आप स्टेप 2 जहाँ हमने वेब होस्टिंग के बारे मैं लिखा है वही से खरीब सकते हैं. इससे फायदा ये होगा की आपको डोमेन नाम free मैं मिल जायेगा और साथ ही 50 डॉलर्स यानी करीब 4 हज़ार रुपए बचा सकते हैं. इसके लिए आप स्टेप 2 पड़े.

स्टेप 2: वेब होस्ट सेटअप

डोमेन नाम का चुनाव के बाद आपको एक अकाउंट सेट करना होगा, जो वेब होस्ट कंपनी के द्वारा सेट होता है, ये आपके ब्लॉग को इन्टरनेट पर 24/7 लोगों के सामने प्रस्तुत करेगा. बहुत सारी वेब होस्टिंग कंपनी आज मौजूद है, जो न्यू ब्लॉगर को छोटा अकाउंट बनाकर देती है, जिनका महीने का चार्ज भी कम होता है. वेब होस्ट कंपनी का चुनाव करने से पहले ये देख लें कि उस कम्पनी की रिपोर्ट कैसी है, सर्वर स्पीड कैसी रहती है. ये सब बहुत जरुरी बातें है.

banner-web-hosting.png

होस्टिंग अकाउंट के लिए आपको रजिस्टर करना होगा, जिसमें डोमेन नाम डालना होगा. आप डोमेन का नाम और होस्ट दोनों एक जगह से भी ले सकते हैं. हमारे पास एक ऑफर है जिसके द्वारा आपको होस्टिंग केवल 69.40 डॉलर में मिल जाएगी, जो कि 119.40 डॉलर की होती है.

होस्टिंग के लिए ऑफर पाने के लिए $50 ऑफर पर क्लिक करें.

और फिर गेट स्टार्टेड नाउ (Get Started Now) करके एक लिंक दिखेगा, उसपर क्लिक करे और नीचे दिए गए इमेज की तरह दिखेगा.

इस पर क्लिक करने के बाद आपको नीचे दी गयी स्क्रीन दिखेगी, जिसमे 50 डॉलर का ऑफर ऊपर ही दिख जायेगा, जैसे कि नीचे दिख रहा है.

सबसे पहले आपको अपना ईमेल डालना होगा और एक कठिन पासवर्ड चुनना होगा. इसके बाद आपको डोमेन नाम लेना होगा. स्टेप 1 में दिए गए निर्देश अनुसार एक डोमेन नाम लिखे. Enter करने पर आपको वो बता देगा कि वो डोमेन नाम मिल रहा है या नहीं. अगर डोमेन मिल रहा होगा, तो उसके नीचे डोमेन की कीमत लिखी होगी जो कि 1 डॉलर से ले कर 15 डॉलर तक हो सकती है. डोमेन नाम के चुनाव के बाद continue बटन पर क्लिक करे.

अगली स्क्रीन पर 3 प्लान दिखेंगे. आप अगर 1 साल या 3 साल का प्लान लेंगे तो आपको 50 डॉलर का डिस्काउंट मिल जायेगा. मैंने 69.40 डॉलर के प्लान का चुनाव किया और continue बटन पर क्लिक किया.

अगली स्क्रीन पर कुछ एडिशनल प्रमोशन के ऑफर होंगे, पर अभी आप select नहीं करना और बस continue बटन को क्लिक कर दे. इसके बाद आपको पेमेंट करना होगा.

Bluehost Vs Hostgator Vs Dreamhost

मार्किट में और भी बहुत सी होस्टिंग कंपनी हैं पर dreamhost हमे बेस्ट लगती है. हमने नीचे dreamhost को bluehost और hostgator के साथ किया है.

स्टेप 3: ब्लॉग स्क्रिप्ट तैयार करना

ब्लॉग तैयार करने के बहुत सारे तरीके है. स्क्रिप्ट के लिए आप कोई सॉफ्टवेयर खरीद सकते है, या फ्री स्क्रिप्ट भी देख सकते है. वर्डप्रेस फ्री ब्लोगिंग स्क्रिप्ट है, जो आज के समय में दुनिया की बहुत सारी वेबसाईट द्वारा उपयोग की जाती है. ये बहुत आसान और फेमस तरीका है. इसमें आप अपने ब्लॉग को कस्टमाइज भी कर सकते है.

वर्डप्रेस में 1000 से ज्यादा पहले से डिजाईन थीम है, जिनका उपयोग कर आप अपने ब्लॉग को और आकर्षित और अलग बना सकते है. आपको किसी वेब डिज़ाइनर के पास जाकर अपने ब्लॉग को तैयार करवाने की जरूरत नहीं है, ये डिज़ाइनर पैसा लेते है, लेकिन आप वर्डप्रेस में फ्री थीम में काम कर सकते है. वर्डप्रेस को अपनी वेबसाइट के लिए डाउनलोड करें और उसका उपयोग करें.

यदि आप कोई थीम लेना चाहते है, तो Genesis Framework ले. यह करीब 60 डॉलर की होगी. यह बहुत ही सरल थीम है और अच्छी भी दिखती है. ध्यान रखे फ्री का सामान फ्री का ही होता है और हम सलाह देंगे कि एक अच्छी थीम लेना बहुत जरुरी है. आपको अगर ये थीम अच्छी नहीं लगे, तो आप गूगल करके और भी अच्छी थीम ले सकते हैं.

अगर आपको शुरुवाती सेटअप करने में कोई परेशानी हो तो हमे contact us पेज के जरिए बताये और हम आपकी मदद करने की कोशिश करेंगे.

ब्लॉग को मैनेज करना

ब्लॉग को मैनेज करने के लिए आपको बेकएंड में जाकर लॉग इन (/login) करना होगा. इसमें आपको डोमेन नाम के आगे लॉग इन लिखना होगा. इससे डैशबोर्ड खुल जायेगा. डैशबोर्ड में सभी पेज, पोस्ट, टैग, कमेंट, कैटेगरी रहेगी, जिसे आप चेंज भी कर सकते है. जितना आप इस पर काम करेंगें, उतना आप इसे समझते जायेंगें.

पोस्ट

पोस्ट बनाने के बाद वर्डप्रेस में पेज सेलेक्ट करे, जहाँ वो दिखाई देगी. यहाँ पब्लिश होने की तारीख, लिखने वाले का नाम, कमेंट बॉक्स होगा, जिस पर विजिटर जाकर अपने कमेंट कर सकते है.

मीडिया

मीडिया मेनू में आपके फोटो और विडियो रहेंगें, जो आप ब्लॉग में शेयर करते है.

लिंक

लिंक सेक्शन में आप अलग अलग लिंक बना सकते है.

पेज

आप इसका प्रयोग कर अपने ब्लॉग में नए पेज जोड़ सकते है. यहाँ पेज की सेटिंग के लिए बहुत से विकल्प मौजूद रहते है.

दिखावट

इसमें आप अपने ब्लॉग को कस्टमाइज कर सकते है, वो कैसा दिखेगा, उसकी थीम, मेनू, साइडबार सब आप चुन सकते है. यहाँ पेज को अच्छा बनाने के बहुत से तरीके है, जिसे आप अपनी मर्जी अनुसार चुन सकते है.

प्लगइन

प्लगिन अच्छा टूल है, अगर सही ढंग से उपयोग किया जाये. इससे ब्लॉग की परफॉरमेंस अच्छी होगी, सर्च इंजन में वेबसाइट उपर आएगी, विसुअल स्टाइल और लुक अच्छा होगा.

सेटिंग

सेटिंग मेनू में जाकर आप ब्लॉग नाम, मीडिया सेटिंग, तारीख, फ्रंट पेज का डिस्प्ले और विवरण मैनेज कर सकते है.

फ्री ब्लॉगर को होने वाली परेशानी

ब्लॉगर बनने के लिए आपने फ्री डोमेन तो चुना है, लेकिन आगे चलकर आपको कुछ परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है जैसे –

  1. फ्री, फ्री नहीं है फ्री ब्लॉग साईट, आपको फ्री स्पेस तो देती है, लेकिन वे इससे अच्छी कमाई भी करती है. वे आपको इसलिए स्पेस नहीं देती कि वो आपको पसंद करती है. वे आपकी मेहनत से लिखे गए ब्लॉग से अच्छी कमाई करते है. ये इन तरीकों से होता है –
  • वे एड स्पेस बेचते है फ्री ब्लॉग साईट आपके ब्लॉग में विज्ञापन डालते है. आपके ब्लॉग में कौन विज्ञापन डाला गया, आप इसके बारे में कुछ भी नहीं कह सकते है. इसके साथ ही इन एड से मिलने वाले पैसे के लिए आप क्लेम नहीं कर सकते है, आप इस पर अपना हक नहीं बोल सकते है.
  • अपग्रेड में पैसा लगेगाब्लॉग लिखने के बाद आप साइन इन करके फ्री में उसे डाल देते है लेकिन अगर आप बाद में इसमें कोई बदलाव करते है तो आपको इसके लिए पैसा देना होगा.
  1. कोई प्रॉफिट नहीं फ्री ब्लॉग साईट का उद्देश्य ये होता है कि वे अपनी कंपनी के लिए पैसा कमायें, न कि आपके लिए. इसका मतलब ये है कि आप अपने ब्लॉग के द्वारा किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस को बेच नहीं सकते है. आगे आपको कंपनी ये एड स्पेस से आने वाले पैसे ऑफर कर सकती है, लेकिन ये बहुत बाद का स्टेप है.
  2. वेब एड्रेस बहुत लम्बा होता है, जिसे याद रखना मुश्किल है.
  3. कोई कण्ट्रोल नहीं – आप जब किसी फ्री वेबसाइट में अपना ब्लॉग शुरू करते है, तब शुरुवात में आप ब्लॉग स्पेस रेंट लेते है. इसका मतलब है कि साईट के मालिक के पास आपके ब्लॉग का पूरा अधिकार होता है. वे चाहें तो आपको ब्लॉग डालने से मना कर दें, आप इस विषय में उनसे कुछ भी नहीं बोल सकते है, न कुछ कर सकते है. फ्री ब्लॉग साईट आपको सारे फीचर भी नहीं दिखाएगी, जिसे जानकर आप अच्छे ब्लॉगर बन सकते है.
  4. सुरक्षा नहीं है इन्टरनेट में कई बार साईट हैक्ड हो जाती है. ये नए, छोटे ब्लॉग के साथ भी होता है. इसमें हैकर आपके डोमेन नाम को चुरा लेगा, जिससे आपके सारे ब्लॉग भी चले जायेंगें और ये डोमेन आपको कभी वापस भी नहीं मिल सकता.

इन सब झंझटों से बचने के लिए, अच्छा है कि आप अपने ब्लॉग के लिए खुद खर्च कर लें. ये फ्री ब्लॉग से सस्ते है क्यूंकि इसमें बाद में कोई रकम नहीं देनी पड़ती है.

  1. ब्लॉग की शुरुवात ध्यान से करें – आप अगर वर्डप्रेस को चुनते है तो, ये किसी भी लैपटॉप, कंप्यूटर, टेबलेट, स्मार्टफोन में चल सकता है.
  2. ब्लॉग के बारे में अच्छे से जानकारी – ब्लॉग क्या है? ब्लॉग मतलब अपने ज्ञान को शब्दों में बयां करना. शुरुवात में उन्हीं टॉपिक को चुने, जिनके बारे में आपको अच्छे से जानकारी है. इससे लिखना आसान होगा, साथ ही आपके मन की बात दूसरों तक पहुँच सकेगी.
  3. दूसरों से सीखें शुरुवात में ब्लॉग लिखते समय, उसे पोस्ट करते समय आपको बहुत सी परेशानियाँ का सामना करना पड़ सकता है. बहुत सी गलतियाँ भी होती है, इस सब से बचने के लिए आप इस तरह के आर्टिकल अच्छे से पढ़ें. सीखने में कोई बुराई नहीं है.

ब्लॉग शुरू करने से आपको ये फायदे होंगें (Blogging benefits) –

  • पैसा ब्लोगिंग अच्छे से की जाये तो आपको अच्छी आय दे सकती है. दुनिया के टॉप ब्लॉगर आज के समय में अच्छा कमा रहे है. ब्लोगिंग एक पार्ट टाइम काम भी है, जिसे करके लोग अच्छी खासी आय जोड़ रहे है.
  • नाम बढ़ेगा ब्लोगिंग में नाम तो फेमस होता है, लेकिन ऐसा पहले ही ब्लॉग से नहीं होता है. लगातार ब्लोगिंग करने और उसमें अपना समय देने के बाद आप इन्टरनेट की दुनिया में फेमस हो सकते है. बहुत से ब्लॉगर, अपनी इस फील्ड में एक्सपर्ट हो चुके है, और उनका नाम भी काफी फेमस हो गया है.
  • मनोरंजक होता है पैसा, नाम के अलावा ये आपको मजा भी देगा. इसके द्वारा आप अपने मन के अंदर की कोई भी बात शब्दों के द्वारा दूसरों तक पहुंचा सकते है. कहते है शब्दों में बहुत ताकत होती है, आज की दुनिया में कई ऐसे मुद्दे है जिन पर आवाज उठाने की जरूरत है. ब्लोगिंग के द्वारा आप उन मुद्दों पर अपने विचार व्यक्त कर सकते है, फिर आपके विचार को पसंद करने वाले आपसे जुड़ेंगे, इस तरह आपके पास ब्लोगिंग का बड़ा समूह बनते चला जायेगा.

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More