Take a fresh look at your lifestyle.

कोरोना वायरस से बचने के लिए मोबाइल और लैपटॉप को कैसे करें सेनेटाइज

0 247

कोरोना वायरस महामारी से पूरी दुनिया परिचित हो चुका है और अब तक हमारे भारत देश में कुल 140 से भी अधिक कोरोना वायरस से इनफेक्टेड लोगों की संख्या मिली है. कोरोना वायरस से बचने के लिए हम सभी प्रकार के जरूरी एहतियात को ध्यान में रखकर उसे फॉलो करते आ रहे हैं. आज के समय में कोविड -19 (COVID – 19) को डब्ल्यूएचओ ने विश्व महामारी के रूप में इसे घोषित कर दिया है.

इसे भी पढ़ें: इटली के दो नागरिकों को बन्‍ना गुप्‍ता ने दिया आइसोलेशन वॉर्ड में शिफ्ट करने का निर्देश

ऐसे में ध्यान देने योग्य बात यह है, कि रोजमर्रा के जीवन में प्रयोग होने वाले इलेक्ट्रॉनिक गैजेट जैसे:- laptop, smartphone, tablet and etc इन सभी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को हमें क्लीन या कीटाणुरहित करना चाहिए. आज हम इस लेख के माध्यम से आपको लैपटॉप और मोबाइल फोन की स्क्रीन को कैसे क्लीन अप या कीटाणुरहित करें इसके बारे में बताने वाले हैं. यदि आप भी कोरोना वायरस जैसे बड़ी महामारी से बचना चाहते हैं, तो इन बताए गए तरीकों का अनुसरण करें.

Contents

कोरोना वायरस का खतरा इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के माध्यम से किस प्रकार से फैल सकता है ?

  • जैसा कि आप सभी लोग भली-भांति से जानते हैं, कि कोरोना वायरस से बचने के लिए किन-किन आवश्यक तरीकों का अनुसरण करना महत्वपूर्ण है. मगर शायद ही लोग अपने स्मार्ट फोन और लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को कोरोना वायरस से बचने के तरीके के बारे में जानते होंगे. सभी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के माध्यम से आपको कोरोना वायरस से बचना चाहिए, क्योंकि इसके जरिए दी कोरोना वायरस का संक्रमण आपको हो सकता है.
  • कई विशेषज्ञों ने अध्ययन करके यह पता लगाया है, कि यदि कोई कोरोना वायरस इनफेक्टेड व्यक्ति आपके मोबाइल स्क्रीन या किसी अन्य गैजेट को इस्तेमाल करता है, तो उसके जरिए भी आपका फोन या आपका गैजेट इनफेक्टेड हो जाता है. जिससे आपको भी संक्रमण होने का खतरा काफी हद तक बाढ़ जाता है या यूं कहें, कि इस महामारी से आपको 100% तक संक्रमित होने के आसार हो जाते हैं. कोरोना वायरस आपके मोबाइल स्क्रीन या किसी अन्य गैजेट के स्क्रीन पर 48 घंटे से भी अधिक समय तक जीवित रह सकता है.
  • आपके जिस भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में उसका बैक पैनल प्लास्टिक द्वारा निर्मित होता है, तो इसमें कोरोना वायरस लगभग 9 दिनों तक जीवित रह सकता है और यदि आपके इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में उसका बैक पैनल मेटल की धातु द्वारा बनाया गया है, तो ऐसे में कोरोना वायरस इस पर 12 घंटे तक जीवित रह सकता है. सुरक्षा की दृष्टि से यह आवश्यक है, कि आपको सभी प्रकार के अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को कीटाणुरहित करना बेहद ही महत्वपूर्ण है.

मोबाइल एवं लैपटॉप स्क्रीन को कैसे साफ करें (How to clean mobile screen)

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस संक्रमित मरीज तीन दिन में बदला कई ठिकाना, 129 लोगों के संपर्क में आया

  • कोरोना वायरस ही नहीं अपितु किसी भी प्रकार के अन्य इंफेक्शन से आपको बचने के लिए अपने गैजेट आदि को क्लीन या फिर उसे कीटाणुरहित Zअवश्य करना चाहिए. अब हम जान लेते हैं, उन तरीकों के बारे में जो आपके इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के लिए सुरक्षित है और उनका प्रयोग करके आप अपने इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को क्लीन या कीटाणुरहित भी बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं.
  • आपको अपने किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे स्मार्टफोन लैपटॉप या फिर टैबलेट आदि को साफ करने के लिए किसी भी प्रकार के एकदम सॉफ्ट कपड़े का इस्तेमाल करना चाहिए. ऐसा इसलिए क्योंकि यह इतने सॉफ्ट होते हैं, जिससे आपके स्क्रीन या लैपटॉप के कीबोर्ड आदि पर नुकसान नहीं होता है. इस मुलायम कपड़े की सहायता से आपको पानी में थोड़ा सा एंटीबैक्टीरियल लिक्विड मिलाकर इसे गिला कर लेना है.
  • किसी भी प्रकार के सॉफ्ट कपड़े को अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर साफ करने से पहले उसे बस थोड़े ही पानी में भीगा कर इस्तेमाल करें. अत्यधिक गिला करने से यह आपके डिवाइस को नुकसान पहुंचा सकता है. अब इस कपड़े की सहायता से आप अपने लैपटॉप या स्मार्टफोन के उन सभी कोनों को अच्छे से क्लीन करें.
  • मोबाइल फोन के कोनों में जो जगह रहती है वहां पर भी इसे साफ करें और लैपटॉप के कीबोर्ड के बीच में जो स्पेस आपको नजर आता है, वहां पर भी आपको इस लिक्विड की सहायता से अपने गैजेट को साफ करना है.
  • आजकल मार्केट में इलेक्ट्रिक डिवाइसों को साफ करने के लिए सैनिटाइजर आ गया है. अपने इलेक्ट्रॉनिक गैजेट पर सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें. इलेक्ट्रॉनिक गैजेट सैनिटाइजर को आपको अपने किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर स्प्रे की सहायता से नहीं मारना है.
  • सबसे पहले आपको थोड़ा सा सैनिटाइजर किसी भी एक हल्के एवं मुलायमदार रुमाल पर इसको लगा लेना है.
  • अब इसे मोबाइल फोन या फिर लैपटॉप के हर उस स्थान पर साफ करें जहां पर आपको जगह दिखाई दे रही हो और खासतौर पर इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के सभी कोनों पर आपको इस प्रक्रिया को करना है.
  • यदि आपके स्मार्टफोन के पीछे आपने कवर लगाया है, तो आपको कवर को भी सैनिटाइजर से साफ करना आवश्यक है. कम से कम दिन में दो बार अपने इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को सैनिटाइजर से क्लीन करें.

कोरोना वायरस से बचने के लिए इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को किस प्रकार से इस्तेमाल करना चाहिए ?

इसे भी पढ़ें: झारखंड हाई कोर्ट में अगले 15 दिनों तक सिर्फ जरूरी मामले सुने जाएंगे

रुमाल और स्मार्टफोन अलग-अलग जेबों में रखें

सुरक्षा की दृष्टि से आपको कभी भी अपने स्मार्टफोन को और अपने प्रयोग में लाने वाले रुमाल को एक साथ एक ही जेब में नहीं रखना चाहिए. ऐसा करने से किसी एक वस्तु में इंफेक्शन होने के बाद आपको दूसरे वस्तु में भी इंफेक्शन होने का खतरा हो जाता है और फिर सीधे आपके शरीर में भी इन्फेक्शन जा सकता है.

साइबर कैफे में इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का प्रयोग ना करें

कोरोना वायरस का खतरा इस हद तक बढ़ गया है, कि आपको कभी भी साइबर कैफे में किसी भी प्रकार की गैजेट का प्रयोग नहीं करना चाहिए. इस प्रकार के स्थान पर अनेकों लोग आते हैं और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का प्रयोग करते हैं और ऐसे कई लोग आपको मिल जाएंगे जो इनफेक्टेड होंगे और ऐसे गैजेट का प्रयोग बड़ी ही असावधानी साथ करते हैं.

यदि आप भी इस स्थान पर किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको भी संक्रमित होने का खतरा हो सकता है.

हमेशा अपने साथ सेनीटाइजर का प्रयोग करें

कई विशेषज्ञ बताते हैं, कि किसी भी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को प्रयोग करने के बाद एक बार स्वयं आप अपने हाथों को सैनिटाइजर से अवश्य साफ करें. ऐसा करने से आप कोरोना वायरस जैसे महामारी से बच सकते हैं.

किसी भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को प्रयोग करने से पहले सेनीटाइज करें

लैपटॉप या फिर आने किसी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को इस्तेमाल करने से पहले उसे एक बार अवश्य किसी हल्के कपड़े की सहायता से सैनिटाइजर लगाकर क्लीन या कीटाणुरहितकरें.

पब्लिक स्थान पर ईयर फोन और मास्क का प्रयोग करें

यदि आप किसी भी पब्लिक स्थान पर जा रहे हैं, तो आपको अपने कानों में ईयर फोन और मुंह पर मास्क का प्रयोग करना चाहिए ऐसा करने से आप अपने आपको करोना वायरस जैसे बड़े खतरे से बचा सकते हैं.

ईयर फोन को भी इस्तेमाल करने से पहले सैनिटाइज करना आवश्यक है

सैनिटाइजर की सहायता से आपको अपने ईयर फोन को इस्तेमाल करने से पहले उसे अच्छे से क्लीन या कीटाणुरहितकरना आवश्यक है, क्योंकि कानों की सहायता से भी कोरोना वायरस आपके भीतर प्रवेश कर सकता है.

गैजेट की सफाई पर रखें विशेष ध्यान

सभी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को दिन में दो से 4 बार अवश्य क्लीन या फिर कीटाणुरहित करें. जब तक कोरोना वायरस का खतरा पूरे विश्व से खत्म नहीं हो जाता तब तक आपको इस उपाय को अपने दिनचर्या में अवश्य शामिल कर ले. आपके द्वारा किया गया यह कार्य आपकी सुरक्षा को और भी बढ़ाता है और कोरोना वायरस जैसे खतरे से आप सुरक्षित रहने में कामयाब हो सकते हैं.

किसी अन्य व्यक्ति के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को स्पर्श ना करें

जब तक कोरोना वायरस का कोई भी तोड़ निकलकर सामने नहीं आता तब तक , आप भी किसी अन्य के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के प्रयोग से बचें. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि यदि कोई व्यक्ति कहीं से भी आता है और वह अपने इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को किसी भी प्रकार के सैनिटाइजर से साफ नहीं करता है और फिर आप उस इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को अपने प्रयोग में ले लेते हैं, तो आपको भी कोरोना वायरस होने का खतरा बढ़ जाता है.

  • लैपटॉप स्मार्टफोन या किसी अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को क्लीन या कीटाणुरहित करने के लिए आपको किन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है ?
  • जैसा, कि कोरोना वायरस का खतरा अपनी चरम सीमा तक पहुंच चुका है, तो ऐसे में आपको सुरक्षित बेहद सुरक्षित रहना अति आवश्यक है. अपने स्मार्टफोन, लैपटॉप आदि इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को क्लीन या कीटाणुरहितकरने के लिए आपको कुछ आवश्यक बातों का ध्यान रखना जरूरी है.
  • ऐसे में सवाल उठता है, कि आखिर कौन से तरीके से अपने लैपटॉप या स्मार्टफोन आदि इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को साफ करें. चलिए इसके बारे में भी जान लेते हैं, आपको किन आवश्यक बातों का ध्यान रखना है, अपने फोन या लैपटॉप को कीटाणुरहितया क्लीन करने के लिए.
  • अनजाने में हम अपने फोन या अन्य किसी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को किसी ऐसे लिक्विड या किसी अन्य ऐसे पदार्थ से क्लीन कर देते हैं, जिससे हमारा इलेक्ट्रॉनिक गैजेट खराब हो सकता है. आवश्यक है, कि आप किसी भी पदार्थ या किसी अन्य लिक्विड का प्रयोग करने से पहले आप उसके बारे में थोड़ा सा जांच पड़ताल कर लें, कि आखिर किस हद तक वह आपके इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को नुकसान पहुंचा सकता है.
  • कभी भी अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को साफ रखने के लिए किसी भी प्रकार का किचन में या फिर फ्रिज आदि को साफ करने के लिए प्रयोग लेने वाले लिक्विड पदार्थ का इस्तेमाल कतई ना करें. साफ शब्दों में कहें तो, आप डिटर्जेंट पाउडर या किसी अन्य लिक्विड क्लीनर का इस्तेमाल ना करें वरना आपका इलेक्ट्रॉनिक गैजेट खराब हो सकता है.
  • अपने फोन या किसी अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को साफ करने के लिए कभी भी विंडो स्प्रे आदि का इस्तेमाल ना करें. ऐसा करने से आपके फोन में लिक्विड जाकर आपके फोन को नुकसान पहुंचा सकता है.
  • अपने किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे कि लैपटॉप , स्मार्टफोन या टैबलेट को स्वच्छ करने के लिए कभी भी नैपकिन पेपर का प्रयोग बिल्कुल भी ना करें. ऐसा करने से यह आपके इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के स्क्रीन पर अपना निशान या धब्बा छोड़ सकता है.
  • बाजार में बहुत से ऐसे खतरनाक लिक्विड मौजूद होते हैं, जिनका यदि अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर इस्तेमाल कर लिया जाए, तो आपको अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर काफी नुकसान दिखाई दे सकता है. आपको अपने इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को साफ करते समय अल्कोहल, विनेगर या फिर मेकअप रिमूवल आदि लिक्विड का प्रयोग नहीं करना है. ऐसा करने से आपके गैजेट को काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है.
  • इसके अतिरिक्त आपके इलेक्ट्रॉनिक गैजेट पर आपको कभी भी डायरेक्ट उस पर साबुन या फिर हैंडवाश आदि का प्रयोग करके उसे क्लीन नहीं करना है. ऐसा करने से आपके इलेक्ट्रॉनिक गैजेट में खराबी आ सकती है.

आज के समय में कोरोना वायरस एक महामारी के रूप में विश्वविख्यात हो चुका है. इस लेख के माध्यम से हम आप सभी को जितना हो सके उतना सुरक्षित रहने की सलाह देना चाहते हैं. हम आपसे अपील करते हैं, कि आप अपने जानने वाले लोगों को कोरोना वायरस से संबंधित वह सभी जानकारियां प्रदान करें, जो उन्हें इस बड़े खतरे से सुरक्षित रख सकती है.

कोरोना वायरस से बचने के लिए मोबाइल और लैपटॉप की स्क्रीन को कैसे साफ करें
कोरोना वायरस से बचने के लिए मोबाइल और लैपटॉप की स्क्रीन को कैसे साफ करें

इसे भी पढ़ें: भारत में सबसे ज्‍यादा महाराष्‍ट्र में कोरोना वायरस पॉजिटिव

यदि यह महत्वपूर्ण लेख आपको जरा सा भी लाभकारी लगे तो आप इसे अपने परिजन एवं मित्र जन के साथ जरूर शेयरकरें. ऐसा करने से आप इस बीमारी के प्रति जागरूकता को फैलाने में खुद की भी सहायता करेंगे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.