नेताओं की ये कैसी छपास… पत्रकारों का मजाक क्‍यों बना रहे हैं…?

by

कुछ दिन पहले झारखंड सरकार के मंत्री बादल पत्रलेख ने प्रेस कांफ्रेंस किया था. सिर्फ चार मीडिया संस्‍थान के पत्रकार पहुंचे थे. मंत्री ने पत्रकारों का नाम लेते हुए पूछा बाकि कहां गए. मैंने नाम गिनाते हुए बताया कि कई लोग कोरोना संक्रमीत हो गए हैं. कुछ अस्‍पताल में भर्ती हैं और कुछ होम क्‍वारंटिन हैं. मैंने उनसे कहा आप चाहें तो पत्रकारों की मदद कर सकते हैं. कई पत्रकार मुश्किल के दौर से गुजर रहे हैं. लेकिन माननीय मंत्री साब ने मेरी बातों को अनसुना कर दिया.

वहीं एक दूसरा नजारा आज देखने को मिला. कांग्रेस के एक नेता संजय पांडेय ने पत्रकारों के लिए राशन बांटना शुरू किया तब वहां हुजूम उमड़ पड़ी. खबरों के लिए फोटो और वीडियो बनाने वाले पत्रकारों की ही फोटो वीडियो बनने लगी. 21 मई को पूर्व प्रधानमंत्री स्‍व राजीव गांधी की 30वीं पुण्‍यतिथि है. रांची के सड़कों और चौराहों पर सन्‍नाटा है. बावजूद इसके कांग्रेस के मंत्रियों और नेताओं ने स्‍व राजीव गांधी की पुण्‍यतिथि को लेकर चौक-चौराहों पर बड़े-बड़े होर्डिंग देखे जा रहे हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.