हिंदपीढ़ी कंटेनमेंट ज़ोन घोषित, यहां से मिले हैं 14 कोरोना पॉजिटिव मरीज

by

Ranchi: हिंदपीढ़ी को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है. पूरे झारखंड में मिले कोरोना मरीजों में आधे यहीं से पाये गए हैं. कंटेनमेंट जोन का मतलब यहां कोई अंदर जा सकता है और न कोई ईलाके का आदमी बाहर आ सकता है.

15 अप्रैल 2020 की शाम को यहां एक नया कोरोना मरीज पाया गया है. इसकी के साथ हिंदपीढ़ी में कोरोना मरीजों की संख्‍या 14 और पूरे झारखंड की तादाद 28 हो गई है.

रांची में लॉकडाउन के दौरान लोगों के सड़क पर निकलने और जिन इलाकों में कोरोना के मरीज मिले, वहां नियमों का पालन नहीं किए जाने को झारखंड हाईकोर्ट ने गंभीर बताया है.

हाईकोर्ट ने स्‍वत: संज्ञान लेते हुए कहा है कि भारत सरकार ने लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण वाले इलाके के लिए निर्देश जारी किए हैं. इन निर्देशों का पालन करवाना जिला प्रशासन का दायित्‍व है, लेकिन अखबारों की रिपोर्ट से पता चलता है कि जिला प्रशासन लॉकडाउन का सख्‍ती से पालन कराने में सक्षम नहीं है.

हाईकोर्ट ने कहा कि इसी प्रकार कोरोना संक्रमण वाले इलाके में भी जिस तरह की घटनाएं हो रही हैं वह प्रशासनिक विफलता है. यहां के लोग दूसरे इलाकों में भी जा रहे हैं. इन इलाकों के लोग दूसरे इलाके में न जाएं इसे सुनिश्चित करना प्रशासन का दायित्‍व है. लेकिन मीडिया रिपोर्ट से पता चलता है कि प्रशासनिक अधिकारी अपने कर्तव्‍यों का पालन सही तरकी से नहीं कर रहे हैं.

हिंदपीढ़ी झारखंड का सबसे और सक्रिय कोरोना हॉट स्‍पॉट बन गया है. बुधवार को जारी गाइडलाइन में रेड जोन में रखे जाने वाले जिलों की पहचान के जो आधार रखे गए हैं, उसके हिसाब से राज्‍य के दो जिलों रांची और बोकारो को रेड जोन की श्रेणी में रखा गया है.

इधर रिम्‍स में भर्ती संक्रमित मरीजों में पहले तो मलेशियाई युवती ने ही कैंटीन के खाने के बजाय चिकन बिरयानी की मांग की थी, लेकिन अब सभी मरीज कह रहे हैं कि उन्‍हें घर का खाना चाहिए या फिर चिकन बिरयानी. इन मरीजों को मनोरंजन के लिए रिम्‍स प्रबंधन वार्ड में टीवी लगाने पर विचार कर रहा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.