Farmers Protest: ‘चक्का जाम’ से पहले डोभाल-दिल्‍ली पुलिस कमिश्‍नर-शाह के बीच हुई हाईलेवल मीटिंग

by

New Delhi: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने गुरुवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (NSA Ajit Doval) और दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव (SN Shrivastava) के साथ संसद परिसर के भीतर मुलाकात की. दिल्ली-एनसीआर में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करने और 6 फरवरी को प्रस्तावित “चक्का जाम” को लेकर यह मुलाकात हुई हुई. दरअसल, केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने 6 फरवरी को “चक्का जाम” की योजना बनाई है.

रिपोर्ट के मुताबिक, बैठक में दिल्ली पुलिस आयुक्त ने भी 26 जनवरी को लाल किले के पास हिंसा की जांच के बारे में गृह मंत्री को अपडेट दिया. साथ ही किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान आयकर कार्यालय हुए हमले को लेकर भी चर्चा हुई. इसके अलावा दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर बलों की तैनाती समीक्षा की गई.

‘राजा ने खुद कर रखी है किले-बंदी’

दरअसल, नवंबर से आंदोलन की अगुवाई कर रहे भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि दिल्ली की सीमाओं पर यह आंदोलन इस साल अक्टूबर तक चलेगा और ग्रामीण इसका समर्थन करेंगे. उन्होंने 6 फरवरी के प्रस्तावित चक्का जाम के बारे में बताते हुए गाजीपुर, टीकरी और सिंघु बॉर्डर की किलेबंदी करने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए पत्रकारों से कहा, “दिल्ली में हम कुछ नहीं कर रहे हैं, वहां तो राजा ने खुद किले-बंदी कर रखी है, हमारे चक्का जाम करने की जरूरत ही नहीं है.”

‘तीन घंटे का होगा चक्का जाम’

उन्होंने कहा कि चक्का जाम दिल्ली में नहीं, बल्कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अन्य हिस्सों में होगा, जिसमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान शामिल है. उन्होंने कहा कि तीन घंटे का चक्का जाम होगा. इस दौरान जिन गाड़ियों को रोका जाएगा, उन्हें खाने को कुछ दिया जाएगा और पानी दिया जाएगा और बताया जाएगा कि सरकार उनके साथ क्या कर रही है.

बैरिकेड और भी मजबूत किए जा रहे

इस बीच गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस की ओर से लगाए गए बैरिकेड और भी मजबूत किए जा रहे हैं. पहले 3 फीट ऊंची कंक्रीट वाल बनाई गई. बुधवार को इस पर मिट्टी डालकर और ऊंचा किया गया है. इससे पहले पुलिस ने 16 लेयर की बैरिकेडिंग लगाई थी. साथ ही बॉर्डर पर बड़ी-बड़ी कीलें रोड पर लगाई गई हैं, ताकि अगर उन पर से वाहन गुजरें तो वह पंक्चर हो जाएं. गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के बाद से पुलिस किसी भी अनहोनी के लिए पहले से तैयारी कर रही है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.