हेमंत सोरेन करेंगे सरकारी योजनाओं का रिव्‍यू, अफसरों को दिया तैयारी के साथ आने आदेश

by

Ranchi: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी विभागों की समीक्षा करेंगे. इस क्रम में राज्य सरकार द्वारा संचालित सभी महत्वपूर्ण लोक कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की जायेगी. इस संबंध में मुख्य सचिव द्वारा पत्र जारी किया गया, जिसमें विभिन्न विभागों के सचिवों से अनुरोध किया गया है कि वे विभिन्न योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए एक कार्य योजना के साथ उपस्थित हों, ताकि महामारी के इस दौर में राज्यवासियों को राहत पहुंचाया जा सके.

Read Also  ढाई हजार सहायक पुलिस कर्मियों को स्थाई करने पर फैसला लेगी सरकार

सजग है सरकार, राहत का हो रहा है प्रयास

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान संक्रमण के मामलों में अचानक हुई वृद्धि और वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मुख्यमंत्री ने राज्य भर में दो सप्ताह के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह की घोषणा की,  लेकिन चिकित्सा सेवाओं, कृषि गतिविधियों, एफएमसीजी और मनरेगा जैसी सभी आवश्यक और आपातकालीन सेवाएं जो ग्रामीण अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं को अनवरत जारी रखा.

पूरी तैयारी से आएं बैठक में, गरीबों को देनी है राहत

महामारी के कारण कई योजनाओं का कार्यान्वयन प्रभावित हुआ है. इसे देखते हुए राज्य की गरीब आबादी को राहत देने के लिए मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के सचिवों को एक कार्य योजना के साथ बैठक में भाग लेने का आदेश दिया है, ताकि कोरोना महामारी से लड़ते हुए विभाग यह सुनिश्चित कर सके कि राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ सभी जरूरतमंदों को मिल सके.

Read Also  ढाई हजार सहायक पुलिस कर्मियों को स्थाई करने पर फैसला लेगी सरकार

स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के हुए प्रयास

स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के अलावा झारखण्ड के लोगों के लिए हर संभव स्वास्थ्य सुविधा की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं. राज्य भर में ऑक्सीजन बेड, आईसीयू और वेंटीलेटर बेड बढ़ाए गए. इसके अलावा रांची और जमशेदपुर जैसे शहरों में संक्रमण से पीड़ित लोगों को ऑक्सीजन बेड प्रदान करने के लिए कोविड सर्किट का संचालन किया गया.

महामारी के कारण कई योजनाओं का कार्यान्वयन प्रभावित हुआ

वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट में राज्य सरकार द्वारा कई प्रमुख योजनाओं की घोषणा की गई था. ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने, युवा आबादी को रोजगार प्रदान करने और महिला सशक्तिकरण पर मुख्य ध्यान केंद्रित किया गया था. मुख्यमंत्री मुद्रा योजना योजना, मुख्यमंत्री रोजगार गारंटी योजना, मारंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशिये छात्रवृत्ति योजना, फूलो-झानो आशीर्वाद योजना, सभी के लिए पीने के साफ पानी की योजनाएं, युनिवर्सल पेंशन योजना जैसी योजनाएं शामिल हैं. हालांकि इन योजनाओं का काफी हद तक लाभ जरूरतमंदों को देकर उनके आर्थिक स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त किया गया, लेकिन महामारी की वजह से कुछ योजनाएं प्रभावित हुईं हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.