पंचायत चुनाव रोककर भ्रष्टाचार का जुगाड़ कर रही हेमंत सरकार: बाबूलाल मरांडी

by

Ranchi: भाजपा नेता विधायक दल और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने पंचायत चुनाव को लेकर हेमंत सोरेन सरकार पर बड़ा हमला बोला है. बाबूलाल ने कहा कि देश के कई राज्यों में विधानसभा के चुनाव हो गए, जम्मू कश्मीर, लद्दाख, राजस्थान में भी सफलता पूर्वक स्थानीय निकाय के चुनाव हुए. अमेरिका जो कोरोना से ज्यादा प्रभावित रहा है, वहां भी चुनाव हुए. झारखंड में भी दो उपचुनाव हुए लेकिन, हेमंत दरकार राज्य के स्थानीय निकाय के चुनाव, पंचायत चुनाव को रोकने का प्रयास कर रही है.

बाबूलाल मरांडी ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य की सरकार सरकारी कर्मियों के माध्यम से भ्रष्‍टाचार और लूट का जुगाड़ कर रही है.

उन्‍होंने कहा कि पंचायत चुनाव नही होने से केंद्र सरकार द्वारा गांव के विकास के लिए मिलने वाले रुपये रुक जाएंगे, प्रदेश के गांव केंद्रीय सहायता से वंचित हो जाएंगे. इस सरकार की मंशा ठीक नहीं है.

Read Also  मधुपुर में लगेगा सुदेश महतो समेत आजसू के बड़े नेताओं का जमावड़ा, बंगाल- उड़िसा के कार्यकर्ता भी होंगे शामिल

उन्होंने कहा कि एक तो ऐसे ही विकास कार्य ठप हैं और फिर पंचायत के पैसे रुकने से गांव में बेरोजगारी और बढ़ेगी,मनरेगा आदि से होने वाले कार्य प्रभावित होंगे. एक तो ऐसे ही बड़ी संख्या में ग्रामीणों का पलायन हुआ है, पंचायत चुनाव नहीं होने से बचे खुचे लोग भी रोजगार की तलाश में गांव से पलायन को मजबूर होंगे.

श्री मरांडी ने कहा कि राज्य में अराजकता की स्थिति उत्पन्न होगी.

16 दिसंबर को सभी प्रखंड मुख्यालय में धरना देगी भाजपा

धान खरीद की रोक पर बोलते हुए बाबूलाल मरांडी ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन देश के किसानों के साथ खड़े हैं पर राज्य के किसानों के साथ खड़े नहीं है. आज सभी जिलों में धान की खरीद कच्चा धान के नाम पर रोक दी गई है. राज्य के किसान परेशान हैं जबकि पूर्व में प्रति क्विंटल 15 किलो घटाकर कच्चा धान की खरीदी होती रही है.

Read Also  पश्चिम बंगाल में TMC ऑफिस पर हमले से 2 कार्यकर्ताओं की मौत, हिरासत में लिए गए 6 लोग

उन्होंने कहा कि msp पर हल्ला मचाने वाली सरकार आज धान की msp से किसानों को वंचित कर रही है. किसान आज हजार रुपए क्विंटल से भी कम कीमत पर धान बिचौलियों से बेच रहे हैं.

बालू घाट की नीलामी पर उन्होंने कहा कि आज लोगो को स्थानीय निर्माण केलिये बालू नहीं मिल रहा. पूरे प्रदेश के बालू घाटों से बालू की अबैध तस्करी हो रही है. झारखंड में 472 बालू घाट है लेकिन मात्र 25 घाटों की ही नीलामी हुई है. राज्य के लोग महंगे कीमत पर बालू खरीद रहे हैं.

उन्होंने मांग की सरकार स्थानीय उपयोग के लिए बालू को मुफ्त करे. साथ ही राज्य की सीमाओं पर चेक पोस्ट बनाकर तस्करी रोके.

उन्होंने कहा कि बालू की लूट में कांग्रेस झामुमो के लोग शामिल हैं. मुख्यमंत्री के इशारे पर बालू की लूट हो रही है. एक साल में एक हजार करोड़ से ऊपर का अबैध कारोबार हुआ है. सरकार फंड का रोना रो रही है, अगर नीलामी होती तो खजाना भरा जा सकता था.

Read Also  MLA प्रदीप व बंधु की सदस्‍यता रद्द करने के लिए विधानसभा न्‍यायाधिकरण में याचिका दायर

राज्य की विधि व्यवस्था पर बोलते हुए कहा उन्होंने कहा कि आज राज्य में उग्रवादी गतिविधियां बढ़ी हैं, उग्रवादी बच्चों को भर्ती कर रहे हैं. प्रखंड,अंचल,थाना आज भ्रष्‍टाचार लूट का केंद्र बन चुका है. आम आदमी का सरोकार इन संस्थाओं से ही पड़ता है, लेकिन यहां लूट की खुली छूट है.

उन्होने कहा कि राज्य सरकार भ्रष्‍टाचार पर रोक लगाए, पंचायत और स्थानीय निकाय के चुनाव कराने की घोषणा करे. कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता पूरे प्रदेश में प्रखंडों में आगामी 16 तारीख को धरना प्रदर्शन के माध्यम से सरकार को जगायेंगे. अगर सरकार ने आवश्यक कदम नही उठाये तो पार्टी एक सशक्त विपक्ष के नाते आंदोलन को और तेज करेगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.