Haj Yatra 2020: हज यात्रियों के पूरे पैसे होंगे वापस

by

New Delhi: इस साल हज यात्रा का रद्द होना करीब-करीब निश्चित है. इस मामले में हज कमेटी के सीईओ मकसूद अहमद खान ने एक खत जारी कर कहा है कि वह वह हज जाने वाले श्रद्धालुओं का 100 फीसद पैसा वापस करेंगे. उन्होंने कहा कि इस साल कोरोना वायरस की महामारी के चलते हज यात्रा होने की सिर्फ पांच फीसद संभावना है. यह खत उन्होंने हज कमेटी की ओर से जारी किया है.

सीईओ मकसूद खान ने बताया कि सऊदी अरब से 13 मार्च को इस संबंध में पत्र व्यवहार हुआ था. उस वक्त हज की तैयारियों को अस्थाई रूप से रोका गया था. अब जबकि कुछ सप्ताह शेष बचे हुए हैं. ऐसे में सऊदी प्रधिकारी की ओर से इस संबंध में कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है. उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि जिन लोगों ने हज यात्रा की राशि के रिफंड के लिए अप्लाई किया है उनके खाते में स्वत: यह राशि आ जाएगी.

इस साल अंतराष्ट्रीय उड़ानों पर भी प्रतिबंध है इसलिए भी हजयात्रा की संभावना काफी कम है. हज के लिए भारत से सऊदी अरब के लिए 25 जून से उड़ानें शुरू होती है और 40 दिनों तक चलने वाली यह यात्रा 2 अगस्त को समाप्त होती है. हर साल औसतन दो लाख मुस्लिम हज यात्रा पर जाते हैं. 70 फीसद हज यात्री हज कमेटी के जरिए यात्रा करते हैं, जबकि 30 फीसद प्राइवेट टूर ऑपरेटर को तरजीह देते हैं.

उन्होंने बताया कि हज जाने कि इच्छुक यात्रियों से तीन किस्तों में राशि ली जाती है. दो किस्तें लेने के बाद तीसरी किस्त इस साल नहीं ली गई है. क्योंकि तीसरी किस्त सऊदी अरब से फाइनल जबाब मिलने के बाद लिया जाता है. हज कमेटी के जरिए जाने वाले यात्रियों को 8.1 लाख रूपए की राशि देना होती है. दुनिया के सबसे बड़े इस्लामिक मुल्क इंडोमेशिया ने भी इस साल हज यात्रा निरस्त करने की घोषणा की है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.