गुरूजी शिबू सोरेन का बयान- नयी सरकार 1932 खतियान आधारित स्‍थानीयता लागू करेगी

by

Dumka: झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन ने झारखंड के आदिवासी-मूलवासियों के लिए बड़ा ही सुखद बयान दिया है. स्‍थानीयता नीति को लेकर शिबू सोरेन ने कहा है कि राज्य में 1985 का स्थानीयता नीति का कट ऑफ डेट जो पिछली सरकार ने तय किया था, वह सही नहीं है. इसलिए झारखंड में स्थानीय नीति में बदलाव होगा. इस राज्य के आदिवासी और मूलवासी के हक व अधिकार के लिए 1932 का कट ऑफ डेट लागू किया जायेगा. 1985 की डेट से इसे लागू करने से झारखंड के लोग अपने हक से वंचित रह गये. अब नयी सरकार 1932 का डेट तय करेगी, जिससे यहां के जंगल-झाड़ में रहनेवाले खातियानी रैयतवाले मूलवासी-आदिवासी को पलायन नहीं करना पड़ेगा. उनको लाभ मिलेगा.

1985 का स्‍थानीयता सही नहीं, 1932 झारखंडी हित में

दुमका में मीडियाकर्मियों के सवालों का जवाब देते हुए शिबू सोरेन ने कहा कि जो यहां का खतियानी और पुराने वाशिंदे हैं, उनका पहला हक बनता है. उन्होंने कहा कि वर्ष 1985 को आधार बना कर स्थानीय नीति बनाना सही नहीं है. 1932 के खतियान या जहां का जो अंतिम खतियान है, भले ही वह 1934 का हो या 1936 का, उसी के आधार पर स्थानीयता तय की जानी चाहिये.

शिबू सोरेन के बयान पर बढ़ी सियासी सरगर्मी

झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन की ओर से स्थानीय नीति में संशोधन करने व 1932 के खतियान लागू करने के बयान को लेकर राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गयी है. भाजपा समेत विभिन्न दलों के नेता सोशल मीडिया पर 1932 के खतियान को लागू करने को लेकर सवाल उठा रहे हैं. इनका कहना है कि झारखंड हाइकोर्ट ने इसे पहले ही असंवैधानिक घोषित किया है. ऐसे में फिर से इसे लागू करने की बात करना अनुचित है.

सीएम हेमंत सोरेन बोले- गुरुजी ने किस संदर्भ में कहा, समझने के बाद बोलेंगे

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि गुरुजी राज्य के सम्मानीय नेता हैं. गार्जियन भी हैं. उन्होने क्या कहा है, किस संदर्भ में कहा है, यह समझने के बाद ही कुछ कहेंगे.

कांग्रेस ने कहा-गठबंधन के साथी मिलकर तय करेंगे स्थानीय नीति

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे ने कहा-गुरुजी सम्मानीय नेता है. स्थानीय नीति गठबंधन के सभी साथी मिलकर तय करेंगे। स्थानीय और नियोजन नीति का फार्मूला जन भावनाओं के अनुरूप होगा. बहुत जल्दी यह तय कर दी जाएगी. इससे किसी को डरने की जरूरत नहीं है.

भाजपा बोली-पहले हेमंत बताएं कि वह गुरुजी के साथ हैं

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा- पहल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन अपने स्टैंड क्लीयर करें कि वह राज्य के सवर्मान्य नेता के बयान से सहमत हैं या नहीं. कांग्रेस और राजद को भी स्पष्ट करना चाहिए कि वह क्या चाहता है. जब सरकार का स्टैंड क्लीयर हो जाएगा, तभी भाजपा कुछ बोलने की स्थिति में होगी। क्योंकि गठबंधन के दलों की ही इस मुद्दे पर एक राय नहीं है.

1 thought on “गुरूजी शिबू सोरेन का बयान- नयी सरकार 1932 खतियान आधारित स्‍थानीयता लागू करेगी”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.