कोरोना टीकाकरण के लिए केंद्र सरकार ने जारी किया गाइडलाइन, कहा- ये लोग टीका लगवाने से बचें

by

New Delhi: कोरोना टीकाकरण शुरू होने से पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय गाइडलाइन जारी किया है. बृहस्पतिवार को मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 टीकों की विनिमयशीलता (एक टीका अलग, दूसरा अलग) की अनुमति नहीं है. साथ ही गर्भवती तथा दूध पिलाने वाली महिलाएं टीके न लगवाएं. क्योंकि उन्हें अभी तक किसी भी कोरोना वायरस-रोधी टीके के क्लिनिकल ट्रायल का हिस्सा नहीं बनाया गया है.

मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश को लिखे पत्र में आपातकालीन परिस्थितियों में इनके इस्तेमाल को रेखांकित करते हुए कहा कि कोविड-19 टीके केवल 18 साल या उससे अधिक आयु के लोगों के लिए हैं. आवश्यकता पड़ने पर कोविड-19 टीकों और अन्य टीकों के बीच कम से कम 14 दिन का अंतराल लिया जा सकता है.

Read Also  आदिवासियों में होने वाले सिकल सेल आनुवांशिक बीमारी के उन्‍मूलन के लिए मुहिम शुरू

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव मनोहर अगनानी द्वारा भेजे गए पत्र में कहा गया है, ‘कोविड-19 टीकों की विनिमयशीलता की अनुमति नहीं है. दूसरी खुराक भी उसी टीके की लेनी होगी, जो पहले टीके की ली गई है.’ कहने का मतलब की वैक्‍सीन का पहला डोज एक कंपनी का और दूसरा डोज दूसरी कंपनी का, इसकी अनुमति नहीं होगी.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के पत्र में कहा गया है, ‘गर्भवती तथा दूध पिलाने वाली महिलाओं को अभी तक किसी भी टीके के क्लिनिकल ट्रायल का हिस्सा नहीं बनाया गया है. लिहाजा गर्भवती या अपने गर्भवती होने को लेकर अनिश्चित महिलाएं इस समय कोविड-19 टीके न लगवाएं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.