तीसरी लहर से बचाव के लिए सरकार तैयार: बन्ना गुप्ता

by

Ranchi: स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने झारखंड में पहली बार निमोनिया के बचाव के लिए पीसीवी टीकाकरण अभियान की शुरुआत की. इस अवसर पर ढाई साल की बच्ची अनन्या को पहला टीका लगाया गया बच्ची के साथ उसकी मां नेहा उपस्थित रही और टीका सहिया दीदी रंजना चौधरी ने लगाया.

इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि राज्य सरकार समिति संसाधनों में भी बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था का लाभ झारखंड की जनता को देने का प्रयास कर रही हैं. राज्य की जनता का हक हैं कि उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सेवा का लाभ मिले इसके लिए सरकार भी संकल्पित हैं कि सुदूर ग्रामीण इलाकों के अंतिम परिवार के अंतिम व्यक्ति तक स्वास्थ्य लाभ पहुंचे.

मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि राज्य को स्वास्थ्य नीति के आलोक में कुछ कार्यक्रमों का स्वास्थ्य सूचकांक राष्ट्रीय औसत से आगे हैं तथा कुछ स्वास्थ्य सूचकांकों को राष्ट्रीय औसत के समकक्ष लाने का प्रयास जारी है.

Read Also  हेमंत सरकार गिराने की साजिश में शामिल कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम समन्वय स्थापित करते हुए बेहतर कार्य कर रही हैं इसी का प्रतिफल हैं कि राज्य में शिशु मृत्यु दर प्रति हजार 34 से घटकर 29 हो गया है जबकि राष्ट्रीय औसत 33 हैं. यदि मातृमृत्यु दर की बात करें तो राज्य में प्रतिलाख 165 से घटकर 76 हो गया है जबकि राष्ट्रीय औसत 122 हैं.

राज्य में सरकारी अस्पताल में सुरक्षित संस्थागत प्रसव दर 61.90% था जो बढ़कर 83% हो गया है. यदि प्रजनन दर की बात करें तो राज्य का प्रजनन दर 2.8% से घटकर 2.5% हो गया है जबकि राष्ट्रीय औसत दर 2.2% हैं. वहीं उन्होंने बताया कि झारखंड सरकार राज्य में बेटा बेटी को एक समान दर्जा और अधिकार देने का विचार रखती हैं जिसका परिणाम हैं कि जन्मलिंग अनुपात प्रतिहजार 910 से बढ़कर 916 हुआ है जबकि राष्ट्रीय औसत 896 है.

Read Also  महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री और बड़े कारोबारी ने रची थी हेमंत सरकार गिराने की साजिश!

मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि राज्य भर में आज से न्यूमोकोकल कंजुगेट वैक्सीन पीसीवी का शुभारंभ हुआ है. उन्होंने कहा कि निमोनिया 5 साल से कम आयु के बच्चों में रोग और मृत्यु का मुख्य कारण हैं, जिससे 15% बच्चों की मृत्यु हो जाती हैं.

उन्होंने बताया कि इस टीकाकरण अभियान के बाद ऐसे मामलों में भारी कमी आएगी. उन्होंने बताया कि यूनिसेफ के रिपोर्ट के अनुसार प्रतिवर्ष 40 हजार बच्चों की निमोनिया से मौत हो जाती हैं.

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि पीसीवी अब से पूरे राज्य में एक साल से कम आयु के बच्चों को 6 हफ्ते, 14 हफ्ते और 9 महीने पूरा होने पर दिया जाएगा. यह टिका बहुत महंगा हैं इसलिए सरकार ने इसको आम जनों तक निःशुल्क पहुंचाने के लिए ये विशेष टीकाकरण अभियान की शुरुआत किया हैं ताकि हर बच्चों को ये टीका मिल सके, राज्य में करीब 8.50 लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. जिसमें सभी आंगनबाडी कर्मियों और सहिया दीदियों के अलावे अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया हैं.

Read Also  महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री और बड़े कारोबारी ने रची थी हेमंत सरकार गिराने की साजिश!

इस अवसर पर अवर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह, एनएचएम के प्रबंध निदेशक श्री रविशंकर शुक्ला, मार्शल आइन्द, सिविल सर्जन रांची डॉ विनोद कुमार समेत अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.