Take a fresh look at your lifestyle.

Google map के नए फीचर से मिलेंगे 5 फायदे, Indian users के लिए साबित होगा Real local Guide

0

गूगल मैप में एक ऐसा नया फीचर जुड़ा है, जिसके बारे में पढ़ेंगे तो सारी टेंशन दूर हो जाएगी. नहीं जानते अभी तक तो यहां क्लिक कीजिए, गजब का फायदा मिलेगा.
अब तक लोग कार या पब्लिक ट्रांसपोर्ट के जरिए गूगल मैप का इस्तेमाल करते थे, लेकिन अब गूगल मैप ने टूव्हीलर्स चालकों के लिए भी गूगल मैप में ‘टूव्हीलर मोड नेविगेशन सिस्टम’ लॉन्च किया है. बाइक चलाते हुए कोई दुघर्टना न हो इसके लिए इसमें ऑडियो का भी फीचर दिया गया है ताकि टूव्हीलर्स चालक हेडफोन का इस्तेमाल कर इस पर सुनाई देने वाली आवाज से अपनी मंजिल तक पहुंच सकेंगे. यह ऑडियो हिंदी समेत बंगाली, गुजराती, कन्नड़, तेलगू और मलयालम भाषाओं में सुन सकते हैं.

पंजाबी भाषा में सुनने के लिए गूगल अभी इस पर काम कर रहा है. गूगल मैप के प्रोग्राम मैनेजर अनल घोष ने वीरवार को गूगल मैप के इस फीचर समेत कुल 10 नए फीचर के बारे में चंडीगढ़ में आयोजित पत्रकारवार्ता में जानकारी दी. इंडस्ट्रियल एरिया स्थित एक होटल में पत्रकारों से वार्ता में उन्होंने बताया कि गूगल मैप पर अब तक कार और पब्लिक ट्रांसपोर्ट के जरिए अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए रीयल टाइम अपडेशन देख सकते थे. लेकिन, अब टूव्हीलर्स चालक भी अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए सबसे शार्ट और कम ट्रैफिक वाला रास्ता देख इससे जा सकेंगे.

गूगल मैप का टूव्हीलर मोड सबसे पहले भारत में लॉन्च किया गया है. इस मोड के लिए टूव्हीलर चालक को बार-बार मोबाइल फोन देखने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. वह फोन पर हेडफोन लगाकर रास्ते के लिए दिशा-निर्देश सुन सकते हैं. अनल घोष के मुताबिक उनके करोड़ों यूजर्स में से 10 फीसदी से अधिक लोगों ने इसका इस्तेमाल करना शुरू भी कर दिया है. हरियाणा के रोहतक, पानीपत, सोनीपत के कई यूजर्स इसका इस्तेमाल भी कर रहे हैं.

ऐसे कर सकते हैं google map के नए फीचर इस्तेमाल

मान लें आपको चंडीगढ़ सेक्टर-17 से मोहाली 3बी2 की मार्केट जाना है. गूगल मैप के प्रारंभ बिंदु में ‘मोहाली 3बी2 मार्केट’ टाइप करें और दिशा बटन पर क्लिक करें और फिर अपनी मंजिल के लिए सबसे छोटा और तेज रास्ता देखने के लिए टू-व्हीलर मोड आइकन को चुनें. इससे आपको सबसे शार्ट और कम ट्रैफिक वाले रास्ते का रूट दिखाई देगा.

अब तय रूट पर ट्रैफिक के अलावा आने वाले लैंडमार्क भी दिखेंगे

गूगल मैप के प्रोग्राम मैनेजर अनल घोष ने बताया कि अभी तक लोगों को सिर्फ तय रूट ही दिखाई देता था, लेकिन अब लोग उनके रूट पर आने वाले प्रसिद्ध प्रतिष्ठान जैसे मॉल, शोरूम, मार्केट, कॉलेज, स्कूल, पेट्रोल पंप आदि भी देख सकेंगे. साथ ही रीयल टाइम ट्रैफिक भी जान सकेंगे.

प्लस कोड्स से जगह सर्च करें और शेयर करें सटीक लोकेशन

अक्सर लोग ऑनलाइन कैब बुक करते हैं या किसी को अपना पता भेजने के लिए लोकेशन भेजते हैं. इसके बावजूद लोग सही जगह पर नहीं पहुंच पाते हैं. गूगल मैप ने इस समस्या को देखते हुए ‘प्लस कोड्स’ नामक नया फीचर लॉन्च किया है. इसे जानने के लिए अपने एंड्रायड फोन पर गूगल मैप खोलें. गूगल मैप पर पिन ड्रॉप करने के लिए टच और होल्ड करें. नीचे की तरफ पते या डिस्क्रिप्शन पर टैप करें. नीचे की तरफ स्क्रॉल करके ‘प्लस कोड’ देखें, जैसे पीआर32+वी4. इन्हें कॉपी कर किसी को भी शेयर कर सकेंगे. इससे उस व्यक्ति की सटीक लोकेशन दूसरे व्यक्ति को मिल जाएगी. सबसे अच्छी बात यह है कि यह कोड आप बिना इंटरनेट के भी जान सकते हैं.

फोटो के जरिये स्थानीय जगहों को खोजें

अब आप गूगल मैप के जरिये अपने आसपास की जगहों की जानकारी शेयर कर सकते हैं. गूगल मैप अपने आप कैटेगरी के अनुसार इनका कलेक्शन बनाता है, जिस पर आप सिर्फ एक टैप करके पहुंच सकते हैं. मॉल, रेस्टोरेंट, होटल, मेडिकल स्टोर, किराने की दुकान, उनके खुलने का समय, रेटिंग, रिव्यू और फोटो भी आपको मिलेंगे. गूगल मैप के जरिए ये भी पता चलेगा की किस दिन इन जगहों पर ज्यादा भीड़ होती है.

लोकल गाइड बन सकते हैं

अगर आपको एरिया की कोई जानकारी मिलती है जैसे कि ट्रैफिक, रेस्त्रां, लैंडमार्क, रूट आदि की और आप उसे गूगल मैप पर शेयर करते हैं। अगर आप लगातार ऐसी जानकारियां शेयर करते हैं तो आप गूगल के लोकल गाइड बन सकते हैं।

लोकेशन भी कर सकते हैं ट्रैक

अगर आपकी बेटी, पत्नी, बहन या घर की कोई भी फीमेल मेंबर कहीं अकेले ट्रैवल कर रही है और आपको उनकी सेफ्टी की चिंता है तो वह आपको गूगल मैप के जरिए अपनी लोकेशन भेज सकती हैं. इसमें एक फीचर है, जिसके माध्यम से आप उन्हें ट्रैक कर सकते हैं. इसकी अवधि कम से कम 15 मिनट और अधिकतम 24 घंटे हैं. इससे आपको अपने फोन पर पता चलता रहेगा कि वह सही रूट पर हैं और सुरक्षित हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: