‘गूगल पे’ की बदली प्राइवेसी पॉलिसी, ‘पेटीएम’ ने की थी शिकायत

by

गूगल ने अपने इंडियन डिजिटल पेमेंट मोबाइल एप्लीकेशन ‘गूगल पे’ के प्रति अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव का निर्णय लिया है. गूगल के मोबाइल पेमेंट ऐप के प्रतिद्वंदी ‘पेटीएम’ में ये शिकायत की थी कि अमेरिकी कंपनी गूगल ग्राहकों के डेटा का प्रयोग विज्ञापन और अन्य कामों के लिए कर रही है. पेटीएम की इस शिकायत के बाद ग्राहकों के डेटा की सुरक्षा को ले कर बहस छिड़ गई है. इस बात पर भी चर्चा की जा रही है कि ये तकनीकी कंपनियां भारतीय लोगों के डेटा का देश में और देश के बाहर किस तरह से प्रयोग कर रही हैं.

पेटीएम ने की थी शिकायत

देश में लेनदेन के नियमों पर नजर रखने वाली संस्था नेशनल पेमेंट कार्पोरेशन ऑफ इंडिया को लिखे पत्र में पेटीएम ने शिकायत की कि भारत में गूगल पे ऐप की प्राइवेसी पॉलिसी नीति भारत के ग्राहकों की निजी जानकारी को सुरक्षा प्रदान नहीं कर रही है. गूगल प्ले की नीति के तहत यहां भारतीय ग्राहकों का डेटा इक्ट्ठा किया जाता है स्टोर किया जाता है और उस डेटा का प्रयोग किया जाता है या उसके बारे में लोगों को जानकारी भी दी जा सकती है.

गूगल ने किया पॉलिसी में बदलाव

रॉयटर्स की ओर से की गई समीक्षा में पया गया कि गूगल पे ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में से लोगों को जानकारी देने की बात को हटा दिया है. गूगल की ओर से रॉयटर्स को बताया गया कि गूगल की प्राइवेसी पॉलिसी में इस लिए बदलाव किया गया ताकि ग्राहक गूगल की मोनेटाइजेशन और डेटा यूसेज पॉलिसी को आसानी से समझ सकें. हालांकि कंपनी की ओर से पेटीएम की शिकायत पर किसी भी तरह की प्रतिक्रिया देने से इनकार किया गया. गूगल के प्रवक्ता के अनुसार इस तरह के बदलाव प्रोडक्ट के फीचर्स और उसे और बेहतर बनाने के लिए समय – समय पर किए जाते रहे हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.