Take a fresh look at your lifestyle.

चौथा चरण : 15 सीटों पर 221 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला 16 दिसम्बर को करेंगे मतदाता

Support Journalism
0 22

Ranchi: झारखंड विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में 15 सीटों के लिए सोमवार 16 दिसंबर को मतदान होगा. इन सीटों पर शांतिपूर्ण, निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से चुनाव कराने के लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने कहा कि इन 15 सीटों के लिए कुल 6,101  मतदान केंद्र बनाए गए हैं. इसमें शहरी क्षेत्र में 1,805 और ग्रामीण क्षेत्र में 4,296 मतदान केंद्र है.

ये सभी मतदान केंद्र 3,962 मतदान केंद्र भवनों में स्थित है. इन मतदान केंद्रों में कुल  47,85,009 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. इन मतदाताओं में 25,40,794 पुरुष, 22,44,134 महिला, 81 थर्ड जेंडर और 95,795 नए मतदाता (18-19 साल के) हैं. इसके अलावा 80 साल से ज्यादा आयु के 34,106 और 66,321 दिव्यांग मतदाता हैं. इस मौके पर अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कृपानंद झा और शैलेश कुमार चौरसिया भी मौजूद थे.

अबतक तीन चरणों में 50 सीटों पर मतदान हो चुके हैं. अभी दो चरणों में 31 सीटों पर मतदान होना बाकी है. जिन 15 सीटों पर सोमवार को मतदान होने वाले हैं, उनमें से 12 सीटों पर फिलहाल भाजपा का कब्जा है. मासस, झामुमो और आजसू के पास एक-एक सीटें हैं.

चौथे चरण के मतदान के लिए किए गए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने बताया कि चौथे चरण में होनेवाले मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. इस चरण में जिन विधानसभा सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं, उसमें से कई नक्सल प्रभावित हैं. इस वजह से अति संवेदनशील और संवेदनशील मतमदान केंद्रों की सुरक्षा के आर्म्ड पुलिस को तैनात किया गया है. पुलिस मूवमेंट को लेकर आवश्यक निर्देश जारी कर दिए गए हैं.

मतदान केंद्रों को नक्सल और गैर नक्सल आधार पर संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदान केंद्रों में रखा गया है. उन्होंने बताया कि नक्सल प्रभावित इलाकों में 587 अति संवेदनशील और 405 संवेदनशील मतदान केंद्र हैं. वहीं गैर नक्सल इलाकों में  अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 546 और  संवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 2,665 है. इसके अलावा सामान्य मतदान केंद्रों की संख्या 1,898 चिह्नित की गई है. संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदान केंद्रों में आर्म्ड फोर्सेज के जवान तैनात किए गए हैं.

जिलों में स्थित है 15 विधानसभा क्षेत्र

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी चौबे ने बताया कि चौथे चरण में  जिन 15 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होना है, वे चार जिलों में अवस्थित है. इसके अंतर्गत देवघर जिले में मधुपुर और देवघर, गिरिडीह जिले में बगोदर, जमुआ, गांडेय, गिरिडीह और डुमरी, बोकारो जिले में बोकारो औऱ चंदनकियारी और धनबाद जिले के अंतर्गत सिंदरी, निरसा, धनबाद, झरिया, टुंडी और बाघमारा विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं. इनमें जमुआ, बागोदर, गिरिडीह, डुमरी और टुंडी विधानसभा सीटों पर मतदान सुबह सात बजे से अपराह्न तीन बजे तक होगा तथा शेष सीटों पर शाम पांच बजे तक वोट डाले जायेंगे.

दिव्यांग मतदाताओं को दी जा रही विशेष सुविधा

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि दिव्यांग मतदाताओं की मतदान में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए विशेष सुविधाएं दी जा रही हैं. इसके तहत चौथे चऱण में 15 सीटों पर होनेवाले चुनाव में दिव्यांग मतदाताओं की सहूलियत के लिए  मतदान केंद्रों में 2,504 ह्वील चेयर औऱ 4,039 वॉलेंटियर्स की तैनाती की गई है. इसके अलावा उन्हें घर से मतदान केंद्र तक लाने-ले जाने के लिए 3,432 वाहनों का इस्तेमाल किया जाएगा.

23 महिला सहित 221 उम्मीदवार हैं चुनाव मैदान में

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि चौथे चरण में 221 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. इसके  तहत बोकारो सीट से सबसे ज्यादा 25 उम्मीदवार चुनावी दंगल में हैं तो निरसा सीट के लिए सबसे कम 8 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं. इसके अलावा मधुपुर से 13, देवघर से 13, बगोदर से 12, जमुआ से 14, गांडेय से 12, गिरिडीह में 12, डुमरी में 15, चंदनकियारी से 15, सिंदरी से 16, धनबाद से 22, झरिया में 17, टुंडी में 13 और बाघमारा से 15 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

वेबकास्टिंगमहिला संचालित और आदर्श मतदान केंद्रों की संख्या

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि चौथे चऱण के चुनाव को लेकर 2,122 मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है. वहीं 183 आदर्श मतदान केंद्र औऱ 70 महिला संचालित मतदान केंद्र बनाए गए हैं.

विस सीटों के चुनाव में 1 से ज्यादा ईवीएम का होगा इस्तेमाल

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि 15 सीटों पर होनेवाले चुनाव में रिजर्व समेत कुल 9,902 बैलेट यूनिट, 7628 कंट्रोल यूनिट और 7931 वीवीपैट के इस्तेमाल किये जाएंगे. उन्होंने बताया कि जिन विधानसभा सीटों के लिए 16 या उससे ज्यादा उम्मीदवार हैं, वहां दो ईवीएम का इस्तेमाल किये जाएंगे. इसके अंतर्गत बोकारो, सिंदरी, धनबाद और झऱिया में एक से ज्यादा ईवीएम का इस्तेमाल होगा.

निर्वाचन व्यय के अनुवीक्षण के पुख्ता इंतजाम

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.  इसके अंतर्गत देवघर जिले में 4 सहायक व्यय प्रेक्षक, 16 उड़नदस्ता दल (एफएस) औऱ 12 स्टैटिक सर्विलास टीम (एसएसटी) बनाई गई. गिरिडीह जिले  6 सहायक व्यय प्रेक्षक, 18 एफएस औऱ 18 एसएसटी, बोकारो जिले में 4 सहायक व्यय प्रेक्षक, 12 एफएस औऱ 13 एसएसटी औऱ धनबाद  जिले में 9 सहायक व्यय प्रेक्षक, 45 एफएस, 18 एसएसटी का गठन किया गया. इस तरह चौथे चऱण के चुनाव को लेकर कुल 23 सहायक व्यय प्रेक्षक, 91 उड़नदस्ता दल औऱ 61 स्टैटिक सर्विलांस टीम गठित की गई. वहीं देवघर, गिरिडीह, बोकारो और धनबाद जिले में सुविधा एप्प पर कुल 3,310 आवेदन मिले, जिसमें 2050 को स्वीकृति दे दी गई.

पहले तीन चरणों में इतनी हुई वोटिंग

झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 13 सीटों पर शनिवार को 64.44 फीसदी मतदान हुआ है. जो पिछले चुनाव के मुकाबले 1 फीसदी ज्यादा है. 2014 में इन सीटों पर 63.35 फीसदी वोटिंग हुई थी. दूसरे चरण में 20 सीटों पर 64.84 प्रतिशत मतदान हुआ था. पिछले चुनाव 2014 में इन सीटों पर 68.01 प्रतिशत वोटिंग हुई थी. तीसरे चरण की 17 सीटों पर 62.35 फीसदी वोटिंग हुई, जो 2014 के मुकाबले 1.67 फीसदी कम है.

इन दिग्गजों ने चौथे चरण के लिए किया प्रचार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्रियों स्मृति ईरानी और नितिन गडकरी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चौथे चरण के लिए भाजपा के पक्ष में प्रचार किया. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और पार्टी नेता राज बब्बर ने भी कांग्रेस-जेएमएम-आरजेडी गठबंधन के लिए वोट मांगे. पूर्व मुख्यमंत्रियों शिबू सोरेन और हेमंत सोरेन ने जेएमएम उम्मीदवारों के लिए प्रचार किया जबकि आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने भी राज्य का दौरा किया. इसके अलावा आजसू से सुदेश महतो और झाविमो के बाबूलाल मरांडी अपनी-अपनी पार्टी के इकलौते स्टार प्रचारक हैं.

पांच चरणों में हो रहा है चुनाव, परिणाम 23 दिसंबर को

झारखंड की 81 विधानसभा सीटों के लिए पांच चरणों में मतदान होना है. पहले चरण का मतदान 30 नवंबर, दूसरे चरण की वोटिंग 07 दिसंबर और तीसरे चरण का मतदान 12 दिसंबर को हो चुका है. चौथे चरण की 16 दिसंबर तथा आखिरी पांचवें चरण की वोटिंग 20 दिसंबर को होगी. परिणाम 23 दिसंबर को आएंगे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.