Take a fresh look at your lifestyle.

Follow-up: 10 टन एलपीजी जल गया, बस राख हो गया, यात्री बोले ‘भोले बाबा की कृपा से बच गये’

0 27

#Ranchi: सोमवार की रात करीब 8 बजे रामगढ़-रांची फोरलेन के चुटूपालू घाटी में भीषण सड़क दुर्घटना हुई. यहां एक्‍सीडेंट में भीषण आग लग गई उसके बाद गाडियां एक पर एक टकरा गईं. आग के कारण एक बस, दो ट्रेलर, एक ट्रक, एक आई 20 कार, एक बाइक व एबुलेंस जल कर खाक हो गई.

इतनी भीषण दुर्घटना के बाद भी प्रशासन की ओर से किसी की मौत की पुष्टि नहीं गई है. डीसी राजेश्वरी बी ने बताया कि रात की घटना में किसी भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है और किसी यात्री के लापता होने की सूचना प्रशासन व पुलिस को नहीं मिली है. घायलों का इलाज करा कर उन्हें आर्थिक सहयोग कर घर भेज दिया गया है. जबकि चार-पांच घायलों का इलाज चल रहा है.

दूसरी ओर रामगढ़ इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बताया कि आग की चपेट में आने से एक एंबुलेंस शव समेत जल गया. एंबुलेंस रिम्स,रांची से शव लेकर जा रहा थर. जबकि, इसमें बैठे लोग बच गए और उनका रिम्स में इलाज चल रहा है. उन्होंने बताया कि रिम्स से उन्हें इसकी जानकारी दी गई है. मृतक मनसुद्दीन मियां 60 वर्ष (पिता करीम मियां) बिरनी गिरिडीह निवासी है. टायफाइड से बीमार मनसुद्दीन मियां को इलाज के लिए रांची रिम्स लाया गया था. मृत होने पर एबुलेंस से शव को लेकर वापस गिरिडीह जा रहे थे. इसमें, मृतक की पत्नी हसीना बीबी और गंडेय गिरिडीह के गफुर मियां सवार थे. एबुलेंस में आग लगने के बाद दोनों घायल हो गए. दोनों का रिम्स में इलाज चल रहा है. दुर्घटना में वाहनों के बीच कांवरियों से भरी एक जीप भी फंस गई थी, जो सुरक्षित है.

24 घंटे बाद भी आग पर काबू नहीं पाया जा सका, लगी रही एनडीआरएफ, आइओसी व दमकल की टीमें
बस यात्रियों के मुताबिक रांची से साहेबगंज जा रही आशीर्वाद एसी बस को पीछे से ट्रेलर ने धक्का मार दिया. इससे, बस पलट गई और पीछे चल रहे ट्रक, जीप की आपस में टकर हो गई. जबकि, एक अन्य ट्रेलर भी डिवाइडर से टकरा गया. वाहनों में आपसी जोरदार टक्कर के बाद बस से धुआं निकलने लगा. सभी लोग जान बचाने के लिए वाहनों को छोड़ कर भागने लगे. धीरे-धीरे आग बस में फैल गई और सभी वाहनों को चपेट में ले लिया. इसकी चपेट में आने से सभी वाहनों सहित कार आई 20, एबुलेंस, बस में रखी बाइक जल गई. कार आई 20 रामगढ़ जिले के वेस्ट बोकारो के अरुण सोनी की है.

गैस रिसाव के कारण टैंकर तक पहुंची आग की लपटें

वाहनों में आग से ही 100 मीटर की दूरी पर पहले से दुर्घटनाग्रस्त इंडेन गैस टैंकर के रिसाव में आग लग गई. टैंकर की आग को बुझाने आए झारखंड-बिहार एनडीआरएफ के इंस्पेक्टर सरोज कुमार व कलामुद्दीन अंसारी ने बताया कि 15 सदस्यीय टीम लगी हुई है. जबकि, इंडियन ऑयल कार्पोरेशन के जमशेदपुर प्लांट मैनेजर सचिन गुप्ता, बोकारो प्लांट के अजय बिनोद खलको व उनकी पूरी टीम सहित रामगढ़ जिले के दमकल कर्मी जुटे रहे. 24 घंटे के बाद भी गैस टैंकर में लगी आग पर काबू नहीं पाया जा सका. पुलिस व प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि पहले बस में आग लगी और इसके बाद अन्य वाहनों व टैंकर में आग लगी. टैंकर में अगलगी होने के कारण एतिहातन फोरलेन पर यातायात व्यवस्था सुचारु नहीं की जा सकी है. वहीं, जले वाहनों को हटाने का काम भी आरंभ नहीं किया जा सका है.

डीसी, एसपी ने लिया जायजा, दिए कई निर्देश

घटना के बाद रात में ही डीसी राजेश्वरी बी, एसपी ए विजयालक्ष्मी घटना स्थल पहुंच कर रेस्क्यू कार्य का जायजा लिया. यहां, अधिकारियों को सुरक्षा के इंतेजाम सहित यातायात व्यवस्था को लेकर कई निर्देश दिए. मंगलवार की दोपहर को एक बार फिर डीसी घटना स्थल पहुंची और टैंकर में लगी आग को बुझाने में लगे आइओसी के अधिकारियों से जानकारी ली. उन्होंने, पुलिस को दुर्घटनाग्रस्त वाहनों व आग से जले वाहनों को क्रेन से हटाने का निर्देश दिया. जबकि, एनएचएआई के रिजनल मैनेजर सहित पीडी अजय कुमार को घटनास्थल बुलाकर दुर्घटना रोकने के लिए स्पीड कंट्रोल व सुरक्षित यात्रा के लिए कदम उठाने के निर्देश दिए. पीडी ने बताया कि एक लेन सड़क ओर बनाने के लिए प्रस्ताव तैयार कर दिल्ली भेजने का निर्णय लिया गया है. वहीं, चुटूपालू घाटी के फोरलेन डिजाइन में बेस्ट करने की जगह है. इस पर जल्द पहल की जाएगी.

घटना के बाद से पुलिस ने गाड़ियों के लिए रुट को बदला

वाहनों की आग लगने की सूचना के बाद एसडीपीओ राधा प्रेम किशोर ने खुद ही पटेल चौक पहुंच कर वाहनों को आगे जाने से रोक दिया. वहीं, ओरमांझी पुलिस को वाहनों को रोकने काे कहा. जबकि, गोला पुलिस को बोकारो से आने वाली सभी वाहनों को सिकिदरी रोड में भेजने का निर्देश दिया. कुजू पुलिस को बुलाकर कोठार ओवर ब्रिज के वाहन को रोक कर दूसरी रुट में भेजने का आदेश दिया. शहर में सुभाष चौक में बैरिकेटिंग कर बस सहित सभी वाहनों को पतरातू पिठोरिया से रांची भेजा गया. ऐसे में चुटूपालू घाटी मार्ग में घटना के बाद वाहनों को जाना रुक गया और पुलिस, प्रशासन, एबुलेंस व दमकल कर्मियों को रेक्स्यू करने में सुविधा हुई. भारी वाहन जाम में फंसे रहे और दोनों ओर पांच- पांच किमी तक लंबी कतार लगी रही. रामगढ़ थाना प्रभारी राजेश कुमार सहित पुलिस अधिकारियों व सशस्त्र पुलिस बल व जिला बल दिन-रात यातयात व सुरक्षा व्यवस्था में लगे रहे.

आग में 10 लाख की गैस जली, 60 लाख का टैंकर

आइओसी के सेल्स ऑफिसर रांची के नंद किशोर कुशवाहा ने प्रशासन को बताया कि टैंकर में करीब 17 टन एलजीपी गैस भरा हुआ था. आग लगने से 10 लाख का गैस जल गया. जबकि, गैस टैंकर की कीमत 60 लाख रुपए होती है. यह टैंकर इलाहाबाद जा रहा था.

टेक्निकल टीम गठित कर जांच कराई जा रही है : डीसी

डीसी राजेश्वरी बी ने बताया कि चुटूपालू घाटी में होने वाली एक्सीडेंट को लेकर टेक्निकल टीम गठित कर दी गई है. जल्द ही एनएचएआई के अधिकारियों के साथ घाटी के सड़क का सर्वे व रिव्यू किया जाएगा. एक्सपर्ट टीम से भी जानकारी ली जाएगी. एनएचएआई को स्पीड कंट्रोल के लिए डेली मोनिटेरिंग करने के निर्देश दिए जाएंगे. दुर्घटना रोकने के लिए एनएचएआई को कई सुझाव दिए गए है. जल्द ही दुर्घटना को रोकने के लिए कड़े व कारगर कदम उठाए जाएंगे. प्रशासन ने चुटूपालू घाटी के कई जगह, पटेल चौक, कोठार ओवरब्रिज के मोड़ में दुर्घटना रोकने के लिए कई कदम उठाए जाएंगे.

पिछले एक साल में वाहनों में आग लगने की हुई है पांच घटनाएं

चुटूपालू घाटी में पिछले एक साल में दुर्घटना में वाहनों में आग लगने की कई घटनाएं हुई है. अभी की गाड़ियों के जलने की घटना के अलावा पिछले महीने ही चुटूपालू घाटी में दो ट्रक व पेट्रोल टैंकर में दुर्घटना के बाद आग लग गई थी. वहीं, एक ट्रेलर में दुर्घटना में आग लगी थी. इसके अलावा बस में शार्ट सर्किट की कई घटनाएं हुई. जबकि, आज भी लोगों के दिलों में चुटूपालू घाटी की 1991 में टेंकर अगजनी की घटना ताजा है. इसमें, 13 लोगों की जान गई थी. अगजनी की घटनाओं के अलावा चुटूपालू घाटी में सड़क दुघर्टना होती रही है. लेकिन, अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए हैं.

कांवरियों ने कहा-भोले शंकर की कृपा से बच गए, उनका वाहन भी सुरक्षित है

सिमडेगा से देवघर जा रहे कांवरियों ने कहा कि भोले शंकर की कृपा से ही हम सभी बच गए. दुर्घटना में बस से टकरा कर कांवरियों से भरी जीप भी पलट गई थी. इसमें, सवार महिला, पुरुष व बच्चे बाहर निकले और घटनास्थल से दूर चले गए. इसके बाद बस में आग लग गई और इसकी चपेट में कई वाहन आ गए, पर इन वाहनों के बीच में फंसी जीप में आग नहीं लगी. इसे कांवरिया भोले की महिमा व कृपा मान रहे है. सुबह को कांवरिया घटनास्थल पर पहुंच कर जीप में रखे बैग व अन्य सामान व मोबाइल फोन निकाल कर साथ ले गए.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: