बोकारो में वज्रपात से पांच बच्चों की मौत

by

#Bokaro : बोकारो में रविवार को आसमान से कहर टूट पड़ा. जिले के पेटरवार तथा चास थाना क्षेत्रों में वज्रपात की अलग-अलग घटनाओं में कुल पांच बच्चों की मौत हो गयी. चास थाना क्षेत्र के अलकुशा गांव में व ज्रपात से चार बच्चों की मौत उस वक्त हो गयी, जब वे दो तल्ला छत के कमरे थे बैठे थे. मृतकों में 12 से 14 वर्ष की उम्र के थे बच्चे थे. मृतकों में संदीप महतो (13), कमरेज आलम (12), लादेन शाह (14) तथा फारूख शाह (12) के नाम शामिल हैं.

घटना की जानकारी मिलने पर प्रशासन के अधिकारी गांव के लिये रवाना हो गये हैं. पूरे गांव में घटना के कारण मातमी सन्नाटा पसर गया है, जबकि परिजनों के करुण क्रंदन से इलाका गमगीन बन चुका है. चास प्रखंड के ही पिंड्राजोरा थाना क्षेत्र अंतर्गत सोनाबाद में भी वज्रपात हुआ, जिसमें बसंती कुमारी नामक 14 वर्षीय बच्ची बुरी तरह झुलस गयी. घटना के समय बसंती अपनी बहन के साथ घर में थी. सदर अस्पताल में बसंती को भर्ती कराये जाने के बाद अस्पताल के उपाधीक्षक डा. अर्जुन प्रसाद ने उसका इलाज किया.

Read Also  DGP को पत्र लिखकर Babulal Marandi ने पुलिस पर लगाए कई संगीन आरोप

समाचार लिखे जाने तक उसकी चिकित्सा जारी थी. वहीं, जिले के पेटरवार थाना क्षेत्र अंतर्गत ओरदाना पंचायत के जारा बस्ती में रविवार को लगभग तीन बजे हुई वज्रपात की घटना में देवा नन्द करमाली की पांच वर्षीय पुत्री मनीषा कुमारी की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी, जबकि इसी बस्ती के अमता करमाली की पत्नी मोनू देवी (65) झुलस गयी.

घटना की सूचना पाकर घटना स्थल पर पहुंचे पेटरवार के उपप्रमुख दामोदर ठाकुर ने घायल महिला को इलाज के लिए बोकारो जेनरल अस्पताल में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने खतरे से बाहर बताया. बताया जाता है कि वर्षा से बचने के लिए जारा बस्ती स्थित अपने घर के पास एक पेड़ के नीचे खड़ी थी. इसी बीच अचानक तेज गर्जन के साथ वहां ठनका गिरा, जिससे मनीषा की मौत मौके पर ही हो गयी.

Read Also  स्‍थापना दिवस पर AJSU का गठबंधन सरकार पर हमला, Sudesh Mahto बोले- दावों के विपरीत हेमंत सरकार हर मोर्चे पर फेल

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.