Take a fresh look at your lifestyle.

चुनाव से पहले विधायक सीपी सिंह और समर्थकों के खिलाफ एफआईआर की अर्जी

73वें स्‍वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं
पं रामदेव पांडेय, सनातन धार्मिक अनुष्‍ठान व ज्‍योतिषीय परामर्श
0 24
स्‍वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं
प्रतिमा कुमारी, राष्‍ट्रीय महासचिव, लोजपा

Ranchi: रांची में विधानसभा चुनाव 2019 के पहले यहां के विधायक सीपी सिंह और उनके समर्थकों के खिलाफ लालपुर थाने में एफआईआर की अर्जी दी गई है. यह आवेदन जेवीएम नेता जीतेंद्र वर्मा की ओर से दिया गया है.

इस आवेदन में कहा गया है कि न्‍यूज 11 के बुलावे पर वे रांची के जीवीएम उम्‍मीदवार सुनील कुमार गुप्‍ता के साथ न्‍यूक्लियस मॉल के डिबेट में शामिल होने के लिए पहुंचे थे. उसी समय रांची के विधायक सीपी सिंह अपने समर्थकों के साथ परिचर्चा में भाग लेने पहुंचे. आवेदन में कहा गया है कि परिचर्चा शुरू होते ही भाजपा के कार्यकर्ताओं के द्वारा हमारे प्रत्‍याशी सुनील गुप्‍ता के खिलाफ होटिंग किया जाने लगा. जब उसका हमारे कार्यकर्ताओं ने विरोध किया तब स्‍थानीय विधायक सीपी सिंह के साथ आए सैकड़ों कार्यकर्ता जो अपराधिक किस्‍म के थे, हमारे प्रत्‍याशी सुनील कुमार गुप्‍ता और कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमला किया और रड से मेरे सिर पर जान से मारने के नीयत से हमला किया.  दूसरे कार्यकर्ताओं पर भी रड और लात घूसों से हमला किया गया.

क्‍या है पूरा मामला

न्यूज चैनल के इलेक्शन डिबेट में रविवार को भाजपा और झाविमो के समर्थक आपस में भिड़ गये. मामला तब और बिगड़ गया, जब दोनों दल के समर्थक मारपीट पर उतर आये. मारपीट के दौरान झाविमो के जितेंद्र वर्मा और सत्येंद्र वर्मा को चोट लगी हैं. आनन-फानन में जितेंद्र वर्मा को ऑर्किड अस्पताल में भरती कराया गया है. जबकि सत्येंद्र वर्मा को आंख में चोट लगी है. डिबेट में भाजपा प्रत्याशी सीपी सिंह, जेएमएम प्रत्याशी महुआ माजी, निर्दलीय प्रत्याशी पवन शर्मा, जेवीएम प्रत्याशी सुनील गुप्ता उपस्थित थे. 

नारे लगने के बाद शुरू हो गयी मारपीट :  डिबेट चल ही रहा था, इसी दौरान दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट होने लगी. इसके पहले भाजपा समर्थक अपने प्रत्याशी सीपी सिंह के समर्थन में नारे लगाने लगे. इसी बीच झाविमो के प्रत्याशी सुनील गुप्ता ने इसका विरोध किया. कहा कि इस प्रकार नारे लगाये जायेंगे, तो हमारे भी कार्यकर्ता नारे लगाने लगेंगे. इसके बाद विवाद बढ़ता गया और हो-हंगामा होने लगा. 

समर्थक एक-दूसरे से उलझ गये. विवाद को बढ़ता देख प्रत्याशियों के समर्थक वहां से खिसकने लगे. हालांकि प्रत्याशियों और समर्थकों को शांत कराने की कोशिश की गयी. मामले को शांत कराने में पुलिसकर्मी भी असफल हो गये. मामले की सूचना मिलने के बाद लालपुर पुलिस पूरे दल-बल के साथ न्यूक्लियस मॉल पहुंची. इसके बाद घायल जितेंद्र वर्मा से मिलने ऑर्किड अस्पताल पहुंची. अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि घायल को पीठ में चाेट लगी है. खतरे से बाहर है.  

स्थानीय न्यूज चैनल का चल रहा था इलेक्शन डिबेट

मामले पर सीपी सिंह ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रमों में लोगों को संयम रखना चाहिए. हर किसी को अपनी बात रखने का अधिकार है. एक-एक करके हर किसी की बातें सुननी चाहिए. 

घायल से मिलने झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी अस्पताल पहुंचे 

झाविमो के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी घायल से मिलने ऑर्किड अस्पताल पहुंचे और डॉक्टरों से घायल के बारे में जानकारी ली. श्री मरांडी ने कहा कि अब उनको अहसास होने लगा है कि वे बुरी तरह से हार रहेहैं. जहां इस प्रकार भीड़ होती है. मारपीट होती है, वह भी नेता की उपस्थिति में, यह गलत है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग लाठी के बल पर भय का माहौल बनाना चाहते हैं. श्री मरांडी ने मारपीट करनेवालों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की.  

73वें स्‍वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं
प्रेम शाही मुंडा, केंद्रीय अध्‍यक्ष, आदिवासी जन परिषद

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.