फिल्म ट्रेड विशेषज्ञ कोमल नाहटा ने सुशांत की आत्महत्या में सलमान खान का नाम शामिल करने को निराशाजनक और निराधार बताया है

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के आकस्मिक और दुर्भाग्यपूर्ण निधन ने पूरे देश को स्तब्ध कर दिया. मीडिया ने कुछ अटकलों के साथ शुरू किया, उसके बाद सोशल मीडिया ने हिट-एंड-मिस मेथड के माध्यम से अपना ब्लेम गेम खेला और सलमान खान को जल्द ही इसके लिए जिम्मेदार ठहराया गया था. तर्क और तर्कसंगतता को पीछे रख दिया गया था.

ट्रेड एनालिस्ट कोमल नाहटा हमें बताते हैं कि यह सब कैसे हुआ और शेयर किया गया, “यह कहना कि सलमान खान सुशांत सिंह राजपूत के लिए जिम्मेदार थे, यह कहना उतना ही हास्यास्पद है कि पाकिस्तान ने भारत की और चक्रवात निसर्ग भेजा, या शाहरुख खान ‘पद्मावत’ के खिलाफ राजपूत विद्रोह के लिए जिम्मेदार थे. इस बात पर आश्चर्य होता है कि दीपिका पादुकोण के मानसिक अवसाद के लिए कोई भी सलमान को दोषी नहीं ठहरा रहा है। ”

वे आगे कहते हैं, “नकारात्मक आवाज़ों को समझना चाहिए, बाकी अभिनेता-निर्माताओं की तरह, सलमान फिल्मों में काम करके और अभिनय करके सपने बेचने के व्यवसाय में हैं। यह पूरी तरह से आधारहीन और निंदनीय है कि एक आत्महत्या मामले में उनका नाम बे वजह खींचा जा रहा है. अगर अमरीका में ऐसा होता, तो सलमान झूठ बोलने वाले अपराधियों के खिलाफ उनकी झूठी मंशा को लेकर उनपर करोड़ों डॉलर का मानहानि का मुकदमा दायर कर सकते थे. प्रोपगैटिंग थ्योरी के लिए येलो जर्नलिज्म पर शर्म आती है”

सोशल मीडिया तेजी से और गलत तरीकों से स्ट्रेंज और फेक कहानियों का विस्तार करने का क्षेत्र बन गया है. राष्ट्र के नागरिकों को समझना होगा कि कैसे गलत धारणाओं के कारण फेक कहानियाँ लोगों के जीवन को प्रभावित करती हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.