Take a fresh look at your lifestyle.

किसान ने पीएम मोदी को भेजा मनीआर्डर, कहा- 19 टन आलू बेचकर 490 रुपये हुआ मुनाफा

0

Agra: आलू की फसल में किसानों का घाटा कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है. कारण किसान बहुत परेशान हैं. किसानों को लगातार 4 साल से आलू की फसल में नुक्सान हो रहा है. आलू की फसल में लगातार घाटे से आहत आगरा के किसान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 490 रुपये का मनीआर्डर भेजा है. किसान को लगभग 19 टन आलू बेचने के बाद 490 रुपये ही बचे थे.

बरौली अहीर के नगला नाथू निवासी प्रदीप शर्मा ने बीते साल लगभग 10 एकड़ जमीन में आलू की बुवाई की. इसमें करीब 1150 पैकेट (50 किग्रो प्रति पैकेट) आलू की पैदावार हुई. प्रदीप ने 24 दिसंबर को 368 पैकेट (18828 किग्रा) आलू महाराष्ट्र की अकोला मंडी में बेचा.

आलू के पैदावार में लागत और मुनाफा

ये आलू 94677 रुपये में बिका. इसमें से 42030 रुपये मोटर भाड़ा, 993.60 रुपये उतराई, 828 रुपये कांटा कटाई, 3790 दलाली, 100 रुपये ड्राफ्ट कमीशन, 400 रुपये छटाई में खर्च हो गये. 1500 रुपये नकद ले लिये. कुल खर्च 48187 रुपये निकालकर 46490 रुपये मिले. इसमें से कोल्ड स्टोरेज और वारदाना (कट्टे) का खर्च प्रति पैकेट 125 रुपये है. 368 पैकेट आलू का कोल्डस्टोरेज का भाड़ा 46 हजार रुपये बनता है. इस तरह से किसान को 368 पैकेट आलू बेचने पर महज 490 रुपये हाथ में आये.

मुआवजा की मांग

किसान प्रदीप शर्मा ने बताया कि ये तो सिर्फ कोल्डस्टोरेज और मंडी खर्च है, इसमें अभी खेती की लागत का खर्च तो शामिल किया ही नहीं है. ऐसे में किसान का पेट भला क्या भरेगा, प्रधानमंत्री को मनीआर्डर कर मुआवजा देने की मांग की है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More